स्वच्छ भारत मिशन के शौचालय की फोटोग्राफी करने गई टीम पर दंबगों का हमला

अभी करीब 8 हजार शौचालयो की होनी है फोटोग्राफी

By: Ruchi Sharma

Published: 21 May 2018, 01:16 PM IST

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा में जिलाधिकारी के आदेश पर स्वच्छ भारत अभियान के तहत निर्मित कराये गये शौचालयों की फोटोग्राफी कर रहे स्वच्छ भारत अभियान टीम के एक सदस्य पर अराजक तत्वों ने उसराहार इलाके के पुरैला गांव में हमला कर दिया ।

फोटोग्राफी से रोकने पर सदस्य ने स्वच्छ भारत अभियान के ब्लाक समन्वयक प्रेमकिशोर को सूचना दी जिस पर उन्होंने उच्चाधिकारियों सूचना दी जिसके बाद मौके पर थाना ऊसराहार पुलिस भी पहुंची।

स्वच्छ भारत अभियान के तहत जिलाधिकारी द्वारा दिए गए शौचालयों की फोटोग्राफी करवाने के निर्देशों के तहत विकासखंड ताखा के गांव पुरैला में स्वच्छ भारत अभियान टीम में स्वेच्छाग्राही सुशील यादव पुत्र नेमसिंह यादव निवासी ऊसराहार फोटोग्राफी का कार्य कर रहे थे । जब वह फोटोग्राफी का कार्य ग्राम पंचायत के मजरा राजापुर में कर रहे थे उसी समय गांव के ही कुछ अराजक तत्वों ने उन्हें इस कार्य को करने से रोक दिया और गालीगलौच करने लगे और मारपीट कर दी ।

जब इस संबंध में सुशील यादव ने उन्हें आदेश जिलाधिकारी के आदेश की जानकारी दी तो अराजकतत्वों ने उन्हें मौके से भाग जाने को कहा जिस पर उन्होंने व्लाक समन्वयक और उच्चाधिकारियों को सूचना दी । जिस पर थाना ऊसराहार पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सदस्य को अराजक तत्वों से वचाया इस सम्बन्ध में सुशील यादव ने थाना ऊसराहार में अराजक तत्वों के विरुद्ध सरकारी कार्य में बाधा मारपीट आदि की तहरीर दी है ।

उसराहार थाना प्रभारी योगेन्द्र शर्मा ने बताया कि तहरीर मिली है मौके पर पुलिस भेजी गयी थी उच्चाधिकारियों से मिले निर्देश पर अराजक तत्वों के विरुद्ध पुलिस कार्रवाई कर रही है ।

18 मई को ही इटावा की जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी ने स्वच्छ भारत मिशन के अर्न्तगत ग्रामों में निर्मित शौचालयों की शत-प्रतिशत फोटो तत्काल अपलोड करने के निर्देश जिले भर के एडीओ,बीडीओ को देते हुए ऐसा ना करने वालो के विरूद्ध कठोर कार्रवाई करने की बात कही थी । उन्होंने कहा कि इस माह जनपद को प्रत्येक दशा में ओडीएफ कराना है, इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी ,यदि किसी के द्वारा कार्य में शिथिलता बरती गयी तो उसके विरूद्ध सख्त कार्रवाई अमल में लायी जायेगी।

उन्होंने समीक्षा में पाया कि अभी प्रत्येक विकास खण्ड में लगभग 7-8 हजार शौचालयों की फोटो अपलोड होना शेष है। जिस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी खण्ड विकास अधिकारियो, एडीओ पंचायत को निर्देशित किया कि शौचालयो के निर्माण हेतु ग्राम पंचायत खातों में जमा धनराशि को निकाला गया है परन्तु निर्मित सभी शौचालयों की फोटो अपलोड नहीं की जा रही है इससे एैसा प्रतीत होता है कि धनराशि का दुरुपयोग किया गया है। उन्होंने स्पष्ट लहजे में सभी एडीओ,बीडीओ को अन्तिम मौका देते हुए कहा कि एक सप्ताह के अन्दर फोटो अपलोड कराना सुनिश्चित करें वरना संबंधित एडीओ के विरूद्ध थाने में एफआईआर करा दी जायेगी। जिसके लिए वह स्वयं जिम्मेदार होंगे।

उन्होंने समस्त बीडीओ से कहा कि जिन ग्रामों में शौचालय निर्माण हेतु जांच के बाद धनराशि मांग की गयी है और धनराशि अवमुक्त भी की जा चुकी है परन्तु अभी शौचालयो की फोटो अपलोड नही करायी गयी है। खण्ड विकास अधिकारी अपने अधीनस्थ समस्त कर्मचारियेा को लगाकर तत्काल फोटो अपलोड कराना सुनिश्चित करें अन्यथा किसी भी खण्ड विकास अधिकारी को नोडियूज प्रमाण पत्र निर्गत नहीं किया जायेगा । जिलाधिकारी समस्त ग्रामवासियो से अपील की है कि वह गांव में शौचालय निर्माण में सहयोग करें ताकि जनपद को जल्द से जल्द ओडएफ कराया जा सके।


अब जब शौचालय की फोटो खींचने की प्रकिया जिलाधिकारी के स्तर पर अपनाई जा रही है ऐसे मे दंबग इसमे बाधा खडी करके उनके अभियान को ठंडे बस्ते में डालने का कार्य कर रहे है ।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned