फ्रांस में भारतीय समुदाय से बोले पीएम मोदी, पांच साल में तेज रफ्तार से बढ़ा भारत

फ्रांस में भारतीय समुदाय से बोले पीएम मोदी, पांच साल में तेज रफ्तार से बढ़ा भारत

Mohit Saxena | Updated: 23 Aug 2019, 04:48:39 PM (IST) यूरोप

  • पीएम मोदी ने फ्रांस को बताया अपना सबसे करीबी मित्र
  • पीएम मोदी ने बदलते भारत की तस्वीर को पेश किया

पेरिस। जी-7 सम्मेलन में हिस्सा लेने फ्रांस पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय समुदाय को संबोधित किया। राजधानी पेरिस में होने वाले इस कार्यक्रम की तैयारियां काफी दिनों से हो रही थी। 2019 के लोकसभा चुनाव में अप्रत्याशित जीत के बाद पीएम मोदी को पहली बार प्रवासी भारतीयों को संबोधित करने का मौका मिला है।पेरिस में स्थित यूनेस्को कार्यालय में पहुंचे पीएम मोदी के भाषण शुरू होने से पहले ही मोदी-मोदी के नारे लगने लगे।इस दौरान पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरूआत भारत और फ्रांस की दोस्ती की तारीफ करते हुए की।

 

मोदी ने दिखाई नए भारत की तस्वीर

- अच्छे दोस्त हर स्थिति में साथ होते हैं। भारत-फ्रांस में कुछ भी अच्छा होता है तो दोनों देश एक-दूसरे के लिए खुश होते हैं।
- भारत-फ्रांस की दोस्ती आज की नहीं है। यह बहुत पुरानी है। भारत में ज्यादातर लोग फ्रेंच फुटबॉल टीम का समर्थन करते हैं।

-भारत और फ्रांस के बीच संबंध सैकड़ों साल पुराना है। हमारी दोस्ती किसी स्वार्थ पर नहीं, बल्कि ‘लिबर्टी, इक्वलिटी और फ्रेटरनिटी’ के ठोस आदर्शों पर टिकी है

-जब मैं 4 साल पहले फ्रांस आया था, तो हजारों की संख्या में भारतीयों से संवाद का अवसर मिला था।

- मुझे याद है, तब मैंने आपसे एक वादा किया था। मैंने कहा था कि भारत आशाओं और आकांक्षाओं के नए सफर पर निकलने वाला है
-आज जब आपके बीच आया हूं तो कह सकता हूं कि हम न सिर्फ उस सफर पर निकल पड़े, बल्कि 130 करोड़ भारतवासियों के सामूहिक प्रयासों से भारत तेज गति से विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। यही कारण है कि इस बार फिर देशवासियों ने अधिक प्रचंड जनादेश देकर हमारी सरकार को समर्थन दिया है

- ये जनादेश सिर्फ एक सरकार चलाने के लिए नहीं, बल्कि नए भारत के निर्माण के लिए है।

- ऐसा नया भारत जिसकी समृद्ध सभ्यता और संस्कृति पर पूरे विश्व को गर्व हो, और जो 21वीं सदी को Lead करे।

- ऐसा नया भारत जिसका focus Ease of Doing Business पर हो और जो Ease of Living भी सुनिश्चित करे

- भारत आज स्टार्टअप की दुनिया में बहुत आगे बढ़ रहा है। आप लोगों का भारत से रिश्ता मिट्टी का है। आप लोग ही फ्रांस में भारत का नेतृत्व करते हैं।

- चुनौतियों का सामना बातों से नहीं ठोस कार्रवाई से करते हैं। फ्रांस में जल्द गणपति बप्पा मोरया की गूंज सुनवाई देगी।

- सोलर से लेकर स्पेस इंफ्रा तक भारत और फ्रांस एकसाथ काम कर रहा है। इंफ्रा से मेरा मतलब IN-इंडिया और FRA- फ्रांस से है।

- लोकतंत्र के मूल्यों को बचाने में भारत-फ्रांस एकजुट हैं। हमने फासीवाद, उग्रवाद का सामना फ्रांस में भी किया है।

- भारत फ्रांस के संबंध दिनोंदिन मजबूत हो रहे हैं। भारत और फ्रांस एक दूसरे के लिए लड़े भी हैं और जिए भी हैं। भारत और फ्रांस की दोस्ती ठोस आदर्शों पर बनी।

- कंधे से कंधा मिलाकर दुश्मन से लड़े हैं भारत और फ्रांस। यही वो धरती है जहां प्रथम विश्व युद्ध में 9 हजार भारतीय सैनिकों ने फ्रांस के सैनिकों के साथ मिलकर मानवता लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी।

- नए भारत में थकने और रुकने का नाम ही नहीं है। पिछले 60 सालों में इस संसद सत्र में सबसे ज्यादा काम हुआ।

- सात सितंबर को हम सभी का चंद्रयान चांद पर उतरने वाला है। इस उपलब्धि के बाद भारत चांद पर उतरने वाला दुनिया का चौथा देश होगा।

- पूरी दुनिया में एक तय समय में सबसे ज्यादा बैंक अकाउंट अगर किसी देश में खुले हैं, तो वो भारत है।
- पूरी दुनिया की अगर आज सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा की स्कीम किसी देश में चल रही है, तो उसका नाम भारत है।

- नए भारत में भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद, परिवारवाद, जनता के पैसे की लूट, आतंकवाद पर जिस तरह लगाम कसी जा रही है वैसा पहले कभी नहीं हुआ।

- हमें 100 दिन में भी नहीं हुए इसके बावजूद हमने कई कड़े फैसले लिए हैं। हमने तीन तलाक को खत्म किया।

- बीते पांच सालों में भारत में ढेर सारे सकारात्मक बदलाव हुए हैं। फ्रांस में लोग गोल का महत्व को समझते हैं। बीते पांच सालों में नामुमकिन माने जाने वाले कई गोल किए हैं। हमने रिकॉर्ड बैंक खाते खोले हैं। भारत का फोकस ईज ऑफ डुइंग और इज ऑफ लिवंग पर है।

 

हजारों की संख्या में लोग यहां पहुंचे

फ्रांस में मोदी के इस भाषण को सुनने के लिए हजारों की संख्या में लोग यहां पहुंचे। लोगों को संबोधित करने से पहले उन्होने 1950 तथा 1960 के दशकों में एयर इंडिया के दो विमान हादसों में मारे गए पीड़ितों की याद में बनाए गए एक स्मारक स्थल का उद्घाटन किया। इससे पहले उन्होंने फ्रांस के प्रधानमंत्री एडवर्ड चार्ल्स फिलिप से मुलाकात की । इस दौरान पीएम ने भारत और फ्रांस की मित्रता को अटूट बताया। उन्होंने कहा कि ये मित्रता से कहीं आगे है। ये वर्षों पुरानी है। ऐसा कोई वैश्विक मंच नहीं होगा जहां भारत और फ्रांस ने एक दूसरे का समर्थन न किया हो और साथ काम न किया हो।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned