ऑनलाइन चैक होगी कॉपी, हर तीन मिनट में टीचर की फोटो क्लिक करेगा वेबकैम

Chartered Accountants Final Exam: पोर्टल पर हाई सिक्योर्ड यूजर आइडी और पासवर्ड से ही टीचर्स एक्सेस कर सकेंगे सीए स्टूडेंट्स की कॉपी

By: सुनील शर्मा

Published: 17 Aug 2019, 04:10 PM IST

Chartered Accountants Final Exam: द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टेर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) ने स्टूडेंट्स की एग्जाम शीट चैकिंग के पैटर्न में बदलाव किया है। पिछले काफी समय से सीए इंस्टीट्यूट को मिल रही शिकायतों के बाद कॉपी चैक होने का पूरा प्रोसेस ऑनलाइन कर दिया गया है। आइसीएआइ जयपुर चैप्टर के चेयरमैन सीए लोकेश कासट ने बताया कि नई व्यवस्था के बाद जिस टीचर को कॉपी चैक करने का असाइनमेंट मिला है, वहीं आंसर शीट चैक कर सकेगा। साथ ही इसकी पूरी ऑनलाइन मॉनिटरिंग भी की जाएगी।

ये भी पढ़ेः फ्रीलांसर बन कर घर बैठे कमा सकते हैं आप हर महीने लाखों रुपए, जानिए कैसे

ये भी पढ़ेः Learn German Language - आइए जर्मन भाषा सीखें

रोल नंबर की जगह जनरेट होगा यूनीक कोड
एग्जाम के बाद आंसर शीट से रोल नंबर हटाकर एक यूनीक कोड लिखा जाएगा। इसके बाद कॉपी को स्कैन कर चैक होने के लिए संबंधित टीचर्स को फॉरवर्ड किया जाएगा। ये कॉपी इंस्टीट्यूट के सिक्योर्ड पोर्टल पर ही ओपन हो सकेंगी और इसके लिए टीचर को एक हाई सिक्योर्ड यूजर आइडी और पासवर्ड भी दिया जाएगा। बिना आइडी पासवर्ड के कॉपी एक्सेस ही नहीं कर पाएंगे।

ये भी पढ़ेः इन गवर्नमेंट ऐप्स को करें अपने फोन में इंस्टॉल, मिलेगी हर जरूरी जानकारी

ये भी पढ़ेः इस कहानी में छिपा है सफलता का राज, पढ़ कर मिलेगा कामयाब होने का रास्ता

ऐसे काम करेगा सॉफ्टवेयर
ऑनलाइन पोर्टल पर आंसर शीट ओपन करने के साथ ही हर तीन से पांच मिनट में कम्प्यूटर पर लगा वेब कैमरा कॉपी चैक करने वाले टीचर की फोटो क्लिक करता रहेगा। फोटो पोर्टल पर अपडेट होती रहेगी। इससे कोई और व्यक्ति कॉपी चैक नहीं कर सकेगा। साथ ही सॉफ्टवेयर से हर क्वेश्चन को चैक करने में लगे टाइम और पूरी कॉपी को चैक होने में लगे वक्त का भी पूरा डेटाबेस तैयार होगा। आसंर शीट चैक होने के बाद यूनीक कोड की जगह फिर से रोल नंबर लगाकर रिजल्ट जारी किया जाएगा। कॉपी चैक करने के लिए इंटरेस्टेड टीचर्स को आइसीएआइ के रीजनल चैप्टर में अप्लाई करना होगा। सीए इंस्टीट्यूट की ओर से टीचर्स को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा और उन्हें कॉपी चैक करने संबंधी पूरे प्रोसेस की तीन दिन की ट्रेनिंग दी जाएगी।

आइसीएआइ के इस इनिशिएटिव से स्टूडेंट्स को फायदा होगा। आंसर शीट चैक होने में और अधिक ट्रांसपेरेंसी से रिजल्ट भी इम्प्रूव होगा।
- सीए लोकेश कासट, चेयरमैन, आइसीएआइ जयपुर चैप्टर

आंसर शीट चैक होने का प्रोसेस हाई सिक्योर और ऑनलाइन होने से कॉपी अब एक्सपर्ट ही चैक कर सकेंगे। फेयर मार्किंग स्कीम की डिमांड कर रहे स्टूडेंट्स की ये पहली जीत है।
- विनय प्रताप सिंह, सीए स्टूडेंट

Show More
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned