चैत्र नवरात्र 2020 : कोरोना महामारी से होगी रक्षा, अपने घर में ही ऐसे करें माँ दुर्गा की पूजा और व्रत

इस नवरात्रि कोरोनोे महामारी से रक्षा के लिए अपने घर में ही करें पूजा

Shyam Kishor

24 Mar 2020, 06:59 AM IST

साल 2020 में चैत्र नवरात्रि महापर्व का आरंभ 25 मार्च से होकर 2 अप्रैल को रामनमी पर्व के साथ समाप्त होगा। दुर्गा संहिता के अनुसार नवरात्रि काल में नौ दिनों तक जो भी साधक व्रत रखकर माता की आरधना वंदना करते हैं, उनकी रक्षा गंभीर से गंभीर महामारी बीमारियों से होने लगती है। इस चैत्र नवरात्रि अपने घर में ही रहकर इन नियमों का पालन करते हुए माँ दुर्गा भवानी की पूजा के साथ इस बीज मंत्र का जप नौ दिनों तक हर रोज 251 बार करें। इस नवरात्रि प्रसन्न होकर हम सभी की कोरोना नामक महामारी से अवश्य रक्षा करेंगी।

चैत्र नवरात्र 2020 : कोरोना महामारी से होगी रक्षा, अपने घर में ही ऐसे करें माँ दुर्गा की पूजा और व्रत

कोरोना वायरस से रक्षा के लिए चैत्र नवरात्रि में करें इन नियमों का पालन माता रानी करेंगी सभी मनोकामना पूरी-

1- नौ दिनों तक प्रतिदिन सुबह 6 बजे तक स्नान कर लें, एवं पूजा में हर दिन धुले हुए वस्त्रों को ही धारण करें।

2- दिन में केवल एक बार सात्विक शुद्ध भोजन करें।

चैत्र नवरात्रिः अपनी राशि अनुसार कर लें ये उपाय,आजीवन माँ अंबे की बरसती रहेगी कृपा

3- इन दिनों तक घर का बना हुआ भोग ही माता रानी को अर्पित करना चाहिए, एवं संभव न हो तो दूध व फलों का भोग लगा भी सकते हैं।

4- नौ दिनों तक घर के पूजा स्थल एवं नजदीक के मंदिर में सुबह एवं शाम गाय के घी का दीपक जलाना चाहिए।

5- संभव हो तो नौ दिनों तक 7 साल से छोटी दो कन्याओं को फल या अन्य कोई उपहार शाम के समय अवश्य करें।

चैत्र नवरात्र 2020 : कोरोना महामारी से होगी रक्षा, अपने घर में ही ऐसे करें माँ दुर्गा की पूजा और व्रत

6- नौ दिनों तक माता के बीज मंत्रों, चालीसा, आरती, स्त्रोत आदि जप, पाठ अनिवार्य रूप से करें।

7- संभव हो नौ दिनों तक गाय के घी का अखण्ड दीपक अवश्य जलाना चाहिए।

8- दुर्गा सप्तशती या देवी माहात्म्य पारायण करने से जीवन में उत्कृष्ट प्रगति, समृद्धि और सफलता मिलती है।

9- नौ दिनों तक पूर्ण स्वच्छता का ध्यान रखें।

10- इन दिनों किसी से भी हाथ न मिलाए नहीं स्पर्श करें।

गुड़ी पड़वाः अपने घर की छत पर लगा लें ये चीज- साल भर नहीं आयेंगी परेशानी

 

कोरोना वायरस से रक्षा के लिए इस दुर्गा बीज मंत्र का करें जप 251 बार लाल चंदन की माला या तुलसी की माला से करें।

।। ऊँ दुं दुर्गाय नम:।।

 

**************

coronavirus
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned