Good News! अब पेट्रोल पंप के नहीं लगाने पड़ेंगे चक्कर, डीजल की होगी डोर-टू-डोर डिलीवरी

  • Door-to-Door Diesel Delivery : टाटा ग्रुप ने ईंधन स्टार्टअप को किया लांच। दिल्ली-एनसीआर समेत चुनिंदा जगहों पर डीजल मंगवाने की मिलेगी सुविधा
  • डोर-टू-डोर डीज़ल डिलीवरी का जिम्मा रिपोस एनर्जी संभालेगी

By: Soma Roy

Published: 03 Dec 2020, 02:40 PM IST

नई दिल्ली। बदलते जमाने के साथ सारी चीजें भी हाइटेक हो गई हैं। तभी तो भूख मिटाने से लेकर घर का सामान मंगाने तक के लिए लोगों को इंतजार नहीं करना पड़ता। मोबाइल पर महज एक क्लिक करते ही सामान घर आ जाता है। ठीक इसी तरह अब डीजल भरवाने के लिए भी लोगों को पेट्रोल पंप के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। इसके लिए टाटा ग्रुप के मालिक रतन टाटा (Ratan Tata) ने डोर-टू-डोर डीज़ल डिलीवरी (door-to-door diesel delivery) की सुविधा लांच की है। ये टाटा ग्रुप के नए ईंधन स्टार्टअप (Fuel startups) का हिस्सा है। रिपोस मोबाइल पेट्रोल पंप के जरिए कृषि क्षेत्र, अस्पतालों, हाउसिंग सोसाइटियों, भारी मशीनरी सुविधाओं, मोबाइल टावरों और कई कंपनियों को इसका फायदा मिलेगा।

डोर-टू-डोर डीज़ल डिलीवरी का जिम्मा रिपोस एनर्जी (Repos Energy) संभालेगी। इसमें स्टार्ट अप कंपनी अलग-अलग ऑइल मार्केटिंग कंपनियों के साथ मिलकर काम करेगी। जिसमें ये कंपनियां कस्टमर तक आसानी से डीजल मुहैया कराएंगी। अभी ये सर्विस दिल्ली, गुड़गांव, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और पंजाब में शुरू की गई है। इस स्टार्टअप का प्लान आने वाले समय में 3,200 रिपोस मोबाइल पेट्रोल पंप्स बनाकर जरूरत के मुताबिक डीजल की डोर—टू—डोर डिलीवरी को बढ़ावा देना है। हालांकि इस सुविधा का लाभ चुनिंदा क्षेत्रों के कस्टमर्स को मिलेगा।

तेल कंपनियों ने मांगी EoIs
एक बिजनेस मैगजीन की रिपोर्ट के मुताबिक इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन, भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन और हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन जैसे OMCs ने स्टार्ट अप्स से हाई-स्पीड Diesel की होम डिलीवरी के लिए expressions of interest (EoIs) मांगी है। इस सेक्टर में OMCs के पार्टनर्स के रूप में काम कर रही फर्म्स आधिकारिक पुनर्विक्रेता (FuelEnts) बन जाएंगे। इसको लेकर स्टार्ट अप्स में जबर्दस्त उत्साह है।

Show More
Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned