SCSS : सीनियर सिटीजन के लिए फायदेमंद है Post Office की ये स्कीम, 5 साल में मिलेंगे 14 लाख रुपए

  • Post Office Scheme For Senior Citizens : डाकखाने की सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम में अधिकतम 15 लाख रुपए तक कर सकते हैं निवेश
  • यह स्कीम 5 साल के लिए है, मैच्योरिटी पर मिलने वाली रकम पर टैक्स नहीं लगता है

By: Soma Roy

Published: 29 Aug 2020, 01:00 PM IST

नई दिल्ली। बुढ़ापे में किसी का सहारा न लेना पड़े ये लोगों की सबसे बड़ी चिंता होती है। इसके लिए वे अभी से निवेश करते हैं, जिससे उनका भविष्य सुरक्षित रह सके। ऐसे लोगों के लिए Post Office एक बेहतरीन स्कीम लेकर आया है जिसका नाम सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (Senior Citizens Savings Scheme-SCSS) है। 60 साल के लोगों के लिए चलाई जा रही इस योजना में निवेश से महज 5 साल में 14 लाख रुपए तक का रिटर्न मिल सकता है। ये काफी पॉपुलर स्कीम है। तो कैसे करें इसमें निवेश और क्या हैं इससे जुड़ी जरूरी बातें, आइए जानते हैं।

सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS)
इस स्कीम में 1000 रुपए के मल्टीपल डिपॉजिट किए जा सकते हैं। इसमें 15 लाख रुपए से ज्यादा अमाउंट नहीं रख सकते हैं। इसमें सालाना ब्याज 7.4 फीसदी मिलता है। जबकि स्कीम की मैच्योरिटी पीरियड 5 साल है। SCSS के तहत 60 साल या उससे ज्यादा की उम्र के व्यक्ति अकाउंट खुलवा सकते हैं। अगर कोई 55 साल या उससे ज्यादा का है और VRS ले चुका है तो वह भी SCSS में अकाउंट खोल सकता है। हालांकि इसके लिए उन्हें रिटायरमेंट बेनिफिट्स मिलने के एक माह के अंदर यह अकाउंट खुलवाना होगा। ये अकाउंट व्यक्तिगत या पत्नी के साथ ज्वाइंट में खुलवा सकते हैं। मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने के बाद अकाउंट को और तीन साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए मैच्योरिटी वाली तारीख के एक साल के अंदर एप्लीकेशन देनी होगी। इस स्कीम की अच्छी चीज यह है कि इसमें टैक्स नहीं कटता है।

जानें कैसे कमा सकते हैं रुपए
सीनियर सिटीजंस स्कीम में अगर आप एक मुश्त 10 लाख रुपए का निवेश करते हैं तो इस पर सालाना 7.4 फीसदी का ब्याज (Interest Rate) लगेगा। इसके हिसाब से 5 साल बाद यानी मेच्योरिटी पर निवेशकों को कुल रकम 14,28,964 रुपए होगी। यहां आपको ब्याज के रूप में 4,28,964 रुपए का फायदा होगा। आप इस स्कीम में 15 लाख रुपए तक अधिकतम निवेश कर सकते हैं। SCSS खातों में एक लाकह रु. से कम की राशि नकद जमा की जा सकती है| एक लाख रु. से अधिक राशि जमा करने के लिए चेक/डिमांड ड्राफ्ट का उपयोग करना अनिवार्य है।

Show More
Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned