Post Office में FD करवाना है सबसे आसान, 200 रु. में खुलवाएं खाता, 5 सालों में 7.7% तक का रिटर्न

Highlights
- एफडी (Post office saving scheme) कराना बहुत ही आसान है
- खास बात यह है कि पोस्ट ऑफिस (post office fd interest rate 2020) में एफडी कराने के कई फायदे भी हैं और इसके साथ ही आपको कई सुविधाएं भी मिलेंगी
- पोस्ट ऑफिस (post office fd interest rate 2020) में आप एक, दो, तीन और 5 सालों के लिए एफडी ( post office fd scheme 2020) करवा सकते हैं

By: Ruchi Sharma

Published: 11 Jul 2020, 02:42 PM IST

नई दिल्ली. देश में फैली कोरोना वायरस (Coronavirus in India) महामारी के चलते कई बैंकों में फिक्स डिपॉजिट (fixed deposit in post office) की दरों में कटौती कर दी गई है। ऐसे में इस महामारी के दौर में छोटी बचत के लिए पोस्ट ऑफिस (Post Office) निवेश के लिए बेहतर ऑप्शन हो सकता है। यहां एफडी (Post office saving scheme) कराना बहुत ही आसान है। खास बात यह है कि पोस्ट ऑफिस (post office fd interest rate 2020) में एफडी कराने के कई फायदे भी हैं और इसके साथ ही आपको कई सुविधाएं भी मिलेंगी।

पोस्ट ऑफिस (post office fd interest rate 2020) में आप एक, दो, तीन और 5 सालों के लिए एफडी ( post office fd scheme 2020) करवा सकते हैं। इस फिक्स डिपॉजिट ( post office fixed deposit) यानी एफडी (fixed deposit) के तहत सालाना आधार पर ब्याज दिया जाता है लेकिन इसकी गणना तिमाही आधार पर की जाती है। इसमें आप एक हजार रुपए से खाता खुलवा (Post Office FD Benefits) कर शुरुआत कर सकते हैं।

जानिए, इसके फायदें (Post Office FD Benefits)

- यदि आप शहर या जगह बदलते हैं तो एफडी पोस्ट ऑफिस से ट्रांसफर भी करा सकते हैं।
- एफडी अकाउंट एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर किया जा सकता है।
- अगर आपका व्यक्तिगत एफडी अकाउंट है तो आप इसे ज्वॉइंट अकाउंट में बदल सकते हैं।
- इसी तरह अगर ज्वॉइंट अकाउंट है, तो आप इसे दोबारा सिंगल अकाउंट में बदलाव कर सकते हैं।
- पोस्ट ऑफिस एफडी में नॉमिनी को जोड़ने या बदलने की सुविधा भी देता है।
- आप नॉमिनी को अकाउंट खुलने के बाद भी जोड़ सकते हैं या बदल सकते हैं।


जानिए, पोस्ट ऑफिस एफडी से जुड़ी खास बातें..

पोस्ट ऑफिस में फिक्स्ड डिपॉजिट ( post office fd scheme 2020) अकाउंट कैश या चेक के माध्यम से कोई भी व्यक्ति खुलवा सकता है। इंडिया पोस्ट के मुताबिक, चेक के मामले में सरकार के खाते में चेक की रकम आने की तारीख से ही अकाउंट खुला हुआ माना जाएगा। इस खाते को किसी नाबालिग के नाम पर और दो वयस्कों के नाम पर संयुक्त खाता भी खोला जा सकता है। इसके साथ ही पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट अकाउंट 1 से 5 साल तक की अवधि के लिए 5.5 से 6.7 फीसदी तक ब्याज दर की पेशकश करता है।

पांच साल के बाद मिलती है छूट

भारतीय डाक की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक 5 साल पूरे होने के बाद निवेश करने पर आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80 सी के तहत टैक्स छूट का फायदा ले सकते हैं। आप 5 साल की एफडी कराने पर आपको 7.7 प्रतिशत का ब्याज मिलता है।

200 रुपए से खुलवा सकते हैं अपना खाता

इसमें खाता चेक या नकद से एफडी से खुलवाया जा सकता है। अगर यह एफडी अकाउंट चेक से खोला जा रहा है तो यहां ध्यान रखें कि पैसा जिस तारीख में सरकारी अकाउंट में जमा हो जाएंगे, उसी दिन से एफडी अकाउंट खुलने की तारीख मानी जाएगी। अकाउंट खोलने के लिए न्यूनतम 200 रुपए लगते हैं। इस अकाउंट में अधिकतम राशि जमा करने की कोई सीमा नहीं है।

जानिए, कितने सालों में कितनी बढ़ती है रकम

- ब्याज दर और अवधि पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट अकाउंट 1 से 5 साल तक की अवधि के लिए 7 से 7.8 फीसदी तक ब्याज दर की पेशकश करता है।
- इंडिया पोस्ट की वेबसाइट के अनुसार ब्याज दरें इस प्रकार हैं
- अवधि ब्याज दर (% में) 1 साल (एफडी) 7.0
- 2 साल 7.0
- 3 साल 7.0
- 5 साल 7.7

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned