Advance Tax न देना पड़ सकता है भारी, भरना पड़ेगा मोटा ब्याज

  • क्या आप भरते हैं Advance Tax
  • Income Tax भरने की आखिरी तारीख
  • कौन भरता है advance tax
  • advance tax भरना होता है फायदेमंद

By: Pragati Bajpai

Published: 06 Jul 2020, 03:50 PM IST

नई दिल्ली: अगर आप भी एडवांस टैक्स ( Advance Tax ) ने वालों की कैटेगरी में आते हैं तो यह खबर आपके लिए है । लेकिन खबर जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि आखिर एडवांस टैक्स देता कौन है आपको बता दें कि एडवांस टैक्स ( Advance Tax ) देने की जिम्मेदारी नौकरी करने वाले यानी सैलरीड, प्रोफेशनल्स, बिजनेसमैन, फ्रीलांसर्स पर भी बनती है जब टीडीएस ( TDS ) या टीसीएस ( TCS ) के बाद या फिर विदेश से हुई इनकम के बाद कुल टैक्स देनदारी ₹10000 से ज्यादा होती है तब एडवांस टैक्स देने का प्रावधान है।

विदेशी ग्राहकों को कंसल्टेंसी सर्विस देने पर भारतीय कंपनियों को देना होगा GST ! जाने पूरी खबर

एडवांस टैक्स ( Advance Tax ) इनकम टैक्स ( income tax ) का वह सिस्टम है जिसमें टैक्स इंस्टॉलमेंट के रूप में लिया जाता है अगर आप समय पर एडवांस टैक्स ( Advance Tax ) जमा करते जाते हैं तो इसका फायदा आपको ही मिलता है। सरकार ने 1 साल में एडवांस टैक्स ( Advance Tax ) जमा करने का कैलेंडर बनाया हुआ है जिस तारीख तक आपको पैसे जमा करने होते हैं।
वित्तीय वर्ष 2020 21 के लिए कैलेंडर -

एडवांस टैक्स देनदारी का 15 परसेंट पहली इंस्टॉलमेंट कि रुपए 15 जून 2020 को दूसरे इंस्टॉलमेंट 15 सितंबर 2020 तक जमा हो जाना चाहिए इस तारीख तक 45% टैक्स आप जमा कर दें । वहीं तीसरी इंस्टॉलमेंट आपको 15 दिसंबर 2020 को देनी होगी और तब तक एडवांस टैक्स का टोटल 75% जमा हो जाना चाहिए । तो वहीं आखिरी इंस्टॉलमेंट 15 मार्च 2021 को देनी होगी और उस तारीख तक आप 100% टैक्स जमा कर चुके होंगे ।

एडवांस टैक्स जमा करने के फायदे –

एडवांस टैक्स देने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि एक साथ टैक्स का बोझ नहीं पड़ता अब टुकड़े-टुकड़े में टैक्स जमा करते रहते हैं और यह आपको पता नहीं चलता लेकिन कई बार जब आप मार्च में आईटीआर फाइल ( ITR ) करते समय टैक्स जमा करते हैं तो इतना बड़ा अमाउंट जमा करने में दिक्कत आना स्वाभाविक होता है ऐसे में आपकी रूटीन के खर्चे भी प्रभावित होते । वहीं अगर कभी भी आप टैक्स जमा करने से चूक जाते हैं तो आपको 18 परसेंट का ब्याज ( Interest rate ) भी देना पड़ता है वहीं टाइम पर जमा करने से आपको टैक्स पर ब्याज नहीं देना पड़ता यानी आप पर किसी भी तरह का एक्स्ट्रा बोझ नहीं पड़ता है।

income tax
Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned