एससी—एसटी एक्ट के बाद सवर्ण समाज लोकसभा चुनाव में करेगा ऐसा काम कि हिल जाएगी मोदी सरकार की जड़ें, पढ़िए ये खबर

एससी—एसटी एक्ट के बाद सवर्ण समाज लोकसभा चुनाव में करेगा ऐसा काम कि हिल जाएगी मोदी सरकार की जड़ें, पढ़िए ये खबर

Amit Sharma | Publish: Sep, 07 2018 05:44:48 PM (IST) Firozabad, Uttar Pradesh, India

— मोदी को भारी बहुमत से जिताने वाला सवर्ण समाज लोकसभा चुनाव में करेगा नोटा का प्रयोग।

फिरोजाबाद। केन्द्र में कांग्रेस सरकार को हटाकर मोदी सरकार बनवाने में पूरी मदद करने वाला सवर्ण समाज आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से बेहद नाराज है। एससी—एसटी एक्ट लागू किए जाने के बाद सवर्ण समाज अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहा है। लोग नरेन्द्र मोदी की आलोचना करने लगे हैं। सवर्ण समाज का कहना है कि मोदी ने सवर्ण समाज को धोखा दिया है। सर्वहित की बात कहकर अब सवर्णो को बीच में ही छोड़ दिया गया है। आनेे वाले समय में मोदी सरकार को सवर्णो की ताकत का अहसास हो जाएगा।

यह भी पढ़ें—

पचोखरा पैंठ को लेकर प्रधान ने कोर्ट में दायर की थी याचिका, हाईकोर्ट के जज ने सुनाया ये निर्णय

एक्ट हटाओ नहीं तो दबेगा नोटा
भारत बंद करने के बाद अब सवर्ण समाज के लोग लोकसभा चुनाव में नोटा का प्रयोग करने की योजना तैयार कर रहे हैं। जिले में भाजपा की टिकट पर दावेदारी करने वाले प्रत्याशी को हराने का काम सवर्ण समाज के लोग करेंगे। एससी—एसटी एक्ट विरोधी मंच के सुशील पचौरी ने कहा कि मोदी सरकार बनानेे में सवर्णो का बहुत बड़ा योगदान रहा है लेकिन शायद मोदी सरकार यह भूल गई है। आने वाले लोकसभा चुनाव में सवर्ण मोदी सरकार को सबक सिखाने का काम करेंगे।

यह भी पढ़ें—

वीडियो: योगी सरकार के विरोध में इन ग्रामीणों ने इसलिए लगाए हाय—हाय के नारे, जानिए वजह

दिखा देंगे सवर्णो की ताकत
सवर्ण संगठन महिला मोर्चा की प्रतिभा उपाध्याय ने कहा कि मोदी सरकार शायद सवर्णोे को कमजोर मानकर चल रही है। यही कारण है कि एससी—एसटी एक्ट लागू करते समय सवर्णो के हित को ध्यान में नहीं रखा गया। लोकसभा चुनाव में मोदी को हराकर भेजा जाएगा। उन्हें अपनी ताकत का अहसास कराया जाएगा किक जो सवर्ण चुनाव जिता सकता है वह हराने में भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगा।

 

Ad Block is Banned