क्या Huawei को मिलेगी Google से राहत!

  • Huawei Mate 20 Pro को मिलेगा Android Q का बीटा वर्जन
  • कंपनी ला रही अपना खुद का ऑपरेटिंग सिस्टम
  • अमरिकी सरकार की तरफ से मिली है 90 दिनों की राहत

By: Vishal Upadhayay

Published: 31 May 2019, 03:15 PM IST

नई दिल्ली: चाइना की मोबाइल निर्माता कंपनी हुआवई ( Huawei ) को हाल ही में अमरिकी सरकार की तरफ से बड़ा झटका लगा है। कंपनी से दिग्गज सर्च इंजन गूगल ( google ) ने अपने एंड्रॉयड लाइसेंस को वापस ले लिया है। दूसरी तरफ गूगल के इस कदम के बाद अमरिकी चिप मेकर कंपनी क्वालकॉम ने भी घोषणा की थी कि वे हुआवई के साथ चल रहे पार्टनरशिप को खत्म करेगा। वहीं पिछसे हफ्ते गूगल ने हुआवई के फ्लैगशिप स्मार्टफोन Mate 20 Pro को भी उस फोन्स की लिस्ट से हटा दिया है जो एंड्रॉयड Q बीटा प्रोग्राम का हिस्सा हैं।

बता दें इस बैन के बाद ही अमरिकी सरकार ने हुआवई और उसकी सब ब्रांड कंपनी हॉनर ( Honor ) को बड़ी राहत देते हुए अमरिकी प्रोडक्ट्स खरीदने की अनुमति 90 दिनों तक के लिए दी है। इसके अलावा एक रिपोर्ट की माने तो हुआवई के फ्लैगशिप स्मार्टफोन Mate 20 Pro को गूगल ने अपने एंड्रॉयड Q बीटा प्रोग्राम में वापस जोड़ लिया है। दूसरी तरफ तीन नेटवर्क सपोर्ट कंपनियों ने अपनी मेंबरशिप्स को रिन्यू किया है और इस लिस्ट में हुआवई का नाम भी शामिल है। इनमें वाईफाई, ब्लूटूथ और माइक्रो एसडी कार्ड नेटवर्क कंपनियां जो हुआवई को अपना सपोर्ट देती रहेंगी।

इस मुश्किल से निकलने के लिए हुआवई अपने फ्यूचर स्मार्टफोन्स को अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ लॉन्च कर सकता है। फिलहाल कंपनी के मौजूदा स्मार्टफोन्स पर एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम चलता रहेगा। लेकिन इन स्मार्टफोन्स को एंड्रॉयड अपडेट मिलेगा या नहीं यह अभी साफ नहीं कहा जा सकता है। वहीं, कंपनी ने अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टम के नाम के लिए यूरोपिय यूनियन इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी ऑफिस में ट्रेडमार्क फाइल किया है। रिपोर्ट की माने तो हुआवई के नए ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम Huawei ARK, Huawei OS या AKS OS हो सकता है।

यह भी पढ़ें: Twitter पर सुषमा स्वराज को मिस करेंगे लोग ! नए विदेश मंत्री का ट्विटर अकाउंट है अब तक खाली

Show More
Vishal Upadhayay
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned