शादी के लिए इन बैंक्‍वेट हॉल में कराई बुकिंग तो बढ़ सकती हैं मुश्किलें

लैंड यूज चेंज न किये जाने की वजह से किये जाएंगे सील

By: vaibhav sharma

Updated: 10 Feb 2018, 03:40 PM IST

गाजियाबाद। आपके घर परिवार में यदि कोई शादी अन्य बड़ा समारोह है और आप उसकी बुकिंग किसी बैकेट हॉल में करवा चुके हैं। तो अपने समारोह स्थल को लेकर जानकारी जूटा लें। शहर के 17 बड़े बैंकेट हॉलों पर नियम के विरूद्ध संचालन करने के आरोप में सीलिंग का खतरा मंडरा रहा है। यह सभी बैकेट हॉल फैक्ट्री के लिए आरक्षित जमीन पर बगैर लैंडयूज बदले चल रहे हैं। यूपी स्टेट इंडस्ट्रियल डेवेलपमेंट कारपोरेशन(यूपीएसआईडीसी) ने साहिबाबाद स्थित ग्रैंड जश्न बैंकेट हॉल पर ताला जड़ दिया। बाकी 16 को जल्द सील किया जाएगा। यूपीएसआईडीसी की रीजनल मैनेजर स्मिता सिंह ने बताया कि मानवीय आधार बैकेंट हॉल संचालकों को 2 से 3 दिन की मोहलत दी गई है । सिर्फ इस मौहलत के दौरान वहां किसी समारोह को कराने की आजादी होगी। इसके बाद सभी बैंकेट हॉलों को सील कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि कुल 17 बैकेंट हॉलों पर कार्रवाई होनी है। जिसमें से 12 ट्रांस हिंडन में, 3 बुलन्दशहर रोड औद्योगिक क्षेत्र, एक लोनी रोड और एक बैकेंट हॉल कविनगर औद्योगिक क्षेत्र में स्थित है।

गाजियाबादः अर्धनग्न होकर धरने पर बैठे किसान मंगू सिंह की हुई मौत

लिस्ट में शामिल 17 बैकेंट हॉलों में से 5 बैकेंट हॉलों ने सीलिंग के विरूद्ध अदालत से स्टे ले रखा था। इन बैकेंट हॉलों के स्टे खारिज कराए गए हैं। इन बैंकेट हॉलों में सील किया गए ग्रैंड जश्न बैकेंट के अलावा लावान्या और आरसी फार्म, पार्क क्राऊन, गोल्डन ट्रीट और डायमंड बैकेंट हॉल शमिल हैं। इसके अलावा साहिबाबाद में राज पैलेस, इम्पीरियल पार्क , सेलिना, गोल्डन कासल, सैंडल ट्री, लोनी रोड पर कान्हा फॉर्म हाउस, बुलन्दशहर रोड औद्योगिक क्षेत्र स्थित रूबि पैलेस, श्री जी पैलेस और किंग पैलेस बैकेंट हॉलों को सील किया जाएगा।

एलईडी से रोशन होगी इंदिरापुरम, राजनगर एक्सटेंशन समेत कई आवासीय योजना

दिल्ली में पार्कों में शादी समारोह पर पाबंदी के बाद ट्रांस हिंडन से सटे दिल्ली के इलाकों में रहने वाले अक्सर ट्रांस हिंडन में बने बैकेंट हॉलों में बुकिंग करवाते हैं। इसी वजह से इस क्षेत्र में बैकेंट हॉलों की भरमार है। जीडीए के बाद यूपीएसआईडीसी की कार्रवाई के बाद गाजियाबाद के अलावा दिल्ली के लोग भी प्रभावित होंगे। जानकारी के मुताबिक सील होने वाले 17 बैकेंट हॉलों में 12 मार्च तक 200 से ज्यादा फंक्शन होने हैं। जिसमें से आधे से ज्यादा दिल्ली की पार्टियों के हैं।

यूपीएसआईडीसी की क्षेत्रीय प्रबंधक स्मिता सिंह ने अपील की है कि जिन लोगों ने भी यहां अपनी बुकिंग करा रखी है वह कैंसिल करा लें। कोई व्यक्ति यहां भविष्य के लिए कोई भी बुकिंग ना कराए। स्मिता सिंह ने बताया कि सभी बैंकेट हॉल औद्योगिक क्षेत्रों में चल रहे थे। इनका लैंड यूज बदलवाए बगैर धड़ल्ले से यहां बुकिंग लेकर शादी व अन्य समारोह आयोजित करवाए जा रहे हैं। क्योंकि आसपास औद्योगिक क्षेत्र है इसलिए हमेशा दुर्घटना की संभावना बनी रहती है। सील किए जाने के बाद बैकेंट हॉलों को लैंडयूज के तहत केवल औद्योगिक इकाई चलाने की इजाजत दी जाएगी। बैकेंट हॉलों के खिलाफ गाजियाबाद विकास प्राधिकरण भी लगातार कार्रवाई कर रहा है। अभी तक जीडीए ट्रांस हिंडन में 7 बैंकेट हॉल ढहा चूका है। सभी बैकेंट हॉल ग्रीन बैल्ट में अवैध रूप से बनाए गए थे। जिसपर एनजीटी ने पहले ही कार्रवाई करने की संस्तुति कर दी थी।

vaibhav sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned