कोरोना मरीजों के लिये बढ़े मदद के हाथ, समाजसेवी ने ने दिया चलता-फिरता अस्पताल

गाजीपुर के रहने वाले गुजरात के कारोबारी समाजसेवी संजय राय शेरपुरिया ने गाजीपुर जिला अस्पताल टेलीमेडिसिन मेडिकल वैन, 10,000 जांच किट, 50 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर समेत इलाज के लिये जरूरी कई चीजें दी हैं।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गाजीपुर. कोरोना संक्रमण काल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे मरीजों की मदद के लिये मूल रूप से गाजीपुर के रहने वाले गुजरात के कारोबारी व समाजसेवी संजय राय शेरपुरिया सामने आए हैं। उन्होंने गाजीपुर को कोविड मरीजों की जान बचाने के लिये एक चलता फिरता अस्पताल (मेडिकल वैन) और एक एंबुलेंस 50 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भी दिया है। जल्द ही उनकी 40 बेड का कोविड अस्पताल बनवाने की भी योजना है।

 

 

गाजीपुर के भांवरकोल ब्लाॅक अंतर्गत शेरपुर गांव के मूल निवासी संजय राय शेरपुरिया हैं गुजरात के कारोबारी हैं। गाजीपुर में वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की किल्लत और कोरोना मरीजों के इलाज में हो रही समस्या को देखते हुए वह मदद को आगे आए हैं। उन्होंने गाजीपुर के जिलाधिकारी को एक मेडिकल वैन सौंपी है जो चलता फिरता अस्पताल है। इस वेंटिलेटर से युक्त इस वैन में 7000 लीटर क्षमता का ऑक्सीजन टैंक भी है। इसके अलावा सभी जरूरी जीवन रक्षक उपकरण व दवाएं हैं। साथ ही ड्राइवर भी दिया है। वैन के अलावा एक एंबुलेंस50 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन रेग्युलेटर और नेब्युलाइजर दिया है। अभी 50 कंसंट्रेटर और देेंगे।


उनकी योजना गाजीपुर के ट्राॅमा सेंटर में 40 बेड का एक कोविड अस्पताल बनाने की भी है, जो वेंटिलेटर बेड और ऑक्सीजन प्लांट से लैस होगा। उनकी मदद के जज्बे की सराहना करते हुए जिलाधिकारी एमपी सिंह ने कहा कि सरकार हमारी मदद कर ही रही है लेकिन ऐसे समाजसेवियों का सहयोग मिलने से हम बेहतर इलाज और सुविधा दे सकेंगे जान बचाई जा सकेगी। उन्होंने ऐसे लोगों को आगे आने की अपील की है।


उधर समाजसेवी संजय राय ने कहा कि समाज में आगे बढ़ चुके लोगों को मदद के लिये आगे आना चाहिये। गाजीपुर मेरी जन्मभूमि रही है। मैंने देखा कि मेरे जिले के लोग पीछे छूट रहे हैं। मेरा फर्ज है कि संकट के समय अपने लोगों के लिये खड़ा रहूं।

patrika positive news
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned