पुलिस के सामने हुआ ग्रामीणों का नक्सलियों से युद्ध, नक्सली कमांडर की मौत

अधिक पुलिस बल मौके पर बुलाकर ग्रामीणों को काबू किया गया (Naxal Commander Suresh Marandi Died in Giridih jharkhand) (Jharkhand News) (giridih news)...

By: Prateek

Published: 14 Jun 2020, 02:22 PM IST

(गिरिडीह): पुराने जमीनी विवाद की वजह से हुई हत्या का बदला नक्सली कमांडर से ग्रामीणों ने खुद ले लिया। जैसे ही नक्सली गांव में पहुंचा तो आक्रोशित ग्रामीणों ने तीर चलाकर और फरसे से हमला कर कमांडर सुरेश मरांडी को मौत के घाट उतार दिया। ग्रामीणों के गुस्से के आगे बेबस पुलिस भी इस घटना की गवाह बनी। बाद में अधिक पुलिस बल मौके पर बुलाकर ग्रामीणों को काबू किया गया।

यह भी पढ़ें: यहां भैंस ने जन्मा 2 सिर वाला पाडा, विशेषज्ञ शोध में जुटे

पुरानी घटना का लिया बदला...

यह घटना झारखंड में गिरिडीह जिले के पीरटांड़ थाना क्षेत्र के पीपराटांड़ गांव में शुक्रवार देर शाम हुई। मिली जानकारी के अनुसार गांव के ही रहने वाला सुरेश मरांडी 2017 से पीरटांड़ का नक्सली एरिया कमांडर था। हीरालाल किस्कु नामक शख्स से जमीन को लेकर उसका 10 साल से विवाद चल रहा था। किस्कु को ठिकाने लगाने के लिए उसने चार जून को अपने साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी और वहां से फरार हो गया।

यह भी पढ़ें: एंबुलेंस में था Coronavirus संक्रमित मरीज, ड्राइवर को पता चलते ही उड़े होश, गाड़ी छोड़कर भागा

बने युद्ध के हालात...

इस घटना को लेकर ग्रामीणों में गुस्सा था। शुक्रवार देर शाम जैसे ही वह अपने सात साथियों समेत गांव पहुंचा तो ग्रामीणों ने उसे घेर लिया। गांव वालों ने उसके चार साथियों के घर को आग लगा दी। इसी के साथ सुरेश पर धनुष—तीर चलाकर और फरसे से हमला कर उसकी हत्या कर दी। इस समय युद्ध के से हालात बन गए थे। गांव वाले उसके अन्य सात साथियों को भी मार देते लेकिन पुलिस मौके पर पहुंच गई। मुश्किल से सातों को गांव वालों के चंगुल से निकालकर पुलिस थाने ले गई।

यह भी पढ़ें: मास्क ना लगाने की दी ऐसी सजा, युवक का उठ गया पुलिस से विश्वास

नक्सली कमाडंर से परेशान थे लोग...

 

पुलिस के सामने ही हुआ ग्रामीणों का नक्सलियों से युद्ध, नक्सली कमांडर की मौत

बाद में पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाकर शांत किया। गांव में पुलिस के जवान तैनात कर दिए गए हैं। पुलिस के अनुसार किस्कू हत्याकांड में सुरेश मरांडी समेत 8 नक्सलियों को आरोपी बनाया गया था।इधर गांव वालों का कहना है कि सुरेश मरांडी की हरकतों से ग्रामीण बेहद परेशान थे लेकिन जान के ड़र से कोई कुछ नहीं कहता था। उसने 3 साल में 6 से अधिक लोगों का जान से मार डाला था। उसने कईं गांव वालों की जमीन पर कब्जा कर रखा था।

झारखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned