script CM सिटी की पुलिस : इंस्पेक्टर मांगे एक कैरट बीयर, थानों में धारा 307, 308 में भी चल रहा है रुपयों का खेल | gorakhpur news, SSP and IG warn policeman in district | Patrika News

CM सिटी की पुलिस : इंस्पेक्टर मांगे एक कैरट बीयर, थानों में धारा 307, 308 में भी चल रहा है रुपयों का खेल

locationगोरखपुरPublished: Nov 29, 2023 11:03:14 pm

Submitted by:

anoop shukla

चौरीचौरा थाने में तैनात दरोगा जितेंद्र यादव पर IGRS प्रार्थना पत्र का समय से और गुणवत्तापूर्ण तरीके से निस्तारण न करने और काम में लापरवाही बरतने का आरोप है। वहीं, चौकी इंचार्ज रविसेन यादव पर विवेचना में लापरवाही सहित एक मारपीट और SC-ST को एक मामले में मैनेज करने के लिए 7 रुपए मांगने साथ ही पैसे न मिलने पर 151 में चालान करने का आरोप लगा था।

CM सिटी की पुलिस : इंस्पेक्टर मांगे एक कैरट बीयर, थानों में धारा 307, 308 में भी चल रहा है रुपयों का खेल
CM सिटी की पुलिस : इंस्पेक्टर मांगे एक कैरट बीयर, थानों में धारा 307, 308 में भी चल रहा है रुपयों का खेल
गोरखपुर । जिले में SSP डॉक्टर गौरव ग्रोवर जहां एक तरफ पूरे विभाग को ओवरहालिंग कर रहे वहीं ADG, IG भी मातहतों को सुधरने की सख्त चेतावनी दिए हैं।इतना ही नहीं एक मामले में तो SSP आफिस के सिपाही ने ही रेलवे सर्विस में चयनित अभ्यर्थी के आए वेरिफिकेशन में ही अभ्यर्थी से 1200 रुपए ले लिए।
आज चौकी इंचार्ज और दरोगा नपे

SSP डॉ. गौरव ग्रोवर ने कैंट थाने के इंजिनयरिंग कॉलेज चौकी इंचार्ज रविसेन यादव और चौरीचौरा थाने में तैनात दरोगा जितेन्द्र यादव को लाइन हाजिर कर दिया। SSP ने दोनों दरोगाओं के खिलाफ विभागीय जांच के भी निर्देश दिए हैं। एक मामले में SSP को दोनों के खिलाफ शिकायत मिली थी। जांच में मामला सही पाए जाने के बाद उन्होंने यह एक्शन लिया।
7 हजार नही मिला तो कर दिया 151 में चालान

चौरीचौरा थाने में तैनात दरोगा जितेंद्र यादव पर IGRS प्रार्थना पत्र का समय से और गुणवत्तापूर्ण तरीके से निस्तारण न करने और काम में लापरवाही बरतने का आरोप है। वहीं, चौकी इंचार्ज रविसेन यादव पर विवेचना में लापरवाही सहित एक मारपीट और SC-ST को एक मामले में मैनेज करने के लिए 7 रुपए मांगने साथ ही पैसे न मिलने पर 151 में चालान करने का आरोप लगा था।
70 सिपाही और 13 दरोगा भी हो चुके हैं लाइन हाजिर

हालांकि, इससे पहले भी SSP पिछले एक हफ्ते 70 सिपाहियो, बांसगांव थानेदार और 13 दरोगाओं को भी लाइनहाजिर कर चुके है। कहा जा रहा है कि इन सभी की जांच SSP ने LIU से कराई थी। इनमें कुछ पर थानेदारों के कारखास होने का आरोप था तो किसी पर विभाग की छवि खराब करने का आरोप। जिसके बाद SSP ने एक साथ इन सभी को लाइन का रास्ता दिखा दिया।
पीपीगंज और गुलरिहा थानेदार की भी चल रही गोपनीय जांच

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, देवरिया से आए इंस्पेक्टर पीपीगंज थानेदार टीजे सिंह और गुलरिहा थानेदार अखिलेश के भूमिका की भी गोपनीय जांच चल रही है। टीजे सिंह पर पीपीगंज में तैनाती के बाद एक बियर के दुकानदार से एक कैरेट बियर मंगाने की चर्चा भी आम है। इससे पहले भी उनपर देवरिया कोतवाल रहते हुए एक मामले में भ्रष्टाचार और लार थानेदार रहते हुए एक महिला सिपाही से संबंध होने का आरोप लगा था, जिसमें जांच बैठाई गई थी।
वहीं, गुलरिहा में में 70 हजार के लेनदेन और उसके बंटवारे को लेकर झगड़ने का मामला सामने आया है। अफसरों का मानना है कि अगर समय रहते कार्रवाई नहीं हुई तो बड़ा बवाल दोनों थानों पर हो सकता है। इसलिए इनकी गोपनीय रिपोर्ट तैयार हो रही है।जिसके बाद इनपर कार्यवाई होना संभव है।

गंभीर आरोपों पर भी केवल लाइन हाजिर

वहीं, एक तरफ जहां लाइन हाजिर की कार्यवाई से पुलिस महकमे में हड़कंप है तो वहीं, दूसरी तरफ यह भी चर्चा है कि लाइनहाजिर करना कोई कार्यवाई नहीं होती। यह तो निलंबन से बचाने का विभागीय तरीका है।
क्राइम मीटिंग में IG बोले- पुलिस कर रही खेल

इससे पहले मंगलवार की रात ADG अखिल कुमार और IG जे रविन्द्र गौड़ ने SSP डॉ. गौरव ग्रोवर, SP सिटी कृष्ण कुमार विश्नोई, SP नार्थ मनोज अवस्थी सहित तमाम अधिकारियों और थानेदारों संग क्राइम मीटिंग की।इस दौरान ADG और IG ने कहा कि जिले की पुलिस धारा 307 और 308 में पैसे लेकर बड़ा खेल कर रही है। नियम कानून का पालन नहीं कर रही है। वहीं, अधिकारियों के कहा कि माफियाओं पर कठोर कार्यवाई की जाए, उन्हें सजा दिलाई जाए। साथ ही बड़े अपराधों के मुकदमा के आरोपियों जो भी सजा दिलाई जाए। रात्रि गस्त तेज कर चोरी, लूट जैसी घटनाओं पर अंकुश लगाया जाए और थानों में दलालों के प्रवेश पूरी तरह वर्जित किया जाए। ताकि, पुलिस की नई छवि उभरकर आम पब्लिक के सामने आए। IG जे. रविंद्र गौड़ के आदेश पर ही देवरिया SP ने भी महकमे में दरोगाओं की जांच कराई और आज बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किए।

ट्रेंडिंग वीडियो