गोरखपुर-लखनऊ फ्लाइट की शुरुआत: सीएम योगी बोले, हवाई चप्प्ल पहनने वाले भी करेंगे हवाई सफर

  • गोरखपुर से लखनऊ फ्लाइट का शुभारंभ करने के बाद बोले सीएम योगी आदित्यनाथ
  • गोरखपुर एयरपोर्ट की टर्मिनल भवन विस्तार का किया शिलान्यास

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोरखुपर से लखनऊ फ्लाइट केा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उनके साथ केन्द्रीय उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी, यूपी के नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी और गोरखपुर के सांसद रवि किशन भी मौजूद रहे। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पीएम मोदी ने कहा था कि हमारी कोशिश हवाई चप्पल पहनने वालों को हवाई यात्रा कराने की है। हम उनके उसी सपने को साकार कर रहे हैं। बहुत जल्द कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट अंतर्राष्ट्रीय विमान सेवा से जुड़ जाएगा। जेवर में सबसे बड़ा एयरपोर्ट तेजी से बन रहा है तो अयोध्या में भी इंटरनेशनल एयरपोर्ट का सपना साकार हो रहा है। सोनभद्र जैसी जगह भी हम हवाई अड्डा बना रहे हैं। उन्होंने बताया कि चित्रकूट, ललितपुर और झांसी में, सहारनपुर, अलीगढ़ मुरादाबाद, मेरठ, आजमगढ़ समेत 17 जगहों पर एयरपोर्ट पर काम चल रहा है।

 

आज सिर्फ गोरखपुर से लखनऊ ही नहीं बल्कि प्रयागराज से भोपाल समेत प्रदेश के पांच शहरों से देश के पांच स्थानों के लिये विमान सेवा शुरू हो रही है। इसके बाद आगरा से मुंबई और आगरा से अहमदाबाद फ्लाइट भी शुरू होगी। गोरखपुर से भी अहमदाबाद के लिये फ्लाइट होगी। बताया कि गोरखपुर में जो नई टर्मिनल बिल्डिंग बन रही है उसके पूरा हो जाने के बाद उसमें 200 यात्री बैठ सकेंगे। और भी तमाम एयर कनेक्टिविटी की मांग को पूरा करने में मदद मिलेगी। उन्होंने नए एप्रन के लिये एयरफोर्स को धन्यवाद दिया।

 

सीएम योगी ने कहा कि आज गोरखपुर में हर व्यक्ति विकास के बारे में चर्चा करता है। विकास के बारे में नई सोच एक नए गोरखपुर, नए यूपी और नए भारत को दुनिया के सामने रखने की कोशिश है। जो लोग पहले मुंबई और हैदराबाद आदि देश के दूसरे हिस्सों में जाकर निवेश करते थे वो आज पूर्वी उत्तर प्रदेश में संभावना देख रहे हैं गोरखपुर में निवेश के बारे में सोच रहे हैं यह विकास कार्य के साथ सकारात्मक सोच का परिणाम है।

उन्होंने कहा कि गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा में मेट्रो सेवा का विकास हुआ है। कानपुर और आगरा में मेट्रो का कार्य युद्घ स्तर पर चल रहा है और इस साल के अंत तक शुभारंभ करने की कार्ययोजना है। दिल्ली मेरठ को रैपिड रेल से जोड़ने का काम तेजी से चल रहा है। इस से दिल्ली से मेरठ की दूरी महज 45 मिनट में तय होगी। गोरखपुर मेट्रो की कार्ययोजना केन्द्र सरकार को भेजी जा चुकी है। वाराणसी में और ढेर सारे विकल्प प्रस्तुत किये हैं तो प्रयागराज में भी विकल्प दिये गए हैं।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned