Bakrid के दिन AIMIM के पूर्व पदाधिकारी ने इस वजह से बदला धर्म, Imran Khan से बन गया राम

Bakrid के दिन AIMIM के पूर्व पदाधिकारी ने इस वजह से बदला धर्म, Imran Khan से बन गया राम

खास बातें-

  • ओवैसी के पूर्व समर्थक ने कबूला हिंदू धर्म
  • 17 अगस्त को ग्रेटर नोएडा में करेंगे हवन
  • एआईएमआईएम के रह चुके हैं जिलाध्यक्ष

ग्रेटर नोएडा। बकरीद के मौके पर सोमवार को आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ( AIMIM ) के पूर्व पदाधिकारी ने अपना धर्म बदल लिया। ओवैसी के पूर्व समर्थक इमरान खान ने हिंदू धर्म कबूल कर लिया। उन्‍होंने अपना नया नाम राम राघव बताया है। उन्‍होंने इसका शपथपत्र भी बनवा लिया है।

सोमवार को मना बकरीद का पर्व

सोमवार को बकरीद का त्‍यौहार पूरे हर्षाल्‍लास के साथ मनाया गया। इस बीच दादरी के नई आबादी निवासी इंजीनियर ने मुस्लिम धर्म त्‍यागकर हिंदू धर्म अपना लिया। उनका कहना है क‍ि वह मुस्लिम धर्म में कुरीतियों से खुश नहीं हैं। उन्‍होंने यह फैसला अपनी मर्जी से लिया है। वह 17 अगस्त को राष्ट्रीय हिंदू संघ के साथ ग्रेटर नोएडा में हवन का भी आयोजन कराएंगे।

यह भी पढ़ें: बकरीद पर शहर काजी ने कहा- मुसलमान भटक गया है, अपने गुनाहों के लिए अल्लाह से तौबा करें, देखें वीडियो

PTU से की है पढ़ाई

इमरान खान ( Imran Khan ) गौतमबुद्ध नगर जिले के दादरी की नई आबादी कॉलोनी के रहने वाले हैं। उन्‍होंने पंजाब के जालंधर स्थित पंजाब टेक्निकल विश्वविद्यालय ( PTU ) से पढ़ाई की है। वर्ष 2011 में इमरान ने वहां बीटेक की पढ़ाई की। वहां से पढ़ाई करने के बाद उन्‍होंने एक प्राइवेट कंपनी में इंजीनियर की नौकरी की। राम माधव बने इमरान का दावा है क‍ि वह एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष भी रह चुके हैं। वह दो साल तक संगठन में रहे हैं। उनका कहना है क‍ि पढ़ाई के दौरान उनके साथ कई हिंदू छात्र रहते थे। उस दौरान उन्‍होंने हिंदू धर्म को गहराई से समझा। इसके बाद ही उन्‍होंने धर्म परिवर्तन करने का फैसला लिया।

यह भी पढ़ें: ईद पर भावुक हुए आजम खान, जनता के नाम लिखा ऐसा पत्र जिसे पढ़ आप भी हो जाएंगे जज्बाती

शपथपत्र भी बनवाया

उन्‍होंने कहा कि उनको मुस्लिम धर्म की कुछ कुरीतियां पसंद नहीं हैं। उन्‍होंने शपथपत्र भी बनवा लिया है। इसमें अपना नाम राम राघव रखा है। इस मामले में इमरान खान के परिजनों ने यह फैसला उन पर ही छोड़ दिया था। इमरान खान के अनुसार, उनके परिजनों ने कहा कि वह अपना निर्णय खुद लें। उन्‍होंने कभी घर में ईद पर कुर्बानी नहीं दी है। वह इसमें विश्‍वास भी नहीं करते हैं।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned