scriptNPCL reduced electricity rates for Greater Noida consumers | ग्रेटर नोएडा वासियों के लिए खुशखबरी: NPCL घटाने जा रहा बिजली की दरें, जानें पूरा प्लान | Patrika News

ग्रेटर नोएडा वासियों के लिए खुशखबरी: NPCL घटाने जा रहा बिजली की दरें, जानें पूरा प्लान

उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए जन सुनवाई की। जिसमें कंपनी का एवरेज बिलिंग रेट (एबीआर) ज्यादा और औसत विद्युत लागत कम होने पर बिजली की दर कम करने की बात कही गई।

ग्रेटर नोएडा

Published: June 25, 2022 09:22:35 am

ग्रेटर नोएडा में रहने वालों को नोएडा पावर कंपनी लिमिटेड (एनपीसीएल) ने बड़ी खुशखबरी दी है। जिसके तहत उपभोक्ताओं को बिजली के मौजूदा खर्चे से राहत मिलेगी। दरअसल एनपीसीएल ने पिछले साल उपभोक्ताओं से बिजली आपूर्ति की औसत लागत से कहीं अधिक कमाई की है। जिसे लेकर शुक्रवार को उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग ने एक बैठक की। बैठक में एनपीसीएल की चालू वित्तीय वर्ष के लिए बिजली दर के प्रस्ताव पर हुई जन सुनवाई में उप्र राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद ने कंपनी द्वारा लागत से प्रति यूनिट 2.05 रुपये तक ज्यादा कमाने का मुद्दा उठाया। जिसके तहत बिजली दर घटाने के साथ ही प्रकरण की सीबीआई से जांच कराने की मांग आयोग से की गई।
ग्रेटर नोएडा वासियों के लिए खुशखबरी: NPCL घटाने जा रहा बिजली की दरें, जानें पूरा प्लान
बिजली की दर कम करने की बात कही

बता दें कि उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए कंपनियों के वार्षिक राजस्व आवश्यकता (एआरआर) के साथ ही बिजली दर को अंतिम रूप देने के लिए शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जन सुनवाई की। जिसमें एनपीसीएल द्वारा बिजली दरों पर प्रस्तुतीकरण किया गया। प्रस्तुतीकरण को देखने के बाद उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष व राज्य सलाहकार समिति के सदस्य अवधेश कुमार वर्मा ने इस पर सवाल उठाया कि जब कंपनी का एवरेज बिलिंग रेट (एबीआर) ज्यादा है और औसत विद्युत लागत कम है तो बिजली की दर कम क्यों नहीं की गई? दरअसल वर्ष 2019-20 में रेग्युलेटरी सरचार्ज सहित एबीआर 8.17 रुपये प्रति यूनिट था जबकि औसत विद्युत लागत 6.12 रुपये थी।
यह भी पढ़ें

Lucknow: अंसल ग्रुप पर ED की टेढ़ी नजर, अब लखनऊ पुलिस को पत्र लिखकर मांगी गई जानकारी

एक वर्ष तक उपभोक्ताओं को मुफ्त बिजली

जाहिर है कि 2020-21 में एबीआर 8.34 रुपये और लागत 7.39 रुपये थी। इस तरह से कंपनी ने लागत से 2.05 रुपये यूनिट तक ज्यादा कमाया। प्रकरण को गंभीर बताते हुए सीबीआई जांच की मांग करते हुए वर्मा ने कहा कि 30 वर्ष के लिए कंपनी को दिए गए लाइसेंस की अवधि अगले वर्ष 30 अगस्त को समाप्त हो रही है। चालू वित्तीय वर्ष के लिए भी कंपनी द्वारा 8.16 रुपये एबीआर और लागत 8.05 रुपये प्रस्तावित करने पर परिषद अध्यक्ष ने कहा कि जिस तरह से कंपनी ने ज्यादा कमाई की है उसको देखते हुए एक वर्ष तक संबंधित क्षेत्र के उपभोक्ताओं को मुफ्त में बिजली मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कंपनी ने बिजली खरीद सहित ज्यादा लाइन हानियां प्रस्तावित किया है जिसे न मानते हुए हानियां छह प्रतिशत ही मानी जाए।
यह भी पढ़ें

लव मैरिज का खौफनाक अंजाम: इस बात पर पति ने कर दी पत्नी की हत्या और फिर....

बिजली की मौजूदा दर में कमी की उम्मीद

उन्होंने घाटे में चल रही अन्य बिजली कंपनियों का जिक्र करते हुए कहा कि इनके पैरामीटर पर एनपीसीएल की बिजली दरें तय करना ही गलत है। एनपीसीएल के उपभोक्ताओं की बिजली दरें कम करके उन्हें रेग्युलेटरी लाभ भी दिया जाए। सुनवाई के बाद वर्मा ने बताया कि कंपनी का 1176 करोड़ रुपये सरप्लस निकल रहा है। ऐसे में एनपीसीएल की बिजली किसी भी सूरत में महंगी होने वाली नहीं है बल्कि आयोग द्वारा बिजली की मौजूदा दर में निश्चिततौर पर कमी किए जाने की पूरी उम्मीद है। ट्रांसमिशन टैरिफ पर उपभोक्ता परिषद ने कहा कि इसे 24.21 पैसे प्रति यूनिट से 31.73 पैसे प्रति यूनिट करने की मांग की जा रही है लेकिन ट्रांसमिशन कारपोरेशन का सिस्टम तो मिसमैच है। टैरिफ को 31 प्रतिशत बढ़ाने से पहले सिस्टम को अपग्रेड किया जाए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Train Accident: महाराष्ट्र के गोंदिया में रेल हादसा, पैसेंजर ट्रेन ने मालगाड़ी को मारी टक्कर; 50 से अधिक यात्री घायलदिल्ली में आज पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक, मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें तेजगुलाम नबी ने कांग्रेस को दिया झटका, ठुकराया JK कैंपेन कमेटी का पद, बताया ये कारणकलकत्ता हाईकोर्ट की कड़ी टिप्पणी, कहा - 'पश्चिम बंगाल में बिना पैसे दिए नहीं मिलती सरकारी नौकरी'Pro Boxing : रायपुर में आज दिखेगा मुक्केबाजी का रोमांच, विजेंदर सिंह व इलियासु सुले होंगे आमने-सामनेस्टूडेंट्स के लिए ये हैं सस्ते इलेक्ट्रिक स्कूटर, डेली यूज़ के लिए बन सकते हैं बेस्ट ऑप्शनJammu-Kashmir News: शोपियां में फिर आतंकी हमला, CRPF के बंकर पर ग्रेनेड अटैकओडिशा के 10 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, ODRAF और NDRF की टीमों को किया गया तैनात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.