ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे पर किसान ने किया बंद, लगा कई किलोमीटर लंबा जाम, बच्चे-बूढ़े और जवान बेहाल

किसान अपनी मांगों को लेकर ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर बैठे हुए हैं। जिसके चलते शनिवार देर रात से ही वाहनों की ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर लंबी कतारें लग गई हैं।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

ग्रेटर नोएडा। किसान आंदोलन के चलते ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर लंबा भीषण जाम लग गया। जिसके चलते महिला, छोटे-छोटे मासूम बच्चे देर रात से ही हाईवे पर फंसे हुए हैं। इतना ही नहीं, परिजनों के पास बच्चों को कुछ खिलाने के लिए भी नहीं है। जानकारी के अनुसार शनिवार से ही किसानों ने एक्सप्रेसवे पर ट्रैफिक को रोका हुआ है। जिसके चलते कई घंटों से बस और ट्रकों की कई किलोमीटर लंबी लाइन लगी हुई है।

यह भी पढ़ें: किसानों ने ऐलान के बाद 24 घंटे के लिए जाम किया ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे

जहां एक तरफ यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो वहीं पुलिस प्रशासन किसानों के आंदोलन के आगे बना मूकदर्शक बना नजर आ रहा है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश आया है कि आंदोलन के चलते कोई भी हाईवे जाम नहीं होना चाहिए, ताकि लोगों को दिक्कत ना हो। बावजूद इसके किसान अपनी मांगों को लेकर ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर बैठे हुए हैं। जिसके चलते शनिवार देर रात से ही वाहनों की ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर लंबी कतारें लग गई हैं।

फर्रुखाबाद से आ रहे लोगों का कहना है कि ना तो उनके पास खाने-पीने की कोई सामग्री है और ना ही ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर कोई ऐसी व्यवस्था है कि जहां उनके बच्चे और महिलाएं शौच के लिए जा सके। जिसके चलते ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर इस समय यह जाम समस्या का अंबार लेकर आया है।

यह भी पढ़ें: कोरोना के बढ़ते केस को लेकर चिकित्सा मंत्री की बड़ी बैठक, अधिकारियों को दिए ये निर्देश

यात्रियों का कहना है कि अगर किसी को आंदोलन करना भी है तो वह हाईवे ना रोके, ताकि हाइवे से गुजरने वाले लोगों को दिक्कतों का सामना ना करना पड़े। लेकिन उसके बावजूद भी प्रशासन और पुलिस प्रशासन कस इस ओर ध्यान नहीं है। जिसके चलते देर रात से ही यात्री एक्सप्रेस पेपर भूखे मरने के लिए मजबूर हैं।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned