आर्टिकल 370: UAE ने मोदी सरकार के फैसले पर जताया समर्थन, बताया भारत का आंतरिक मामला

आर्टिकल 370: UAE ने मोदी सरकार के फैसले पर जताया समर्थन, बताया भारत का आंतरिक मामला

Anil Kumar | Updated: 07 Aug 2019, 08:50:41 AM (IST) गल्फ

  • भारत में UAE के राजदूत डॉ. अहमद अल बन्ना ( Dr. Ahmad Al Banna ) ने कश्मीर मामले को भारत का आंतरिक मामला बताया
  • केंद्र की मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को समाप्त कर दिया

दुबई। केंद्र की मोदी सरकार ने एक एतिहासिक फैसला करते हुए जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाली धारा 370 और 35ए को समाप्त कर दिया। इसके बाद देश-दुनिया से तमाम तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी।

जहां एक ओर पाकिस्तान और चीन ने सरकार के इस फैसले का विरोध किया है वहीं श्रीलंका ने इसे भारत का आंतरिक मामला बताया है। इसी कड़ी में संयुक्त अरब अमीरात ने भी एक बयान देते हुए मोदी सरकार के फैसले का स्वागत किया है।

भारत में UAE के राजदूत डॉ. अहमद अल बन्ना ( Dr. Ahmad Al Banna ) ने कहा कि भारतीय सरकार ने जम्मू और कश्मीर राज्य से संबंधित भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के कुछ उपबंधों को हटाया है।

आर्टिकल 370 हटने के बाद पाकिस्तान की गीदड़ भभकी, 'संयुक्त राष्ट्र में उठाएंगे मुद्दा'

उन्होंने कहा कि हमने भारतीय संसद में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक की शुरुआत पर भी ध्यान दिया, जिसका उद्देश्य अनुच्छेद 370 को खत्म कर लद्दाख क्षेत्र और जम्मू-कश्मीर राज्य को भारत के दो नए केंद्र शासित प्रदेशों के रूप में बनाना है।

बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को खत्म कर उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया। जम्मू-कश्मीर से लद्दाख को अलग करते हुए केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है।

UAE Flag

जम्मू-कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है: बन्ना

डॉ. अहमद अल बन्ना ने टिप्पणी की कि उनकी समझ से राज्यों के पुनर्गठन स्वतंत्र भारत के इतिहास में एक अनोखी घटना नहीं है और इसका मुख्य उद्देश्य क्षेत्रीय असमानता को कम करना और दक्षता में सुधार करना था।

उन्होंने जम्मू-कश्मीर राज्य से संबंधित इस नवीनतम निर्णय को भारतीय संविधान द्वारा निर्धारित आंतरिक मामले के रूप में देखा है।

मोदी सरकार का कश्मीर पर ऐतिहासिक फैसला, पाकिस्तान समेत बाकी देशों में क्या होगा असर

UAE के राजदूत ने उम्मीद जताई कि भारत सरकार के इस फैसले से जम्मू-कश्मीर राज्य के लोगों के साथ-साथ लद्दाख के लोगों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति और कल्याण में सुधार होगा।

उन्होंने कहा 'हम उम्मीद करते हैं कि यह परिवर्तन सामाजिक न्याय और सुरक्षा और स्थानीय शासन में लोगों के विश्वास में सुधार करेंगे और आगे स्थिरता और शांति को प्रोत्साहित करेंगे'।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned