scriptMarriage took place in 17 minutes, did not even take dowry | 17 मिनट में बंधा सात जन्मों का साथ, न दहेज लिया न बारातियों का किया स्वागत | Patrika News

17 मिनट में बंधा सात जन्मों का साथ, न दहेज लिया न बारातियों का किया स्वागत

सच हो रहा है सबका सपना, दहेज मुक्त हो भारत अपना।

गुना

Published: April 18, 2022 08:04:55 am

गुना. सच हो रहा है सबका सपना, दहेज मुक्त हो भारत अपना। रविवार दोपहर को राघौगढ़ के जेपी कॉलेज के पास अन्नपूर्णा होटल में संत रामपाल महाराज के अनुयायियों ने जिला स्तरीय विशाल सत्संग का आयोजन एलईडी के माध्यम से किया। इस विशाल सत्संग में एक दहेज मुक्त विवाह हुआ।
17 मिनट में बंधा सात जन्मों का साथ, न दहेज लिया न बारातियों का किया स्वागत
17 मिनट में बंधा सात जन्मों का साथ, न दहेज लिया न बारातियों का किया स्वागत
इस विशाल सत्संग में पवित्र धर्म के पवित्र सदग्रंथ, पवित्र गीताजी,पवित्र बाइबल, पवित्र कुरान शरीफ, पवित्र चार वेद, पवित्र 18 पुराण और 06 शास्त्रों के आधार पर अनुयायियों को शास्त्र भक्ति मार्ग पर चलने की प्रेरणा दी गई। आसपास के गांव से हजारों की संख्या में श्रद्धालु सत्संग सुनने के लिए आए सभी श्रद्धालुओं ने एलईडी के माध्यम से सत्संग को सुना और अमल करने का संकल्प लिया। गुरुवाणी को साक्षी मानकर दहेज मुक्त भारत अभियान के तहत संत रामपाल के अनुयाई शिवलाल दास की पुत्री रोशनी दासी ग्राम पेची तहसील चांचौड़ा (जिला गुना) का पप्पू लाल के पुत्र रविदास गांव उदोखेड़ी तहसील चांचौड़ा (जिला गुना) के साथ हुआ।
यह विवाह असुर निकंदन रमैनी (कबीर गुरुवाणी) से संपन्न हुआ। साधारण कपड़ों में बिना दिखावे पर फिजूलखर्ची के विवाह 17 मिनट में संपन्न किया। यह एक आडंबर और दहेज मुक्त शादी रही, जो एक मिसाल बनी मानव समाज के लिए, इस विवाह से गरीब और कन्या को बोझ समझने वाले लोगों के लिए एक संदेश संत रामपाल महाराज के शिष्यों ने दिया कि बेटा या बेटी में कोई फर्क नहीं है इस शादी की व्यवस्था बहुत ही साधारण और सादगी युक्त थी। समाज में दहेजप्रथा व अन्य कुरीतियों जो कि समाज के लिए नाश का कारण है, संत रामपाल जी महाराज के अनुयाई इन बुराइयों को विश्व स्तर पर समाप्त कर रहे हैं।
यह भी पढ़ें : 140 की स्पीड से दौड़ा इंजन, अब ग्वालियर तक चलेगी ट्रेन

जिला सेवादार करणदास, राजारामदास ने बताया है कि संत रामपाल के आशीर्वाद से गुना जिला ही नहीं बल्कि नेपाल, अमरीका, कनाडा, पाकिस्तान आदि देशों में हजारों दहेज रहित विवाह बिन बारात, बिना बैंडबाजा, बिना दहेज से कराए जाते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Drone Festival: दिल्ली के प्रगति मैदान में भारत के सबसे बड़े ड्रोन फेस्टीवल का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदीपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातपहली बार हिंदी लेखिका को मिला अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार, एक मॉं की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीमहरौली में गैस पाइपलाइन में लीकेज के बाद जोरदार धमाका लगी आग, एक घायलमानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.