scriptशहर के लिए E-rickshaw बन गया है सिर दर्ज, पुलिस व प्रशासन को लेना पड़ा बड़ा फैसला, अब कितनी आसार होगी आपकी राह, जानिए पूरा मामला | E-rickshaw | Patrika News
ग्वालियर

शहर के लिए E-rickshaw बन गया है सिर दर्ज, पुलिस व प्रशासन को लेना पड़ा बड़ा फैसला, अब कितनी आसार होगी आपकी राह, जानिए पूरा मामला

E-rickshaw has become a major concern for the city, police and administration had to take a big decision, now what will be your chances, know the whole matter. प्रशासन व पुलिस ने ई रिक्शा के पंजीयन के लिए सख्त रुख अख्तियार किया है। अब 23 से 29 जून के बीच शहर के छह स्थानों पर […]

ग्वालियरJun 22, 2024 / 11:18 am

Balbir Rawat

E-rickshaw has become a major concern for the city, police and administration had to take a big decision, now what will be your chances, know the whole matter.

प्रशासन व पुलिस ने ई रिक्शा के पंजीयन के लिए सख्त रुख अख्तियार किया है। अब 23 से 29 जून के बीच शहर के छह स्थानों पर ई रिक्शा के लिए नाके लगाए जाएंगे। नाके पर ई रिक्शा को पकड़कर पंजीयन कराया जाएगा। पहले पंजीयन कराने वाले को रूट पर चलने की पहली प्राथमिकता मिलेगी। 29 जून के बाद बिना रजिस्ट्रेशन के ई रिक्शा शहर में चलाया जाता है तो उसे जब्त कर लिया जाएगा


E-rickshaw has become a major concern for the city, police and administration had to take a big decision, now what will be your chances, know the whole matter.

प्रशासन व पुलिस ने ई रिक्शा के पंजीयन के लिए सख्त रुख अख्तियार किया है। अब 23 से 29 जून के बीच शहर के छह स्थानों पर ई रिक्शा के लिए नाके लगाए जाएंगे। नाके पर ई रिक्शा को पकड़कर पंजीयन कराया जाएगा। पहले पंजीयन कराने वाले को रूट पर चलने की पहली प्राथमिकता मिलेगी। 29 जून के बाद बिना रजिस्ट्रेशन के ई रिक्शा शहर में चलाया जाता है तो उसे जब्त कर लिया जाएगा।
कलेक्टर रुचिका चौहान ने शुक्रवार को पुलिस, नगर निगम व स्मार्ट सिटी अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में ई रिक्शा के पंजीयन की स्थिति बताई गई। 12 जून से ई रिक्शा का पंजीयन हजीरा, महाराज बाड़ा, थाटीपुर, गोला का मंदिर, बहोड़ापुर में शुरू किया गया। आठ दिन में पंजीयन की स्थिति काफी चिंताजनक रही। कलेक्टर ने मौके पर पकडकऱ पंजीयन कराने का आदेश दिया है।
शुक्रवार क बाल भवन में आयोजित हुई बैठक में नगर निगम आयुक्त हर्ष सिंह, स्मार्ट सिटी की सीईओ नीतू माथुर, अपर आयुक्त नगर निगम मुनीष सिकरवार व क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी एच के सिंह सहित जिला प्रशासन, नगर निगम, पुलिस एवं यातायात व्यवस्था से जुड़े अधिकारी मौजूद थे।

विंड स्क्रीन पर पंजीयन करना होगा चस्पा

बैठक में स्पष्ट किया गया कि ई-रिक्शा के आगे वाली विंड स्क्रीन पर मूल पंजीयन पत्र चस्पा करना होगा। पंजीयन की अंतिम तिथि के बाद शहर भर में अभियान बतौर ई-रिक्शा का निरीक्षण किया जाएगा। जो ई-रिक्शा बगैर पंजीयन के मिलेंगे, उनके खिलाफ जब्ती की कार्रवाई की ाजएगी।
– शहर में नाबालिगों से ई-रिक्शा चलवाए जा रहे हैं। इससे दुर्घटना की संभावना बन रही है। नाबालिगों से ई रिक्शा चलवाया गया तो कार्रवाई की जाएगी।

-यातायात व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए ई-रिक्शा रूट निर्धारित किए जा रहे हैं। पंजीकृत ई-रिक्शा में से लॉटरी निकालकर यह तय किया जाएगा कि कौन सा ई-रिक्शा किस रूट पर चलेगा।

इन जगहों पर नाके लगाकर किया जाएगा पंजीयन

हजीरा, गोले का मंदिर, फूलबाग चौराहा, महाराज बाड़ा व आमखो पर नाका लगाया जाएगा। इन जगहों पर पंजीयन किया जाएगा। ई-रिक्शा पंजीयन की मॉनीटरिंग का काम स्मार्ट सिटी के कंट्रोल एवं कमांड सेंटर के माध्यम से होगा।
-कलेक्टर ने पंजीयन स्थलों एवं तिथियों के बारे में स्मार्ट सिटी के आइटीएमएस पब्लिक एनाउंसमेंट सिस्टम से व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए हैं।

-कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने बैठक में कहा कि भ्रमित करने वाले लोगों को खुफिया तौर पर चिह्नित किया जा रहा है। शहर की यातायात व्यवस्था को बेहतर बनाने एवं ई-रिक्शा चालकों के हित में ई-रिक्शा का पंजीयन कर रूट निर्धारित किए जा रहे हैं।

Hindi News/ Gwalior / शहर के लिए E-rickshaw बन गया है सिर दर्ज, पुलिस व प्रशासन को लेना पड़ा बड़ा फैसला, अब कितनी आसार होगी आपकी राह, जानिए पूरा मामला

ट्रेंडिंग वीडियो