ऑनलाइन शॉपिंग करने से पहले इन बातों रखें ध्यान, वरना हो सकता है भारी नुकसान

ऑनलाइन चीजें खरीदने या बेचने के लिए कई मोबइल एप्स है, जिनपर आप जरूरत की हर चीज अपने बजट के अनुसार खरीदते हैं। हालांकि, कई बार इस तरह की खरीदारी करने वालों के साथ फ्रॉड के मामले भी सामने आ चुके हैं।

By: Faiz

Published: 19 Feb 2020, 03:12 PM IST

ग्वालियर/ आजकल शहरों की अधिकतर आबादी ऑनलाइन शॉपिंग को चीज खीदने या बेचने का बेहतर विकल्प मान रही है। इसमें कोई संकोच नहीं कि, इसके जरिये आमजन की बड़ी समस्याओं का समाधान हुआ है। अब व्यक्ति किसी भी स्थान पर रहकर घर बैठ किफायती दामों पर अपनी पसंदीदी चीज खरीद सकता है। इससे समय और पैसे दोनो की ही बचत होती है। अकसर लोग ऑनलाइन शॉपिंग के जरिये यूस्ड प्रॉडक्ट भी खरीदते हैं। ऑनलाइन चीजें खरीदने या बेचने के लिए कई मोबइल एप्स है, जिनपर आप जरूरत की हर चीज अपने बजट के अनुसार खरीदते हैं। हालांकि, कई बार इस तरह की खरीदारी करने वालों के साथ फ्रॉड के मामले भी सामने आ चुके हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- अनोखी शादी : न लिए सात फेरे, न पहनाया मंगलसूत्र, संविधान की शपथ लेकर दूल्हा-दुल्हन ने की शादी


ये मामले आए सामने

मध्य प्रदेश में भी यूस्ड प्रॉडक्ट की ऑनलाइन शॉपिंग एप्स पर कई फ्रॉड के मामले सामने आ चुके हैं। जिले में ताजा मामला सामने आया जहां सेलर ने अच्छी चीज सस्ते दामों पर दिखाकर खरीदार को लालच दिया बाद में खुद को आर्मी जवान बताकर एडवांस पैमेंट की मांग की। सस्ते सामान के लालच में आकर खरीदार द्वारा एडवांस पैमेंट करने के बाद उसे तय समय पर सामान ही नहीं पहुंचाया गया। पड़ताल करने पर सामने आया कि, वो सेलर फ्रॉड था। इस बात को बताने का उद्देश्य ये है कि, ऑनलाइन बाजार से सस्ता सामान खरीदने से पहले काफी सावधान रहने की जरूरत है। पिछले कुछ समय में इस तरह से लोगों को ठगा जा रहा है। जिला सायबर सेल में ही हर साल औसतन 30 से 35 मामले सामने आते हैं। प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, इस तरह की धोखाधड़ी में साल दर साल बढ़ोतरी हो रही है।

 

पढ़ें ये खास खबर- नि:संतान दंपती की सूनी गोद भरने के लिए दवा बनवा रही है सरकार


ऐसे करते हैं ठगी

जैसे शॉपिंग ऐप पर किसी ने एक लेटेस्ट मॉडल आईफोन सेल करने के लिए पोस्ट किया। सिर्फ एक महीने पुराना मोबाइल जिसकी बाजार में कीमत 50 हजार रुपए थी उसे सिर्फ 25 हजार रुपए ऑफर के साथ डाला। सस्ते में आईफोन देखकर जब कोई कॉल कर खरीदने की इच्छा जताता है तो सेल करने वाला खुद को आर्मी जवान बताकर राजस्थान में पदस्थ बताता है फिर कहता है कि कश्मीर ट्रांसफर हो गया है। वहां फोन की परमिशन नहीं है इसलिए बेचना पड़ रहा है। इसके बाद एडवांस में आधा पैमेंट करने की बात कहकर मोबाइल कोरियर करने की बात कहता है। सस्ते दामों की लालच में आकर खरीदार द्वारा केश डालते ही सामने से जवाब आना बंद हो जाता है। ग्वालियर एसपी नवनीत भसीन ने बताया कि, अब तक ठगी के कई मामले सामने आ चुके हैं, जिसपर क्राइम ब्रांच और सायबर एक्सपर्ट की टीमें संयुक्त जांच में जुटी हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- 8 साल की उम्र से लगाई नशे की लत, फिर देह व्यापार में धकेला, महिला समेत 3 पर केस दर्ज


इस तरह के मामले रहे चर्चित

-केस-1

6 जून 2019 महाराजपुरा वायुनगर निवासी रिटायर्ड एयरफोर्स कर्मचारी संजय सिंह (52) ने अपना फर्नीचर बेचने के लिए ऑनलाइन शापिंग एप OLx पर शेयर किया, जिसे खरीदने के लिए ग्राहर का कॉल आया। सेलर ने बताया कि, वो अजमेर में रहता है। आलीशान फर्नीचर की डील 23 हजार रुपए में तय हुई। सेलर ने एडवांस में पैमेंट करने की बात कहकर सोफा घर से उठाने का ऑफर दिया। पैमेंट करने फोन पे वॉलेट लिंक भेजा। संजय से ओटीपी पूछा और उनके खाते से 23 हजार निकल गए। इस पर संजय ने उसे कॉल किया तो वह बोला अरे सर धोखे से कैश उल्टा आ गया। आप के मोबाइल पर मैसेजे आएगा वह मुझे बता देना कैश वापस कर देता है। फिर डिटेल बताई तो 20 हजार और निकल गए।

-केस-2

हजीरा मल्लगढ़ा निवासी राजकुमार परिहार के मकान में राम अग्रवाल किराए से रहते हैं। कुछ समय पूर्व राजकुमार ने अपना एक आईफोन सेल के लिए ओएलएक्स पर पोस्ट किया था। 17 सितंबर 2019 को उनके मोबाइल पर कॉल काया। फोन खरीदने में सामने वाले ने रूचि दिखाई और खुद को अजमेर में पदस्थ आर्मी जवान बताया। फोन पे से एडवांस में पैमेंट करने की बात कही। लेकिन राजकुमार फोन पे नहीं चलाते थे। उन्होंने अपने किराएदार राम को बताया कि एक पैमेंट उसके फोन पे वॉलेट में कर रहा है। इसके बाद राम के मोबाइल पर लिंक भेजी। लिंक उन्होंने मकान मालिक और उन्होंने कॉल करने वाले को दी। जिसके बाद किराएदार के फोन पे वॉलेट से 80 हजार रुपए ठग लिए गए।

 

पढ़ें ये खास खबर- इंदौरी पत्नियां सबसे ज्यादा करती हैं अपने पति को परेशान


इस बातों का रखें ध्यान

- किसी एप से सामान खरीदने या बेचने के दौरान सामने वाले को ओटीपी शेयर करने से बचे।

- किसी भी लिंक को ना ही शेयर करें साथ ही इन लिंक्स को क्लिक भी न करें।

- एडवांस पैमेंट के लालच में तो बिल्कुल भी न आएं, फिजिकल विजिट के बाद ही प्रोडक्ट बेंचे

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned