पानी चोरी रोकने को लेकर कलक्टर ने दस निगरानी दलों का किया गठन

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. सिद्धमुख सिंचाई परियोजना क्षेत्र में नहरी पानी चोरी करने वालों की अब खैर नहीं होगी। जिला कलक्टर जाकिर हुसैन ने नहरी पानी चोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। एडीएम नोहर को इसका प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया है।

 

By: Purushottam Jha

Published: 21 Oct 2020, 09:40 AM IST


-सिद्धमुख सिंचाई परियोजना क्षेत्र में बढ़ रही ही चोरी
हनुमानगढ़. सिद्धमुख सिंचाई परियोजना क्षेत्र में नहरी पानी चोरी करने वालों की अब खैर नहीं होगी। जिला कलक्टर जाकिर हुसैन ने नहरी पानी चोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। एडीएम नोहर को इसका प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया है। उन्हें निर्देशित किया गया है कि वह सिंचाई विभाग के अधिकारियों, क्षेत्र के उपाधीक्षकों, थानाधिकारियों को शामिल करते हुए पानी चोरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाएं। साथ ही गिरदावरों, पटवारियों को पानी चोरी के चिन्हित स्थानों पर तैनात कर पानी चोरों के खिलाफ कारवाई करें। जिला पुलिस अधीक्षक ने नोहर भादरा क्षेत्र के लिए 20-20 पुलिस कार्मिकों का जाप्ता उपलब्ध करवाया है। सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि पानी चोरी करने वाले लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाएं। साथ ही पानी चोरी में प्रयुक्त होने वाले मोटर, डीजल पंप, पाइप, ट्रेक्टरों को जब्ती की कार्रवाई अमल में लाएं। जिला कलक्टर ने सीईओ जिला परिषद को आवश्यकता पडऩे पर संसाधन उपलब्ध करवाने व पानी चोरों के खिलाफ कार्रवाई में आवश्यकता पडऩे पर ग्रामीण विकास के अधिकारियों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कहा है। कलक्टर ने जल संसाधन के मुख्य अभियंता के द्वारा नहर के दोनों ओर के पटड़ों को मोटरेबल बनाने के लिए मनरेगा के तहत प्रस्ताव पर स्वीकृत्तियां तत्काल जारी कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर के निर्देश पर सिद्धमुख सिंचाई परियोजना क्षेत्र में नहरी पानी चोरों पानी चोरी की रोकथाम को लेकर दस निगरानी दलों का गठन किया गया है। दो दल सिद्धमुख फीडर और शेष आठ निगरानी दल रासलाना वितरिका की निगरानी के लिए बनाए गए हैं। निगरानी दलों में सिंचाई, राजस्व और पुलिस विभाग के 4-4 अधिकारियों, कार्मिकों को शामिल करते हुए एक जगह के लिए दो-दो टीमें बनाई गई है। सिद्धमुख फीडर की टीम का कैंप स्थल आरडी 35 -रतनपुरा हैड रहेगा। वहीं रासलाना वितरिका की निगरानी के लिए बनाए गए चार दलों का कैंप स्थल डोबी हैड, बोझळा हैड, नथवानिया हैड और किमी 16 से 20 पर रहेगा। कलक्टर ने निर्देशित किया है कि उक्त दल दिन रात गश्त करेंगे और दैनिक रिपोर्ट नोहर एडीएम को देंगे। साथ ही निर्देशित किया है कि पानी चोरी की स्थिति में उसकी रिपोर्ट मौके पर ही बनाकर एडीएम को नोहर को दी जाएगी। सभी एसडीएम, उपाधीक्षक, अधिशाषी अभियंता व तहसीलदार द्वारा प्रभावी गश्त की जाएगी। एडीएम नोहर को समस्त व्यवस्थाओं की प्रभावी मॉनिटरिंग करने के साथ साथ आवश्यक कार्मिक लगाए जाने के लिए निर्देशित किया है।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned