अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री पकड़ी, तीन जने गिरफ्तार, दो फरार

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. अवैध हथियारों की धरपकड़ के लिए चल रहे अभियान के तहत सदर थाना पुलिस को शनिवार रात बड़ी सफलता हाथ लगी। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने चक 35 एसएसडब्ल्यू में अवैध हथियार बनाने का लघु कारखाना पकड़ा। अवैध हथियार, कारतूस तथा हथियार बनाने में इस्तेमाल सामग्री व उपकरण जब्त किए गए।

By: adrish khan

Published: 23 Aug 2020, 01:28 PM IST

अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री पकड़ी, तीन जने गिरफ्तार, दो फरार
- आरोपी ने अपनी ढाणी में बना रखी थी हथियार बनाने की फैक्ट्री
- तीनों आरोपी हनुमानगढ़ टाउन व सदर थाना क्षेत्र स्थित गांवों के निवासी
हनुमानगढ़. अवैध हथियारों की धरपकड़ के लिए चल रहे अभियान के तहत सदर थाना पुलिस को शनिवार रात बड़ी सफलता हाथ लगी। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने चक 35 एसएसडब्ल्यू में अवैध हथियार बनाने का लघु कारखाना पकड़ा। अवैध हथियार, कारतूस तथा हथियार बनाने में इस्तेमाल सामग्री व उपकरण जब्त किए गए। मौके से पुलिस ने तीन जनों को गिरफ्तार किया। जबकि दो जने मौके से फरार होने में कामयाब हो गए। पुलिस उनके छिपने के संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है।
सदर थाना प्रभारी लखवीर सिंह ने बताया कि एसपी राशि डोगरा के नेतृत्व में अवैध हथियारों की खरीद-फरोख्त व निर्माण पर लगाम को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत मुखबिर से सूचना मिली कि थाना क्षेत्र के चक 35 एसएसडब्ल्यू रोही सहजीपुरा में अवैध हथियार बनाने का कारखाना संचालित किया जा रहा है। इस पर पुलिस दल ने जसकरण सिंह उर्फ जस्सा (32) पुत्र भगवानसिंह मुंदडिय़ा की चक 35 एसएसडब्ल्यू रोही सहजीपुरा स्थित ढाणी में दबिश दी। वहां से एक एयर गन, एक 315 बोर जिंदा कारतूस, एक 12 बोर खाली कारतूस, देशी पिस्तौल की तीन बैरल, तीन ट्रिगर, तीन हैम्मर, तीन लोहे की कमाणी तथा अन्य सामग्री व औजार बरामद किए गए। इस संबंध में पुलिस ने मौके से ढाणी मालिक जसकरण सिंह उर्फ जस्सा तथा गुरदीप सिंह उर्फ हैप्पी (20) पुत्र नक्षत्र सिंह निवासी फतेहगढ़ पुरुषोत्तमबास थाना टाउन व गंगाजल उर्फ गंगला (25) पुत्र लालचंद निवासी गंगागढ़ थाना टाउन को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने उनको रविवार को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश कर रिमांड मंजूर कराया। आरोपियों से हथियारों की बिक्री, हथियार निर्माण की सामग्री खरीद आदि को लेकर पूछताछ की जा रही है। सदर थाना प्रभारी लखवीर सिंह ने बताया कि आरोपियों ने अब तक कितने व किसको हथियार बनाकर बेचे हैं, इसको लेकर जांच-पड़ताल की जा रही है। रिमांड अवधि के दौरान आरोपियों से इस संबंध में महत्वपूर्ण सुराग मिलने की संभावना है। हथियार फैक्ट्री में अन्य लोगों की संलिप्तता की भी जांच की जा रही है। पुलिस कार्रवाई दल में थाना प्रभारी लखवीर सिंह, हैड कांस्टेबल राजाराम, कांस्टेबल रामनारायण, कैलाश, शुभम व सुनील कुमार शामिल रहे।

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned