पैसों व शराब के लिए साधु वेशधारी ने की हत्या

पैसों व शराब के लिए साधु वेशधारी ने की हत्या

- बीकानेर से पहुंची जीआरपी कर रही है जांच

- पोस्टमॉर्ट्म करवाकर परिजनों को सौंपा शव

By: Manoj

Published: 18 Oct 2020, 07:49 PM IST

हनुमानगढ़/ संगरिया. शराब का नशा इतना घातक है कि आदमी की सोचने-समझने की शक्ति जवाब दे जाती है। जब पैसों का मामला हो तो यही नशा सिर चढ़कर बोलने लगता है। कुछ ऐसा ही शनिवार शाम पांच बजे रेलवे ओवरब्रिज नीचे हुआ। जब साधुवेशधारी हरियाणा के गांव बणी निवासी बूटासिंह ने शराब के नशे में पैसों की खातिर रतनपुरा गांव निवासी कृष्णलाल मेघवाल (४८) पुत्र हरचंद की लोहे की रॉड मारकर हत्या कर दी। हालांकि कुछ देर पहले तक आरोपी रेलवे ट्रेक पर बैठकर शराब पीते हुए बतिया रहा था। अचानक पैसों के लिए हुए विवाद का अंत कृष्ण की मौत के रुप में सामने आया। जीआरपी हनुमानगढ़ ने हत्या का मामला दर्ज किया। जांच में पता चला कि सार्दुल ब्रांच नहर समीप ढाणी में आरोपी के रिश्तेदार रहते हैं। इसके पास ही आरोपी की कुटिया है। पुलिस इसकी पुष्टि कर रही है।


रेलवे पुलिस कर रही जांच
थाना प्रभारी इंद्रकुमार की सूचना पर रविवार सुबह बीकानेर से रेलवे पुलिस के डीएसपी नरेंद्र कुमार, थाना प्रभारी नेहा राजपूत, हवलदार कल्याणमल, राजेंद्रसिंह व सतीशकुमार राजकीय अस्पताल पहुंचे। उन्होंने परिजनों के बयान लेकर बाद पंचनामा व पोस्टमॉर्ट्म करवा शव परिजनों को सौंपा। हत्या में प्रयुक्त लोहे की रॉड, खून सने कपड़े व अन्य सामान जब्त कर लिया। ओवरब्रिज के नीचे मौका निरीक्षण कर विस्तृत जांच रिपोर्ट तैयार की। आरोपी को अपने साथ हनुमानगढ़ जीआरपी ले गई। वहीं दो प्रत्यक्षदर्शियों को राउंडअप कर पूछताछ के लिए ले गई। सीओ नरेंद्र कुमार ने बताया कि हत्या मामले की पूरी छानबीन के बाद तथ्य एवं साक्ष्यों के साथ आरोपी को न्यायालय में सोमवार सुबह पेश कर रिमांड पर लेंगे। रतनपुरा के वार्ड पांच निवासी मृतक कृष्णलाल के पुत्र संदीप कुमार ने पुलिस को दी रिपोर्ट में आरोप लगाया है कि उसके पिता पांचवे हिस्से की जमीन लेकर काश्त करते थे। शनिवार दोपहर ऊधमसिंह चौक पर वे सामान लेने घर से आए थे।


आरोपी बूटा सिंह नामक साधु वेशधारी ने उन्हें रोककर पैसे मांगे। इंकार करने पर उनमें पैसों को लेकर झगड़ा हो गया। गुस्से में आए बूटासिंह ने कृष्णलाल के सिर में कांच की बोतल मार दी फिर जेब से सात सौ रुपए निकाल लिए। पिता ने विरोध किया तो आरोपी ने लोहे की रॉड से वार कर दिए। इससे खून बहने लगा। घायल होकर नीचे गिरे मृतक ने कुछ देर में दम तोड़ दिया। ये सब देखकर बूटासिंह वहीं पर ७०० रुपए फेंककर भाग गया। जिसे मौके पर मौजूद सूर्यप्रकाश व पूर्णचंद ने अपनी आंखों से देखा है। शोर मचने पर ऊधमसिंह पुलिस नाका पर तैनात पुलिसकर्मियों हवलदार सांवरमल शर्मा व कांस्टेबल प्रवीण ने उसे दबोच लिया, नहीं तो वह मौके से फरार हो जाता। [पसं.]

Manoj Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned