रिकॉर्ड डोज तो रिकॉर्ड टीकाकरण, रोज मिले डोज तो बने बात

हनुमानगढ़. रिकॉर्ड संख्या में जिले को जब कोविड-19 वैक्सीन की डोज मिली तो वैक्सीनेशन का भी रिकॉर्ड ही बना। इसके अलावा बाकी दिन तो टीकाकरण के लिए इंतजार ही करना पड़ रहा है। जिले में रविवार को टीकाकरण हुआ था। अब गुरुवार को ही टीकाकरण हुआ।

By: adrish khan

Published: 22 Jul 2021, 08:49 PM IST

रिकॉर्ड डोज तो रिकॉर्ड टीकाकरण, रोज मिले डोज तो बने बात
- खपत क्षमता एवं मांग के अनुरूप निरंतर नहीं वैक्सीन की डोज आपूर्ति
- अब तक बहुत कम दफा सभी केन्द्रों पर एक साथ टीकाकरण लायक मिली है वैक्सीन
हनुमानगढ़. रिकॉर्ड संख्या में जिले को जब कोविड-19 वैक्सीन की डोज मिली तो वैक्सीनेशन का भी रिकॉर्ड ही बना। इसके अलावा बाकी दिन तो टीकाकरण के लिए इंतजार ही करना पड़ रहा है। जिले में रविवार को टीकाकरण हुआ था। अब गुरुवार को ही टीकाकरण हुआ। जिले में बनाए गए सभी टीकाकरण केन्द्रों पर एक साथ वैक्सीन लगाने के मौके बहुत कम आए हैं। अब तक तो अधिकांशत: यही स्थिति रही है कि पर्याप्त वैक्सीन डोज की सप्लाई के अभाव में निर्धारित केन्द्रों में से बमुश्किल आधों पर ही टीकाकरण हो पाता है।
यह स्थिति है जिले में कोविड-19 टीकाकरण की। चिकित्सा विभाग तो जिले में शेष टीकाकरण इसी साल में पूर्ण करने में सक्षम है। मगर वैक्सीन की सप्लाई निरंतर एवं खपत के अनुरूप नहीं होने से चिकित्सा विभाग भी पूरी क्षमता के अनुरूप टीकाकरण नहीं करवा पा रहा है। यदि वैक्सीन सप्लाई नियमित नहीं रही तो जिले के सभी पात्र लोगों का अगले साल तक भी वैक्सीन की दोनों डोज लगने में संदेह है।
क्षमता तो खूब, डोज नहीं
टीकाकरण को लेकर जिले में चिकित्सा विभाग ने जो व्यवस्थाएं कर रखी हैं, उसके हिसाब से तो 40 हजार से भी ज्यादा टीके एक ही दिन में लगाए जा सकते हैं। ऐसा इसी रविवार को किया जा चुका है। सामान्य ढंग से भी तीस हजार से अधिक का टीकाकरण प्रतिदिन नियमित रूप से करने में चिकित्सा विभाग की टीम सक्षम है। चिकित्सा विभाग ने 234 के करीब टीकाकरण केन्द्र बना रखे हैं। इन सभी केन्द्रों पर एक साथ टीकाकरण वास्ते जितनी वैक्सीन डोज चाहिए, उतनी नियमित रूप से नहीं मिल रही है। वैक्सीन की सप्लाई कम होने के कारण अधिकांशत: सौ से भी कम सेंटर पर ही टीकाकरण किया जाता है। हालांकि वैक्सीन सप्लाई पहले की तुलना में जरा सी सुधरी है।
कितनों को लगे टीके
संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान बिगड़ी स्थिति एवं तीसरी लहर की चेतावनी के दृष्टिगत वैक्सीनेशन के प्रति जागरुकता बढ़ गई है। जिले की आबादी बीस लाख से अधिक है। अब तक जिले में 562439 को पहली डोज लग चुकी है। जबकि 115566 को द्वितीय डोज लगाई जा चुकी है। आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह ने बताया कि जिले को बुधवार शाम तक वैक्सीन की सप्लाई मिलेगी। इससे गुरुवार को टीकाकरण किया जा सकेगा।
रात को ही कतार
वैक्सीनेशन सेंटर के बाहर रात में या तड़के कूपन लेने वालों की कतार लग जाती है। जिले में कई जगहों पर ऐसा हो चुका है जो निरंतर जारी भी है। क्योंकि हवाई यात्रा, प्रतियोगी सहित अन्य परीक्षाओं में प्रवेश आदि में शामिल होने के लिए वैक्सीनेशन की अनिवार्यता के चलते टीके लगवाने वालों की कतार लग जाती है।

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned