दुनिया भर में एक बार फिर टूटा कोरोना का कहर, एक दिन में रेकॉर्ड सबसे ज्यादा मामले आए सामने

वर्ल्ड हैल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने कहा कि बुधवार को अब तक एक दिन में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमितों के मामले सामने आए हैं जो अच्छे संकेत नहीं है।

By: Mohmad Imran

Updated: 21 May 2020, 05:26 PM IST

हाल ही विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि नोवेल कोरोनवायरस की चेन टूटने के महीनों बीत जाने के बाद बुधवार को कोरोना संक्रमितों के मामलों में अचानक वैश्विक स्तर पर सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गए। डब्लूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अदनोम घेबियस ने कहा कि बीते 24 घंटों में नोवेल कोरोनवायरस के लगभग 1,06,662 नए संक्रमण रोगी सामने आए हैं। यह एक दिन में सामने आने वाला अब तक का सबसे ऊंचाआंकड़ा है। इसके साथ ही दुनिया में कोविड-19 संक्रमण के दुनिया भर में 5 मिलियन (5,108,945) से ज्यादा मामले सामने आ चुके है। वहीं बात करें भारत की तो सरकारी रिपोर्ट में दर्ज कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 1,10,000 से अधिक है।

दुनिया भर में एक बार फिर टूटा कोरोना का कहर, एक दिन में रेकॉर्ड सबसे ज्यादा मामले आए सामने

इस बीच, डब्ल्यूएचओ को अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का एक पत्र भी मिला हैए जिसने संगठन को मामले की जांच करने के लिए 30 दिनों का अल्टीमेटम दिया गया है। भारत में अब तक कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 3400 के पार हो गई है। जबकि पूरे भारत में 45,000 से अधिक लोग स्वस्थ होकर अपने घर भी लौट आए हैं। कोरोना से सबसे ज़्यादा प्रभावित देशों की सूची में भारत 11 वें स्थान पर आ गया है।

दुनिया भर में एक बार फिर टूटा कोरोना का कहर, एक दिन में रेकॉर्ड सबसे ज्यादा मामले आए सामने

41 से 10 लाख तक का सफर
चीन के वुहान शहर से कथित तौर पर दिसंबर में कोरोना कोरोनावायरस का पहला मामला सामने आया था और 10 जनवरी को यह बढ़कर 41 हो गया था। हालांकि, दुनिया में कोरोनोवायरस के 10 लाख मामले के आंकड़े तक पहुंचने में सिर्फ तीन महीने लगे। 1 अप्रैल को दुनिया भर में 10 लाख संक्रमित हो चुके थे। गंभीर फ्लू के मामलों की तुलना में, नोवेल कोरोना वायरस ने 6महीने से भी कम समय में लाखों लोगों को अपनी चपेट में ले लिया था।

दुनिया भर में एक बार फिर टूटा कोरोना का कहर, एक दिन में रेकॉर्ड सबसे ज्यादा मामले आए सामने

कोरोना का अभी उपचार नहीं
वर्तमान में कोविड-19 वायरस का कोई प्रभावी टीका या इलाज नहीं मिल सका है। वैश्विक स्तर पर फैलने के पांच महीनों के भीतर कोरोनावायरस दुनिया भर में 50 लाख से ज्यादा लोगों को प्रभावित कर चुका है। हालांकि, स्थिति हर गुजरते दिन के साथ बदतर होती जा रही है क्योंकि अभी तक कोई अनुमोदित टीके या कोविड-19 के लिए उपचार नहीं है। वास्तव में, दुनिया भर में चल रहे लगभग 100 वैक्सीन प्रोजेक्ट्स के साथ विशेषज्ञों का मानना है कि एक सुरक्षित और प्रभावी टीका 12 महीने से 18 महीने से पहले नहीं बन सकता।

दुनिया भर में एक बार फिर टूटा कोरोना का कहर, एक दिन में रेकॉर्ड सबसे ज्यादा मामले आए सामने

एंटीबॉडी रिच प्लाज्मा थेरेपी एक आशा
एंटीबॉडी-समृद्ध प्लाज्मा थेरेपी भी एक संभावित उपचार है। प्लाज्मा थेरेपी ने तेलंगाना में कई रोगियों को स्वस्थ होने में कारगर इलाज का काम किया। इसे देखते हुए इसके उपयोग को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने मंजूरी दे दी। हालांकि, अगर उचित दिशा-निर्देशों के तहत प्लाज्मा थेरेपी का सही तरीके से उपयोग नहीं किया जाता है तो यह जीवन के लिए खतरे की घंटी भी हो सकती है।

दुनिया भर में एक बार फिर टूटा कोरोना का कहर, एक दिन में रेकॉर्ड सबसे ज्यादा मामले आए सामने
Mohmad Imran Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned