scriptCreatinine test for kidney function and health, Avoid Diet | kidney function Test: क्रिएटिनिन टेस्ट बताता है कितनी हेल्दी है आपकी किडनी, हाई लेवल में न करें इन चीजों का सेवन | Patrika News

kidney function Test: क्रिएटिनिन टेस्ट बताता है कितनी हेल्दी है आपकी किडनी, हाई लेवल में न करें इन चीजों का सेवन

Kidney Health Test: किडनी आपकी सही काम कर रही है या नहीं, इसका पता क्रिएटिनिन टेस्ट से चलता है। अगर क्रिएटिनिन लेवल हाई है तो इस स्थिति में डाइट पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

Published: May 04, 2022 04:27:13 pm

क्रिएटिनिन शरीर में केमिकल वेस्ट प्रोडक्ट होता है, जिसे किडनी फिल्टर कर शरीर से बाहर करती है। खून से फिल्टर हो कर ये क्रिएटिनिन यूरिन के जरिये बाहर निकलते हैं। लेकिन जब शरीर में क्रिएटिनिन लेवल बढ़ता है तो किडनी इसे पूरी तरह से बाहर नहीं कर पाती। शरीर में क्रिएटिनन के लेवल के आधार पर ही किडनी के फंक्शन का पता चलता है।
kidney_mmm.jpg
Creatinine test for kidney function and health
किडनी में करीब 11 लाख फिल्टर होते हैं, जिसे नेफ्रॉन कहते हैं। किडनी दिन में करीब 400 बार खून की सफाई करके गंदगी को बाहर निकालती है। शरीर में नमक और पानी को रेग्युलेट करती है। जरूरी हार्मोन्स बनाती है और शरीर में मिनरल्स के बैलेंस को भी ठीक रखती है। हाई क्रिएटिनिन लेवल आपकी किडनी में किसी तरह की समस्या होने का संकेत हो सकता है। क्रिएटिनिन लेवल कई कारणों से बढ़ सकती हैं । जिसमें ज्यादा प्रोटीन का सेवन करना, अधिक एक्सरसाइज के कारण भी बढ़ जाते है। खून में क्रिएटिनिन लेवल का पता सीरम क्रिएटिनिन टेस्ट के द्वारा किया जाता है।
क्रिएटिनिन लेवल हाई हो तो डाइट में इन चीजों को न करें शामिल

ज्यादा प्रोटीन का सेवन ना करें
अगर आपका क्रिएटिनिन बढ़ गया है तो अपनी डाइट में ऐसी चीजें कम शामलि करें जिसमें अधिक मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। ऐसे में आप अंडा, मीट, दालें, सोयाबीन आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।
नमक को अवॉयड करें

ज्यादा नमक का इस्तेमाल करने ब्लड प्रेशर बढ़ने की समस्या का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही इसका सेवन करने से किडनी पर भी बुरा असर पड़ता है। अगर आप प्राकृतिक रूप से क्रिएटिनिन लेवल को कम करना चाहते हैं तो नमक का सेवन न ही करें तो बेहतर है।
सोडियम से बचें
अधिक सोडियम वाली चीजों का सेवन करने से भी क्रिएटिनिन लेवल बढ़ जाता है। अधिक मात्रा में सोडियम लेने से शरीर में फ्लूइड और हेल्थ को हानि पहुंचाने वाले स्तर तक स्टोर करने लगता है। जिसके कारण हाई बीपी की समस्या का सामना कतरना पड़ता है।
एक्सरसाइज करें कम
जब भी आपका शरीर अधिक एक्सरसाइज करता है, तब ये काफी तेजी से फूड को एनर्जी में बदलने लगता है। जिसकी वजह से ज्यादा क्रिएटिनिन बनता है और ब्लड में क्रिएटिनिन की मात्रा बढ़ जाती है। इसलिए ज्यादा रनिंग, वेट लिफ्टिंग करने या बास्केट बॉल खेलने के बजाय योग और टहलें।
डिस्क्लेमर- आर्टिकल में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए दिए गए हैं और इसे आजमाने से पहले किसी पेशेवर चिकित्सक सलाह जरूर लें। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने, एक्सरसाइज करने या डाइट में बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.