scriptDeepika Priyanka Saif Salman suffer Obsessive Compulsive Disorder | दीपिका पादुकोण से प्रियंका चोपड़ा और सैफ अली खान तक, आब्सेसिव कंपल्सिव डिसॉर्डर से हैं ग्रस्त, जानिए क्या है ये सिंड्रोम | Patrika News

दीपिका पादुकोण से प्रियंका चोपड़ा और सैफ अली खान तक, आब्सेसिव कंपल्सिव डिसॉर्डर से हैं ग्रस्त, जानिए क्या है ये सिंड्रोम

Celebrities suffer from Obsessive Compulsive Disorder: क्या आपको पता है कि आपके चहेते कई बॉलीवुड स्टार्स को कुछ अजीब सी आदते हैं। ये आदत असल में आब्सेसिस कंपल्सिव डिसॉर्डर (Obsessive-Compulsive Disorder or OCD) हैं।

Published: May 07, 2022 02:21:38 pm

किसी भी काम की आदत जब जूनन या हद से ज्यादा बढ़ने लगती है तो ये एक सिंड्रोम में बदल जाती है। ये सिंड्रोम ही आब्सेसिस कंपल्सिव डिसॉर्डर कहलाता है। दीपिका पादुकोण से प्रियंका चोपड़ा और सलमान से लेकर सैफ अली खान और विद्या बालन तक आब्सेसिस कंपल्सिव डिसॉर्डर से ग्रस्त हैं।
celebrities_suffer_from_obsessive_compulsive_disorder.jpg
Deepika Priyanka Saif Salman suffer Obsessive Compulsive Disorder
अभिनेत्री विद्या को घर में बार-बार साफ-सफाई करने की आदत है। ऐसे ही अजय देवगन को बदबू करने वाली उंगलियां नहीं पसंद है। इसीलिए वह हाथ के बजाए चम्‍मच से खाना खाते हैं। वहीं प्रीति जिंटा के बारे में बताया जाता है कि वह बॉथरूम की सफाई को लेकर काफी ऑब्‍सेस्‍ड हैं।
दीपिका पादुकोण सामान को अरेंज करने को लेकर जूननी हैं। जबकि सैफ अली खान को बॉथरूम में घंटों बैठे रहना अच्‍छा लगता है। सनी लियोनी को बार-बार हाथ- पैर धोने की धुन रहती है तो सलमान खान को साबुन इकट्ठे करने का जूनन है। प्रियंका चोपड़ा कटलरीज और नैपकिंस इकट्ठे करने की अजीब सी आदत है। तो चलिए जानें कि ये आब्सेसिस कंपल्सिव डिसॉर्डर है क्या और इसका इलाज क्या है।
आब्सेसिस कंपल्सिव डिसॉर्डर क्या है
आब्सेसिव कंपल्सिव डिसॉर्डर नामक गंभीर मनोवैज्ञानिक समस्या का लक्षण है। इससे ग्रस्त व्यक्ति एक ही क्रिया को लगातार दोहराने लगता है।

क्यों होता है ऐसा
मनोविज्ञान में इस बीमारी को साइको न्यूरॉटिक डिसॉर्डर मानते हैं। इससे ग्रस्त लोग बिलकुल सामान्य दिखते हैं और दूसरों के साथ अपनी परेशानी के बारे में बताने से भी नहीं हिचकते। इसके लिए केवल कोई एक कारण नहीं होता। घर के माहौल से लेकर बच्चों की सख्त परवरिश, निराशा, असुरक्षा, भय और असंतुष्टि जैसी कई नकारात्मक भावनाएं इसके लिए जिम्मेदार होती हैं। चिंता और तनाव एक बड़ा कारण होता है। टीनएजर्स और पेरेंट्स में कम्युनिकेशन गैप इसकी बड़ी वजह हो सकती है।
ओसीडी के लक्षण
इसके लक्षण लोगों पर अलग-अलग होते हैं। किसी को ज्य़ादा सफाई पसंद होना, बार-बार हाथ धोने या फर्श पर पोंछा लगाने या किसी एक काम में परफेकशन को लेकर पागलपन होना। ऐसे लोगों को अगर कोई समझाने की कोशिश करता है तो वे बुरी तरह नाराज़ हो जाते हैं। इसी तरह अगर कोई स्वयं को असुरक्षित महसूस करता है तो वह अपनी रखी चीज़ों को बार-बार संभालता रहता है।
क्या है नुकसान
ये आदत जब सनक में बदलती है तो इससे कई परेशानियां हो सकती हैं। इससे पीडि़त व्यक्ति के लिए अपनी ऑब्सेसिव सोच या क्रियाओं को नियंत्रित करना असंभव होता है। अगर मरीज़ को ऐसा करने से रोका जाता है तो उसे बहुत बेचैनी महसूस होती है और कई बार उसका व्यवहार हिंसक हो जाता है। नतीजतन इस समस्या से ग्रस्त लोगों के निजी और प्रोफेशनल संबंध तनावपूर्ण हो जाते हैं। उनकी पूरी दिनचर्या अस्त-व्यस्त हो जाती है, उसे जिस किसी कार्य का ऑब्सेशन हो जाता है, वह उसके सिवा कोई दूसरी बात सोच भी नहीं पाता। इससे अनिद्रा, भोजन में अरुचि, चिड़चिड़ापन, सिरदर्द और थकान जैसी समस्याएं भी उसे परेशान करने लगती हैं।
क्या है उपचार
साइको थेरेपी के साथ मेडिकेशन से ये समस्या काबू में की जा सकती है।

डिस्क्लेमर- आर्टिकल में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए दिए गए हैं और इसे आजमाने से पहले किसी पेशेवर चिकित्सक सलाह जरूर लें। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने, एक्सरसाइज करने या डाइट में बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिंदे खेमे में आ चुके हैं सरकार बनाने भर के विधायक! फिर क्यों बीजेपी नहीं खोल रही अपने पत्ते?Maharashtra Political Crisis: ‘मातोश्री’ में मंथन! सड़क पर शिवसैनिकों के उपद्रव का डर, हाई अलर्ट पर मुंबई समेत राज्य के सभी पुलिस थानेMaharashtra Political Crisis: 24 घंटे के अंदर ही अपने बयान से पलट गए एकनाथ शिंदे, बोले- हमारे संपर्क में नहीं है कोई नेशनल पार्टीBharat NCAP: कार में यात्रियों की सेफ़्टी को लेकर नितिन गडकरी ने कर दिया ये बड़ा काम, जानिए क्या होगा इससे फायदा2-3 जुलाई को हैदराबाद में BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, पास वालों को ही मिलेगी इंट्री, सुरक्षा के कड़े इंतजामMumbai News Live Updates: शिवसेना ने कल पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ेंगे उद्धव ठाकरेनीति आयोग के नए CEO होंगे परमेश्वरन अय्यर, 30 जून को अमिताभ कांत का खत्म हो रहा है कार्यकालCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.