क्या आपको लगता है कि आप डिप्रेशन में है ?, इन सवालों के जवाब से जानें

नीचे दिए सवालों के जवाब देकर परखिए कि कहीं आप भी खुद को तो डिप्रेस नहीं कर रहे?

By: विकास गुप्ता

Published: 18 Aug 2020, 09:22 PM IST

डिप्रेस हो जाना मन की बीमारी है और किसी को भी हो सकती है। मन की इसी बीमारी से पैदा होती और बढ़ती है तन की बीमारी। नीचे दिए सवालों के जवाब देकर परखिए कि कहीं आप भी खुद को तो डिप्रेस नहीं कर रहे?

1. आप जाने-अनजाने में दूसरों की आलोचना करने, खामियां ढूंढऩे का मौका ढूंढ़ते रहते हैं?
अ: हां, मैं अक्सर ऐसा करता/करती हूं।
ब: नहीं, मेरी ऐसी आदत नहीं है।

2. आपके जीवन अनुभवों में असफलताएं भरी पड़ी हैं और आप उनके होने को दोहराते हैं ?
अ: हां, विफलताओं को याद रखना ही पड़ता है।
ब: मैं अतीत में नहीं भविष्य में जीता/जीती हूं।

3. आपको लगता है कि दुनिया में सिर्फ आपके साथ कभी, कुछ भी अच्छा नहीं होता ?
अ: कई बार लगता है कि सिर्फ मैं ही क्यूं?
ब: नहीं, उतार-चढ़ाव जीवन की सच्चाई है।

4. अपनी गलतियों के लिए आप परिस्थितियों, परिवार और सहकर्मियों को दोषी ठहराते हैं ?
अ: मुझे अक्सर अपने ही धोखा देते हैं।
ब: दोष देने से पहले खुद को परखता हूं।

5. कोई आपको कहे कि, 'आप बड़े डिप्रेस्ड इंसान हैं, तो आपको खीज और गुस्सा आ जाता है?
अ: कोई मेरे बारे में ऐसा कैसे कह सकता है।
ब: मैं संयम रखता हूं और चुप हो जाता हूं

6. डिप्रेशन को लेकर आप सिर्फ चिंता करते हैं, कोई सुधार करने में आपको आलस आता है ?
अ: हां, कई बार परिस्थितियां ऐसी होती है कि कुछ किया नहीं जा सकता।
ब: नहीं, मैं अपनी स्थिति के अनुसार उचित कदम उठाता/उठाती हूं।

7. जीवन में पॉजिटिविटी लाने वाले कामों और उनकी बातों को आप कोरा किताबी ज्ञान समझते हैं ?
अ: हां, अब लगभग हर मोटिवेशनल किताब में कोरे फंडे ही तो बताए जाते हैं।
ब: नहीं, मुझे लगता है कि ज्ञान की कोई बात बेकार नहीं होती।

स्कोर और एनालिसिस-
आपने ओढ़ रखा है डिप्रेशन का चोला: 3 या उससे कम अंक यदि यह आपका स्कोर है तो कहना उचित होगा कि आपको डिप्रेस होने का शौक है। डिप्रेशन को मोटिवेशन में बदलना आपके हाथ में है। यह पूरी तरह से आपके सकारात्मक प्रयासों से संभव है। तनाव के चोले को उतार फेंकिए, आप ज्यादा स्वस्थ और स्मार्ट नजर आएंगे।

वाह! डिप्रेशन आपसे डरता है: 5 या उससे अधिक : यदि यह आपका स्कोर है तो आप वाकई डिप्रेशन से उबरने की कला जानते हैं। आप इस मानसिक स्थिति को समझते हैं और इसीलिए आपको संतुलित रहना आता है। आपकी कोशिशों से दूसरे भी प्रेरणा लेते हैं। अपनी इस अच्छी आदत को बनाए रखें।

Show More
विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned