कोरोना से अकेले न्यूयार्क में 4 हज़ार बच्चे हुए अनाथ, कार दुर्घटना की तुलना में 21 गुना ज्यादा मौतें

अमरीका में कोरोना वायरस के चलते अब तक 2,11,778 मौतें हो चुकी हैं। वहीं सबसे ज्यादा प्रभावित न्यूयॉर्क शहर में कोरोना वहां के मासूस बच्चों पर कहर बनकर टूटा है। यहां करीब 4 हजार से ज्यादा बच्चे अब तक यतीम हो चुके हैं।

By: Mohmad Imran

Published: 01 Oct 2020, 06:10 PM IST

कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक दुनिया भर में करीब 10 लाख से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित अमरीका में भी मौतों का आंकड़ा 2 लाख के पार चला गया है। लेकिन सबसे ज्यादा प्रभाावित अमरीकी बच्चे हुए हैं। खासकर न्यूयॉर्क शहर जहां कोरोना ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया है वहां मार्च से जुलाई के दरम्यान अब तक 4 हजार से ज्यादा बच्चों के सिर से माता-पिता या करीबी रिश्तेदारों का साया उठ चुका है। यह तथ्य हाल ही यूनाइटेड हॉस्पिटल्स फंड एंड बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप (UHFNYC) के शोध में सामने आया है। शोधकर्ताओं ने पाया कि यतीम हो चुके इन 4 हजार बच्चों में से 25 फीसदी को फोस्टर केयर में रहने को विवश होना पड़ रहा है। सितंबर में प्रकाशित हुई यूएचएफएनवायसी की रिपोर्ट के मुताबिक प्रत्येक 1000 में से एक बच्चे ने अपने माता-पिता को इस महामारी में खो दिया है।

कोरोना से अकेले न्यूयार्क में 4 हज़ार बच्चे हुए अनाथ, कार दुर्घटना की तुलना में 21 गुना ज्यादा मौतें

18 साल से कम है उम्र
रिपोर्ट से पता चला कि न्यूयॉर्क के 40 लाख बच्चों में से अपने माता-पिता या देखभाल करने वाले करीबी रिश्तेदार-अभिभावक को खो चुके इन लगभग 4200 बच्चों की उम्र 18 वर्ष से कम है। यही वजह है कि बालिग होने तक इन बच्चों को फोस्टर केयर (देखभाल केन्द्र) में भेज दिया गया है। रिपोर्ट में यह भी अंदेशा जताया गया है कि बालिग होने के बावजूद इनमें करीब 50 फीसदी बच्चे गरीबी और अभाव में जीवन बिताने को मजबूर होंगे। क्योंकि इन बच्चों का भरण-पोषण करने वाले माता-पिता अब इस दुनिया में नहीं हैं। यूएचएफएनवायसी के शोधकर्ताओं ने लिखा कि इन बच्चों की मानसिक स्थिति और लचर शारीरिक स्वास्थ्य जैसी अन्य परेशानियां भी खड़ी हो गई हैं।

कोरोना से अकेले न्यूयार्क में 4 हज़ार बच्चे हुए अनाथ, कार दुर्घटना की तुलना में 21 गुना ज्यादा मौतें

कैंसर से भी नहीं होतीं इतनी मौतें
शोधकर्ताओं का कहना है कि एक साल से भी कम समय में कुछ ही महीनों के अंतराल पर इन बच्चों ने कोरोना के कारण अपने माता-पिता को खोया है उतना तो एक साल में अमरीका में माता-पिता में किसी की कैंसर से भी इतनी बड़ी संख्या में मौत नहीं होती। कोरोनवायरस के चलते अनाथ हुए इन बच्चों की संख्या 2018 में एक ही महीने में हुई माता-पिता की मृत्यु की तुलना में बहुत अधिक थी। 2018 में जहां न्यूयॉर्क में केवल 200 बच्चों ने ही सड़क दुर्घटनाओं के कारण अपने माता-पिता को खोया था। जबकि 1,050 से ज्यादा अभिभावकों की मौत नशीली दवाओं के सेवन के चलते हुई थी। इस बीच लगभग 1700 बच्चों ने कैंसर से अपने माता-पिता में से किसी एक को या दोनों को खो दिया था। जबकि लगभग 1500 बच्चों के माता-पिता कह मृत्यु हृदय संबंधी रोगों के कारण हुई थी। यानी 2018-19 की तुलना में अकेले मार्च से जुलाई 2020 के बीच अनाथ होने वाले अमरीकी बच्चों की संख्या कैंसर से मरने वालों की तुलना में 2.4 गुना अधिक है। जबकि कार दुर्घटना में मारे गए लोगों की तुलना में कोरोना से हुई मौत का यह आंकड़ा 21 गुना अधिक है।

कोरोना से अकेले न्यूयार्क में 4 हज़ार बच्चे हुए अनाथ, कार दुर्घटना की तुलना में 21 गुना ज्यादा मौतें

अश्वेतों और हिस्पैनिक्स की मौतें ज्यादा
शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में यह भी पाया कि इनमें से ज्यादातर मौतें या तो अश्वेत या हिस्पैनिक मूल (हिस्पैनिक मूल रूप से प्राचीन रोमन Hispania के लोगों को संदर्भित किया गया है, जो लगभग स्पेन, पुर्तगाल, और एंडोरा के समकालीन राज्यों, और ब्रिटिश ओवरसीज क्षेत्र जिब्राल्टर समेत इबेरियन प्रायद्वीप शामिल थे। यह उन लोगों के लिए एक सामूहिक शब्द है जो संयुक्त राज्य अमेरिका (कैथोलिक) में स्पेनिश बोलते हैं) के अमरीकियों की हुई हैं। जबकि 57 फीसदी लोग न्यूयॉर्क शहर के पांच संघन इलाकों में से तीन में अधिक रहते हैं। इनमें ब्रोंक्स में 600 बच्चे, ब्रूकलिन और क्वींस में 890 बच्चों ने अपने माता-पिता में से कम से कम एक को कोरोना संक्रमण के कारण खो दिया। जबकि न्यूयॉर्क के स्टेटन द्वीप और मैनहट्टन के लोगों की तुलना में यहां रहने वाले ज्यादातर अश्वेत और हिस्पैनिक मूल के लोग अल्पसंख्यक और आप्रवासी समुदाय से हैं। विभिन्न अध्ययनों में सामने आया कि कोरोना ने अश्वेतों को ज्यादा प्रभावित किया है खासकर जो पहले से स्वास्थ्य संबंधी गंभीर परेशानियों से जूझ रहे थे। इन तीनों इलाकों में क्रमश 1500 और 1400 अश्वेत और हिस्पैनिक मूल के बच्चों के अलावा, गोरे रंग के अमरीकी और एशियाई बच्चों के बीच भी कोविड-१९ से हुई माता-पिता की मौत का आंकड़ा दोगुना है।

कोरोना से अकेले न्यूयार्क में 4 हज़ार बच्चे हुए अनाथ, कार दुर्घटना की तुलना में 21 गुना ज्यादा मौतें

यूनाइटेड हॉस्पिटल्स फंड कौन है
यूनाइटेड हॉस्पिटल फंड एक गैर-लाभकारी संगठन है जो न्यूयॉर्क में अधिक सस्ती, सुलभ और प्रभावी स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली विकसित करने के लिए काम करता है। इसका उद्देश्य रोगियों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं और सबसे अच्छी देखभाल प्रदान करना है, विशेष रूप से उन्हें जो आर्थिक रूप से सबसे कमजोर हैं।

कोरोना से अकेले न्यूयार्क में 4 हज़ार बच्चे हुए अनाथ, कार दुर्घटना की तुलना में 21 गुना ज्यादा मौतें
Mohmad Imran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned