याद रह जाने वाले सपने क्यों होते हैं सेहत के लिए खतरनाक, क्या है इसके पीछे की असली वजह

  • सोते समय अजीबोगरीब आने वाले सपने हो सकते हैं डरावने
  • सपने याद रह जाने की स्थिति में लोगों के मन में तरह-तरह के ख्याल आते हैं क्यों

By: Pratibha Tripathi

Updated: 24 Nov 2020, 11:45 AM IST

नई दिल्ली। दिन भर के कामकाज करने के बाद जब हम सोते है तो उस दौरान दिन रात की कई गई प्रक्रिया को हम सपने के रूप में देखते है। कभी कभी सपने हमें आने वाली मुसीबतों से भी अगाह कराते है। और कुछ सपने में ऐसे होते है जो इतने अलग होते है जिसे देख दिल की धड़कने तेजी से बढ़ने लगती हैं और हम काफी डर जाते है। उठने के बाद कुछ सपने तो हम भूल जाते हैं लेकिन कुछ याद ही रह जाते हैं। लेकिन जो सपने याद रह जाने की स्थिति में होने से मन भारी करने लगता है वो हमारी सेहत का लिए खतरनाक होते है। आइए जानते हैं कि ऐसा क्यों होता हैं और इसे कैसे ठीक किया जा सकता है।

वैज्ञानिक भी इस बारें में पता नही लगा पाए है कि आखिर सपने क्यों आते हैं, रात को आने वाले सपने में कुछ को तो हम भूल जाते है। और सुबह उठकर ताजे मूड़ के साथ अपने काम में लग जाते है लेकिन इन्हीं के बीच कुछ सपने ऐसे होते है जिसका असर हमारे दिलोंदिमाग पर पड़ जाता है। जिसकी वजह से हम परेशान रहते हैं। ये बहुत हद तक स्लीप साइकल पर भी निर्भर करता है।
वैज्ञानिकों के द्वारा किए गए शोध से पता चला है कि ज्यादातर सपने रैपिड आई मूवमेंट (REM) के दौरान आते हैं। रैपिड आई मूवमेंट के समय सोते समय दिमाग सक्रिय अवस्था में रहता है जिसकी वजह से सपने आते हैं. सामान्य तौर पर ये मूवमेंट रात में सोते समय हर 90 मिनट पर होता है और लगभग 20 से 25 मिनट तक रहता है।वैज्ञानिकों ने इसकी कुछ खास वजहें बताई हैं।

तनाव या चिंता- रोजमर्रा की जिदंगी में हम कई तरह की घटनाओँ से होकर गुजरते है। जिसमें दोस्ती, दुश्मनी प्.र मुहब्बत, परिवार,घर ऑफिस में घटने वाली कुछ घटनाएं या फिर किसी करीबी की मौत, एक्सीडेंट या फिर यौन शोषण जैसी बड़ी घटनाओं का दिमाग पर गहरा असर पड़ता है। यह सब हमारे दिमाग में ऐसे घर कर जाती है कि रात को सोते समय भी हमें वही चीजें दिखाई देती है।

ठीक से नींद ना आना- जिन लोगों को सपने याद रहते है उनके पीछे का कारण होता है ठीक से नींद ना आने या इनसोम्निया जैसी बीमारियों का होना। इसके अलावा डिप्रेशन या अन्य मानसिक बीमारी की वजह से सपने स्पष्ट रूप से सपने याद रह जाते हैं।

मादक पदार्थों का सेवन- बहुत ज्यादा शराब पीने या ड्रग लेने का असर भी दिमाग पर पड़ता है जिसकी वजह से दिमाग शांत नहीं रहता है और तरह-तरह के ऐसे सपने आते हैं जो याद रह जाते हैं. इसके अलावा धूम्रपान या इन आदतों को छोड़ने के लिए की जाने वाली कुछ दवाओं की वजह से भी ऐसे सपने आते हैं.
हार्मोन में परिवर्तन- प्रेग्नेंसी के शुरूआती समय में महिलाओं के शरीर में हार्मोन में कई तरह के बदलाव होते है। और यह बदलाव सोते समय और तेजी से होते है। जिसकी वजह से कुछ समय के लिए ऐसे सपने दिखाई देने लगते है जो हमें याद रह जाते है।

ये सपने सेहत के लिए खतरनाक हैं- आमतौर पर सपनों का याद रहना कोई बड़ी समस्या नही है लेकिन यदि आप इन सपनों को लेकर ज्यादा सोचने लगेंगे तो यह एक बड़ी समस्या बन सकती है। ये हमें मानसिक तौर पर परेशान कर देते हैं। इसकी वजह से आपको नींद की समस्या, मूड खराब होना और नकारात्मक ख्याल आने लगते हैं और इसके चलते आप गलत डिसीजन ले सकते है।

क्या है इलाज- ज्यादातर मामलों में सपने याद रहने की समस्या अपने आप ही ठीक हो जाती है लेकिन फिर भी अगर आप लंबे समय से इस समस्या से परेशान हैं तो डॉक्टर से संपर्क कर अपना इलाज कराएं। इसके अलावा अपनी दिनचर्या को बदलें।
स्वस्थ भोजन करें- स्वस्थ भोजन करें, वजन कंट्रोल में रखें, पर्याप्त नींद लें, सही समय पर सोएं, खूब पानी पिएं, तनाव से दूर रहें और अपने दिमाग को स्वस्थ रखें।

एक्सरसाइज करें- मेडिटेशन करने से भी आपको इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है। इसके लिए सांस लेने व छोड़ने की एक्सरसाइज करें, दिमाग को रिलैक्स रखने वाली तकनीक पर काम करें, आर्ट थेरेपी लें और एक्सरसाइज करें।

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned