कोरोना वैक्सीन निर्माता कंपनी फाइजर ने आपातकालीन उपयोग की अनुमति मांगी

- साल के अंत तक पांच करोड़ वैक्सीन बनाएगी फाइजर ।
- फाइजर ने कोरोना वैक्सीन पर किया सबसे तेजी से काम ।

By: विकास गुप्ता

Published: 20 Nov 2020, 09:14 PM IST

न्यूयॉर्क । अमेरिकी फार्मा कंपनी फाइजर ने अमेरिकी नियामकों से अपनी कोविड-19 वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग की अनुमति देने के लिए अनुरोध किया है। कंपनी ने इस बात की जानकारी शुक्रवार को दी। फाइजर ने जर्मन कंपनी बायोएनटेक के साथ मिलकर कोरोना वैक्सीन विकसित की है जो फाइनल क्लीनिकल ट्रायल में 95 फीसदी असरदार पाई गई है। फाइजर ने यह दावा भी किया कि उसकी कोरोना वैक्सीन सुरक्षा मानकों पर भी पूरी तरह खरी उतरी है।

क्लीनिकल ट्रायल के फेज 3 में COVID-19 Vaccine 90 फीसदी प्रभावी

फाइजर ने कोरोना वैक्सीन पर किया सबसे तेजी से काम -
फाइजर और एक अन्य अमेरिकी कंपनी, मॉडर्ना, ने पिछले नौ महीनों से कोरोना के स्थायी इलाज के लिए वैक्सीन बनाने की चल रही दौड़ में गति के मामले में सभी वैक्सीन निमार्ताओं के रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। अमेरिका में सभी 50 राज्यों में कोरोना के मामले रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच रहे हैं।

साल के अंत तक पांच करोड़ वैक्सीन बनाएगी फाइजर -
फाइजर के सीईओ अल्बर्ट बोउर्ला ने एक बयान में सुरक्षित और प्रभावी वैक्सीन देने के लिए प्रतिबद्धता जताई है। फाइजर और बायोएनटेक ने 2020 में कुल पांच करोड़ वैक्सीन खुराक और 2021 तक 1.3 अरब खुराक का उत्पादन करने की उम्मीद जताई है। अमेरिकी नियामकों को उम्मीद है कि दिसंबर के अंत में वितरण के लिए मॉडर्ना और फाइजर प्रत्येक से दो करोड़ वैक्सीन की खुराक उपलब्ध हो जाएगी।

COVID-19 virus
विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned