मवेशी के ट्रकों से पुलिस वाले करते है अवैध वसूली

krishna rajput

Publish: Sep, 16 2017 09:54:59 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
मवेशी के ट्रकों से पुलिस वाले करते है अवैध वसूली

थानों के सामने अपने आप रुक जाते है ट्रक चालक
इटारसी के ओवरब्रिज से केसला तक है तीन अड्डे

इटारसी. बकरी के ट्रकों से अवैध वसूली होते देखना है तो इटारसी के ओवरब्रिज पर खड़े हो जाइए और फिर केसला तक ट्रक का पीछा कीजिए। १८ किलोमीटर के अंदर कम से कम तीन स्थान ऐसे है जहां बकरी के ट्रक चालक को पुलिस वालों को अवैध रूप से टैक्स देना पड़ता है।
बकरी और मवेशियों से भरे ट्रकों से अवैध वसूली दिनदहाड़े होती है। यदि कोई मवेशी से भरा ट्रक निकल रहा है तो उसे पहले ओवरब्रिज पर रोक लिया जाता है, इसके बाद पथरौटा और फिर केसला में यह वसूली होती है।
कैमरे में आया पूरा सच
पत्रिका टीम को एक सूत्र ने बताया कि बकरी से भरा ट्रक इटारसी केओवरब्रिज से अभी रवाना हुआ है। यहां वसूली हो चुकी है। हमने पीछा किया तो तेज रफ्तार ट्रक पथरौटा थाना भी क्रॉस कर चुका था। हमारे सूत्र ने बताया कि यहां भी वसूली हो चुकी है। फिर हमने हमारी बाइक की रफ्तार तेज की और आखिर अंतिम चरण में हमें सफलता मिल ही गई।
केसला थाने के सामने हुआ यह
केसला थाने के सामने ट्रक रुका और थाने परिसर के अंदर से तेजी से एक पुलिसकर्मी बाहर आया। यहां उसने ट्रक कंडक्टर की खिड़की की तरफ हाथ बढ़ाया और पैसे ले लिए इसके बाद ट्रक आगे के लिए रवाना हो गया।
नोट- केवल पत्रिका के पास वीडियो उपलब्ध है।

क्यों डरते हैं मवेशी परिवहन करने वाले ट्रक चालक
ट्रकों में मवेशियों को क्षमता से ज्यादा भरकर परिवहन किया जाता है। पुलिस ऐसी स्थिति में पशुक्रूरता अधिनियम के तहत कार्रवाई कर सकती है। पशुक्रूरता अधिनियम के तहत अपराध दर्ज होने पर जुर्माने के साथ ही सजा का प्रावधान है। इस कार्रवाई से बचने के लिए ट्रक चालक आसानी से टारगेट बन जाते हैं। १५० से लेकर ५०० रुपए तक ट्रक चालक देना पड़ता है।

क्या कहते हैं पुलिस कप्तान
- इस तरह की स्थिति सामने आती है तो मौके पर ही पुलिसकर्मी को निलंबित किया जाएगा। इस तरह के मामलों में कोई भी रियायत नहीं बरती जाएगी।
अरविंद सक्सेना, पुलिस अधीक्षक होशंगाबाद

अवैध वसूली के ये हैं अड्डे
पहले ओवरब्रिज पर
यदि कोई ट्रक इटारसी से होकर निकल रहा है तो वसूली करने वालों को पहले ही सूचना मिल जाती है। सूचना मिलते ही पुलिसकर्मी वसूली करने ओवरब्रिज पर खड़े हो जाते हैं। यहां ट्रक चालक को रोककर पैसे की वसूली होती है।
पथरौटा थाने के सामने
पथरौटा थाने के सामने भी ट्रक रुकता है और यदि यहां पहले से पुलिसकर्मी खड़ा है तो कंडक्टर की खिड़की की तरफ हाथ बढ़ा देता है। इसके बाद ट्रक बिना रुकावट के आगे की ओर बढ़ जाता है। यदि यहां कोई नहीं होता है तो फिर ट्रक से एक बंदा उतरकर जाता है और खुद पैसे देकर चला जाता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned