कोरोना एंटीबॉडी टेस्ट से उनकी पहचान होगी आसान जिनमें नहीं दिख रहे लक्षण

  • इस टेस्ट की सबसे बात ये है कि इससे उन लोगों में भी वायरस ( Virus ) की पहचान आसानी से की जा सकेगी, जिनमें इसके लक्षण नहीं दिख रहे हैं।

By: Piyush Jayjan

Published: 18 Apr 2020, 08:08 AM IST

नई दिल्ली। स्विट्जरलैंड ( Switzerland ) की दवा कंपनी रॉश ( Roche ) ने एक ऐसा एंटीबॉडी टेस्ट तैयार किया है जिससे ये पता लगाया जा सकेगा कि कोरोना से पहले कौन संक्रमित था। इस टेस्ट की खास बात ये है कि इससे उन लोगों में भी वायरस की पहचान होगी, जिनमें इसके लक्षण नहीं दिख रहे हैं।

कोरोना का तोड़ ढूंढने में लगे चीन को नहीं मिल पा रहे ट्रायल के लिए मरीज, जानें क्यों

कंपनी ने अपने बयान में बताया कि उसने एलेक्सीस एंटी-सार्स-सीओवी-टू इम्युनोएसी तैयार किया है। इससे खून के सैम्पल की जांच कर पता किया जा सकता है कि कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद आखिरकार शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता सक्रिय हुई थी भी या नहीं।

इसके साथ ही कंपनी ने कहा कि इसका सबसे अधिक फायदा मरीजों के इलाज में जुटे डॉक्टर और दूसरे स्वास्थ्यकर्मियों को मिल सकेगा। जिससे कि मरीजों का इलाज कर रहे स्टाफ का नियमित एंटीबॉडी टेस्ट ( Antobody Test ) होने से उनके सुरक्षित रहने या संक्रमण से बचाव की संभावना अधिक रहेगी।

कोरोना के मरीजों का इलाज करने के लिए अस्पताल पहुंच गई स्वीडन की राजकुमारी, सोशल मीडिया पर फोटो हुई Viral

कंपनी के दावे के मुताबिक कोरोना की इम्युनिटी के बारे में जितनी अधिक जानकारी मिलेगी उतना ही ज्यादा इससे बचाव की संभावना भी बढ़ जाएगी बढ़ेगी। रॉश इसके लिए अमेरिकी एजेंसी के साथ काम कर रही है। कंपनी ने जून के आखिर तक लाखों लोगों का एंटीबॉडी टेस्ट करने का लक्ष्य रखा है।

coronavirus COVID-19
Piyush Jayjan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned