scriptदेश के बालोतरा, धानसा एवं अहमदनगर में बन रहे कटारिया भवन, हर साल नारी शक्ति पुरस्कार | Patrika News
हुबली

देश के बालोतरा, धानसा एवं अहमदनगर में बन रहे कटारिया भवन, हर साल नारी शक्ति पुरस्कार

प्रवासी संस्थाएं: अखिल भारतीय जैन कटारिया फाउंडेशन इस साल से उपलब्ध कराएगा शिक्षा ऋण

हुबलीJun 26, 2024 / 06:21 pm

ASHOK SINGH RAJPUROHIT

अखिल भारतीय जैन कटारिया फाउंडेशन

अखिल भारतीय जैन कटारिया फाउंडेशन

देश के बालोतरा, धानसा एवं अहमदनगर में कटारिया भवन बन रहे हैं। देश के विभिन्न शहरों में सात कटारिया भवनों का निर्माण पूरा कर लिया गया है। तीन निर्माणाधीन भवनों के बाद देश में कटारिया भवनों की संख्या दस हो जाएगी। अखिल भारतीय जैन कटारिया फाउंडेशन की ओर से हर साल नारी शक्ति पुरस्कार दिए जा रहे हैं। इसके साथ ही कटारिया परिवार के जरूरतमन्द लोगों को आर्थिक मदद भी दी जा रही है। छोटे व्यापारियों को एक से तीन लाख रुपए तक की राशि का ऋण बिना ब्याज उपलब्ध कराया जा रहा है। इस साल से शिक्षा ऋण भी शुरू किया गया है।
अखिल भारतीय जैन कटारिया फाउंडेशन के पूर्व अध्यक्ष बेलगावी प्रवासी राजेन्द्र कटारिया रणसी ने बताया कि केवलचन्द कटारिया एवं घेवरचन्द कटारिया ने 2009-10 में देश के कोने-कोने में घूमकर एक संगठन बनाया जिसे अखिल भारतीय जैन कटारिया फाउंडेशन नाम दिया गया। मुम्बई में अमृतलाल कटारिया बालोतरा एवं गोरखचन्द कटारिया सांचौर ने भी इस कार्य में सहयोग किया और इन दोनों के सहयोग से सौ-सौ परिवार जुड़े। साल 2011 में फाउंडेशन का विधिवत गठन किया गया।
अशोक कटारिया पहले अध्यक्ष
नासिक के अशोक कटारिया फाउंडेशन के पहले अध्यक्ष बने। वे चार साल अध्यक्ष पद पर रहे। इसके बाद अहमदाबाद के प्रकाश कटारिया नैनावा अध्यक्ष बनाए गए। वे भी चार वर्ष अध्यक्ष पद पर काबिज रहे। इसके बाद बेलगावी के राजेन्द्र कटारिया रणसी अध्यक्ष बने। वर्तमान में मुम्बई के ललित संघवी कटारिया सांचौर अध्यक्ष है। वे जनवरी 2023 से अध्यक्ष पद पर काबिज है।
फाउंडेशन के 20 चैप्टर
अखिल भारतीय जैन कटारिया फाउंडेशन के देश में 20 चैप्टर है। हर चैप्टर में प्रति वर्ष अधिवेशन का आयोजन किया जाता है। राष्ट्रीय अधिवेशन दो साल में एक बार होता है। अगला राष्ट्रीय अधिवेशन इसी साल दिसम्बर में सूरत में होगा। इससे पूर्व राष्ट्रीय अधिवेशन 2022 में जीरावाला पाश्र्वनाथ में हुआ था। फाउंडेशन के कर्नाटक में दो चैप्टर है। इनमें एक हुब्बल्ली में जिसमें उत्तर कर्नाटक एवं दक्षिण महाराष्ट्र के परिवार शामिल है। दूसरा बेंगलूरु में शेष कर्नाटक के लिए हैं। इसके साथ ही तमिलनाडु के चेन्नई, राजस्थान के बालोतरा, पाली एवं मंडार, महाराष्ट्र के पूणे, नासिक, अहमदनगर तथा मुम्बई में दो चैप्टर है। इसके अलावा अन्य शहरों में चैप्टर है।
2700 परिवार जुड़े हुए
फाउंडेशन से देशभर में करीब 2700 परिवार जुड़े हुए हैं। फाउंडेशन की ओर से कटारिया परिवार के प्रतिभावान विद्यार्थियों का सम्मान किया जाता है। प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को पहला पुरस्कार 25 हजार, दूसरा पुरस्कार 20 हजार एवं तीसरा पुरस्कार 15 हजार रुपए की राशि का दिया जाता है। फाउंडेशन की ओर से हर साल नारी शक्ति पुरस्कार दिया जा रहा है। अब तक यह आयोजन दो बार हो चुका है। फाउंडेशन की ओर से डिजिटल पत्रिका कटारिया टाउम्स का प्रकाशन किया जा रहा है। मासिक रूप से प्रकाशित की जा रही इस पत्रिका में हर चैप्टर की गतिविधि का लेखा-जोखा रहता है। समाज की गतिविधियों को लेकर यूट्यूब भी चल रहा है।
देश में दस कटारिया भवन
देश में सात कटारिया भवन बने हुए हैं। कर्नाटक के बेंगलूरु के जयनगर एवं चिकपेट तथा बेलगावी के हूगरखोड़ में कटारिया भवन बना हुआ है। तीन नए कटारिया भवनों का निर्माण पूरा होने पर देश में कटारिया भवनों की संख्या दस हो जाएगी।
राजेन्द्र कटारिया रणसी, बेलगावी प्रवासी, पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष, अखिल भारतीय जैन कटारिया फाउंडेशन।

Hindi News/ Hubli / देश के बालोतरा, धानसा एवं अहमदनगर में बन रहे कटारिया भवन, हर साल नारी शक्ति पुरस्कार

ट्रेंडिंग वीडियो