script आंध्र प्रदेश : विधायक अल्ला रामकृष्ण रेड्डी ने विधानसभा और पार्टी से इस्तीफा दिया | AP : YSRCP MLA Alla Ramakrishna Reddy quits assembly as well as party | Patrika News

आंध्र प्रदेश : विधायक अल्ला रामकृष्ण रेड्डी ने विधानसभा और पार्टी से इस्तीफा दिया

locationहैदराबादPublished: Dec 11, 2023 05:54:25 pm

Submitted by:

Rohit Saini

मंगलगिरी निर्वाचन क्षेत्र से पिछड़े वर्ग (बीसी) के उम्मीदवार को मैदान में उतारने की पार्टी की योजना से खुश नहीं थे

आंध्र प्रदेश : विधायक अल्ला रामकृष्ण रेड्डी ने विधानसभा और पार्टी से इस्तीफा दिया
आंध्र प्रदेश : विधायक अल्ला रामकृष्ण रेड्डी ने विधानसभा और पार्टी से इस्तीफा दिया
विजयवाड़ा . एक आश्चर्यजनक घटनाक्रम में मंगलगिरी निर्वाचन क्षेत्र के वाईएसआरसीपी विधायक अल्ला रामकृष्ण रेड्डी ने सोमवार को विधानसभा के साथ-साथ पार्टी से भी इस्तीफा दे दिया। उन्होंने विधायक पद से अपना त्यागपत्र विधानसभा अध्यक्ष को सौंप दिया है।
अल्ला रामकृष्ण रेड्डी ने पिछले चुनाव में टीडीपी के राष्ट्रीय महासचिव और तत्कालीन मंत्री नारा लोकेश को हराकर सनसनी मचा दी थी। रेड्डी गुंटूर जिले के मंगलागिरी निर्वाचन क्षेत्र से दो बार विधायक रहे हैं।
सूत्रों ने कहा कि रामकृष्ण रेड्डी आगामी चुनावों में उनकी जगह मंगलगिरी निर्वाचन क्षेत्र से पिछड़े वर्ग (बीसी) के उम्मीदवार को मैदान में उतारने की पार्टी की योजना से खुश नहीं हैं। पार्टी का एक मजबूत गुट लंबे समय से रामकृष्ण रेड्डी का विरोध भी कर रहा है।
मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के कट्टर वफादार माने जाने वाले रामकृष्ण रेड्डी ने पार्टी नेतृत्व से परामर्श किए बिना विधानसभा छोडऩे का निर्णय लिया। रामकृष्ण रेड्डी के बड़े भाई और राज्यसभा सदस्य अल्ला दशरथमी रेड्डी पार्टी मामलों के क्षेत्रीय समन्वयक हैं।
सूत्रों ने कहा कि रेड्डी स्थानीय पार्टी अध्यक्ष डोंथिरेड्डी वेमारेड्डी के नेतृत्व वाले विद्रोही समूह की उनके प्रतिस्थापन की मांग से आहत थे। रेड्डी ने विद्रोहियों की गतिविधियों को पार्टी नेतृत्व के संज्ञान में लाया था लेकिन उन्हें रोकने में विफल रहे।
हाल ही में पार्टी सुप्रीमो वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने एप्को के अध्यक्ष और बुनकरों के नेता गंजी चिरंजीवी को निर्वाचन क्षेत्र प्रभारी के रूप में नामित करने का फैसला किया, जिससे अल्ला के लिए पार्टी नेतृत्व के साथ बातचीत करने की कोई गुंजाइश नहीं रह गई।
रामकृष्ण रेड्डी सोमवार को विधानसभा गए और स्पीकर के ओएसडी को अपना इस्तीफा सौंप दिया क्योंकि स्पीकर कार्यालय में उपलब्ध नहीं थे। हालांकि इसे स्पीकर से मंजूरी लेनी होगी।
रेड्डी शुरू में एक दशक से अधिक समय तक कांग्रेस पार्टी में थे और वाईएस जगन के पार्टी बनाने के तुरंत बाद वाईएसआरसीपी में चले गए। उन्होंने 2014 और 2019 में वाईएसआरसीपी उम्मीदवार के रूप में मंगलागिरी निर्वाचन क्षेत्र से लगातार दो चुनाव जीते।
अल्ला ने टीडीपी सरकार की लैंड पूलिंग स्कीम (एलपीएस) के खिलाफ लड़ाई में अहम भूमिका निभाई और राजधानी अमरावती में कई घोटालों का पर्दाफाश भी किया। वह चंद्रबाबू नायडू, लोकेश और तत्कालीन नगरपालिका मंत्री नारायण के खिलाफ दायर कई मामलों में शिकायतकर्ता भी थे।

ट्रेंडिंग वीडियो