script205 km New rail line, the distance of Indore will be reduced | 205 किलोमीटर नई रेल लाइन, टनल बनते ही कम हो जाएगी इंदौर की दूरी | Patrika News

205 किलोमीटर नई रेल लाइन, टनल बनते ही कम हो जाएगी इंदौर की दूरी

यात्रियों को अभी तक इंदौर जाने के लिए काफी परेशान होना पड़ता था, कई जगह बसें बदलते थे, तब कहीं जाकर वे शहर पहुंच पाते थे, उन्हें अब इस नई रेल लाइन के तैयार होते ही रोज-रोज की झंझट से मुक्ति मिल जाएगी.

इंदौर

Published: September 23, 2022 12:53:18 pm

इंदौर. डेली अपडाउन करने वाले यात्रियों के लिए भारतीय रेलवे जल्द ही एक बड़ी सौगात देने जा रहा है, जिन यात्रियों को अभी तक इंदौर जाने के लिए काफी परेशान होना पड़ता था, कई जगह बसें बदलते थे, तब कहीं जाकर वे शहर पहुंच पाते थे, उन्हें अब इस नई रेल लाइन के तैयार होते ही रोज-रोज की झंझट से मुक्ति मिल जाएगी, उन्हें किराए में तो बचत होगी ही सही, साथ ही समय भी बचेगा, क्योंकि रेल मार्ग से यात्रा करने पर इंदौर की दूरी भी कम हो जाएगी।

205 किलोमीटर नई रेल लाइन, टनल बनते ही कम हो जाएगी इंदौर की दूरी
205 किलोमीटर नई रेल लाइन, टनल बनते ही कम हो जाएगी इंदौर की दूरी

जानकारी के अनुसार इंदौर से दाहोद करीब 204.76 किलोमीटर नई रेल लाइन प्रोजेक्ट पर फिर से काम शुरू हो गया है, अब जल्द से जल्द काम पूरा कर लाइन शुरू करने की तैयारी हो गई है, चूंकि ये काम बीच में कोरोना के कारण अटक गया था, फिर बारिश के कारण भी काम को गति नहीं मिल पाई, लेकिन अब सारे समस्याएं दूर होकर काम को गति मिल चुकी है, अब जल्द ही प्रदेशवासियों को इस नई रेल लाइन की सौगात मिलेगी।

इस काम के लिए हुए 522 करोड़ के टेंडर
बताया जा रहा है कि काफी हिस्से में पटरी बिछ चुकी है, अब अर्थवर्क, टनल, पटरी बिछाने और बिजली लाइन के लिए करीब 522 करोड़ के टेंडर हुए थे, लेकिन बारिश के कारण काम शुरू नहीं हो पाया था, अब फिर से इस काम को शुरू किया जा रहा है, जिसके तहत टनल भी बनेगी। रेलवे बोर्ड का इंदौर से धार तक 2024 तक काम पूरा करने का टारगेट है। बजट आने से 522 करोड़ के टेंडर भी जारी हो गए हैं। अब धार से गुणावद तक 17 किमी में बचा काम भी जल्द ही पूरा किया जा सकेगा।

ये होगा फायदा
दाहोद-इंदौर व्याहा सरदारपुर, झाबुआ और धार नई रेल लाइन बिछने से धार, सरदारपुर, झाबुआ के यात्रियों की काफी परेशानी बच जाएगी, फिलहाल यहां रेल लाइन नहीं होने के कारण उन्हें बस या अन्य माध्यमों से यात्रा करना पड़ती है। लेकिन जैसे ही नई रेल लाइन तैयार होगी, वैसे ही उन्हें यात्रा करने में काफी कम परेशानी होगी, चूंकि मध्यप्रदेश में अधिकतर उद्योग धंधे इंदौर से जुड़े हैं, इंदौर से ही लोग थोक में माल खरीदते हैं, इस कारण उन्हें आए दिन इंदौर आवाजाही करनी पड़ती है, वर्तमान में रेल लाइन नहीं होने के कारण उन्हें बसों के माध्यम से आवाजाही करने में किराया भी अधिक देना पड़ता है और आनेजाने में समय भी अधिक लगता है, लेकिन रेल लाइन तैयार होने के बाद उनका समय भी बचेगा और पैसे भी कम लगेंगे, क्योंकि बसों की अपेक्षा ट्रेनों का किराया सामान्यत: कम ही होता है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

NIA की छापेमारी के खिलाफ केरल से तमिलनाडु तक PFI का प्रदर्शन, कोयंबटूर में BJP दफ्तर पर बम से हमलाडॉलर के मुकाबले रिकार्ड निचले स्तर पर पहुंचा रुपया, पहली बार 80 पार करके 81.09 स्तर पर पहुंचाPM मोदी ने पर्यावरण मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन में लिया भाग, कहा - 'भारत आज दुनिया को नेतृत्व दे रहा है'कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने का अशोक गहलोत ने किया ऐलान, राजस्थान के अगले CM पर कहीं यह बातभारी बारिश के बीच मणिपुर में कांपी धरती, महसूस किए गए भूकंप के झटकेटीवी एंकर का हेडस्कार्फ लगाने से इनकार, नहीं किया ईरानी राष्ट्रपति का इंटरव्यूOctober 2022 Festivals: दुर्गा अष्टमी, दशहरा, शरद पूर्णिमा सहित अक्टूबर में पड़ेंगे ये प्रमुख व्रत एवं त्योहारआज से दो दिन के बिहार दौरे पर गृहमंत्री अमित शाह, 'जन भावना महासभा' को करेंगे संबोधित, पार्टी नेताओं के साथ बैठक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.