बिजली बिल वसूली के बदले नियम : अब 1 महीने देरी से नहीं बल्कि इस तरह होगी रीडिंग

इंदौर में बिजली वितरण कंपनी ने बिल वसूली के लिए नई व्यवस्था को प्रभावी करने का फैसला लिया है। इस व्यवस्था के तहत अब से शहर में आने वाले बिल अब एक महीने की देरी से जारी नहीं किये जाएंगे।

By: Faiz

Published: 19 Sep 2020, 02:28 PM IST

इंदौर/ मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में बिजली वितरण कंपनी ने बिल वसूली के लिए नई व्यवस्था को प्रभावी करने का फैसला लिया है। इस व्यवस्था के तहत अब से शहर में आने वाले बिल अब एक महीने की देरी से जारी नहीं किये जाएंगे। हालांकि, अभ तक ऐसा होता आ रहा था कि, इस माह की खपत का बिल अगले माह वसूला जाता था।

 

पढ़ें ये खास खबर- नर कंकाल के बाद MYH का एक और कारनामा, 9 दिन से मर्चुरी में पड़ा था शव, घर वाले समझते रहे इलाज चल रहा है

 

उपभोक्ता को भुगतनी पड़ती थी पेनल्टी

पिछली व्यवस्था के तहत कई बार तो ये भी हो जाता था कि, 35 से 40 दिन भी बीत जाते थे और उपभोक्ता का बिल ही जनरेट नहीं होता था। ऐसे में कंपनी के पास तो रकम इतनी लेट पहुंचती ही थी, साथ ही कई बार बिल जनरेट होने में अधिक दिन बीत जाने पर उपभोक्ता को भी आपत्ति हो जाती थी और कंपनी में ये समस्या आए दिन की हो गई थी कि, महीनेभर के बजाय सवा महीने के बिल जोन की लापरवाही की वजह से उपभोक्ता को पेनल्टी के साथ भुगतना पड़ते थे।

 

पढ़ें ये खास खबर- यहां बेकाबू कोरोना ने तोड़े अब तक के सभी रिकॉर्ड, शहर के इन इलाकों में बिगड़े हालात, जाने से बचें


अब ये रहेगी व्यवस्था

अब बिजली कंपनी के एमडी अमित तोमर ने इस संबंध में आदेश जारी करते हुए कहा कि, जिस महीने खपत हुई है, उसी महीने का बिल जारी किया जाएगा। महीना खत्म होने के 10 दिन के भीतर रीडिंग का काम पूरा करना होगा। रीडिंग पूरी होने के बाद दो से तीन दिन में बिल भी जनरेट कर उपभोक्ताओं को देना होगा।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned