MP Honeytrap case : CBI को नहीं सौंपी जाएगी हनीट्रैप मामले की जांच, हाईकोर्ट ने बताई ये खास वजह

इंदौर खंडपीट ने माना है कि, याचिकाकर्ताओं ने कोर्ट के समक्ष ऐसा कोई तथ्य नहीं रखा, जिसके आधार पर कहा जा सके कि इस मामले में जांच सही तरीके से नहीं की जा रही है।

By: Faiz

Published: 05 Sep 2020, 03:35 PM IST

इंदौर/ मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनीट्रैप मामले की जांच सीबीआई को नहीं सौंपी जाएगी। इसे लेकर मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीट ने माना है कि, याचिकाकर्ताओं ने कोर्ट के समक्ष ऐसा कोई तथ्य नहीं रखा, जिसके आधार पर कहा जा सके कि इस मामले में जांच सही तरीके से नहीं की जा रही है।

 

पढ़ें ये खास खबर- हाईकोर्ट ने रेप के आरोपी को सुनाया अनोखा फैसला, पूरे शहर में हो रही चर्चा


ऐसा कोई तथ्य नहीं जिसे आधार बनाकर जांच CBI को सौपें

MP Honeytrap case

एसआइटी ने कोर्ट की निगरानी में जांच की है और समय-समय पर प्रोग्रेस रिपोर्ट भी पेश की है। ऐसी स्थिति में ऐसा कोई तथ्य कोर्ट के समक्ष नहीं है जिसे आधार बनाकर जांच सीबीआई को सौंपी जाए।

 

पढ़ें ये खास खबर- Corona Update : 14 हज़ार के पार पहुंचा संक्रमण, 24 घंटे में सामने आए 279 पॉजिटिव, 411 की मौत


कोर्ट ने निरस्त की मांग

हनी ट्रैप मामले में सात अलग-अलग याचिकाएं हाई कोर्ट में दायर हुई थीं। इन सभी में मामले की जांच एसआइटी के हाथ से लेकर सीबीआई को सौंपने की मांग की गई थी। 18 अगस्त को कोर्ट ने पूरे मामले में सभी पक्षों की बहस सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था। इसे शनिवार दोपहर जारी किया गया। 27 पेज के फैसले में कोर्ट ने सभी याचिकाओं का निराकरण करते हुए स्पष्ट कर दिया है कि, जांच सीबीआई को नहीं सौंपी जाएगी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned