सांसद शंकर लालवानी ने बच्चों से कहा - जब भी निराश हों तिरंगे को देखें, ऊर्जा से भर जाएंगे

सांसद शंकर लालवानी ने बच्चों से कहा - जब भी निराश हों तिरंगे को देखें, ऊर्जा से भर जाएंगे

Reena Sharma | Publish: Aug, 14 2019 11:38:24 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

हर घर में पूरे परिवार के साथ फहराएं तिरंगा

इंदौर. हर संघर्ष का डटकर सामना करने वाला ही चैंपियन कहलाता है। जीवन में जब भी निराशा का भाव आए तो एक बार तिरंगे को देख लें आपकी सारी परेशानियों का हल मिल जाएगा। आप ऊर्जा से भर जाएंगे। आपके सामने तुरंत ही वे चेहरे आ जाएंगे, जिन्होंने इस देश को आजादी दिलाने के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए। यह आपको याद दिलाएगा कि हमारे जीवन की परेशानियां उन संघर्षों के आगे बहुत छोटी हैं, जो आजादी के पहले की पीढ़ी ने देखे हैं।

must read : मां को मुखाग्नि देने के 4 घंटे बाद दिया पेपर, रिजल्ट आया और बन गया सिटी टॉपर, सच हुआ सपना

indore

यह बात सांसद शंकर लालवानी ने पत्रिका के घर घर तिरंगा अभियान के तहत दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) राऊ में आयोजित कार्यक्रम में कही। उन्होंने कहा, हर व्यक्ति को पूरे परिवार के साथ अपने घर में तिरंगा फहराना चाहिए, क्योंकि यह ऊर्जा का स्त्रोत है। यह आप में जोश भरता है और जीने की नई राह दिखाता है।

must read : RAKSHA BANDHAN : अब राखी में लगवाएं भाई का फोटो, मार्केट में भाई-बहन के लिए आए कुछ यूनीक गिफ्ट्स

यह बताता है कि आपको सिर्फ अपने लिए नहीं, बल्कि परिवार, समाज और देश के लिए भी आदर्श बनना है। सभी परेशानियों से लडक़र खुद को चैंपियन साबित करना है। लालवानी ने बच्चों से राष्ट्रध्वज, धारा 370 और देश की आजादी से जुड़े प्रश्न पूछे। उन्होंने बच्चों को कश्मीर के बारे में बताते हुए कहा, धारा 370 हटने से पहले वहां पर तिरंगे के साथ कश्मीर का अलग झंडा फहराया जाता था। अब वहां पर भी सिर्फ तिरंगा ही फहराया जाएगा।

indore

must read : RAKSHA BANDHAN : अब राखी में लगवाएं भाई का फोटो, मार्केट में भाई-बहन के लिए आए कुछ यूनीक गिफ्ट्स

नाम दुनिया में हर क्षेत्र में रोशन करे।

लक्ष्मीबाई, गांधी और सुभाष बनकर आए बच्चे: कार्यक्रम के दौरान बच्चे क्रांतिकारियों के गेटअप में पहुंचे। कोई लक्ष्मीबाई बनकर आया तो किसी ने महात्मा गांधी, सुभाषचंद्र बोस, तात्या टोपे का गेटअप किया। कुछ बच्चे सैनिकों की ड्रेस में पहुंचे और कुछ ने अपने गेटअप से देश के अलग-अलग राज्यों की संस्कृति और सभ्यता से परिचय कराया। अंत में इन बच्चों ने महान क्रांतिकारियों के जोशीले संवादों से सभी में जोश भर दिया।

must read : मां को मुखाग्नि देने के 4 घंटे बाद दिया पेपर, रिजल्ट आया और बन गया सिटी टॉपर, सच हुआ सपना

शिक्षा के साथ संस्कारों का मेल जरूरी : नायर

डीपीएस की प्रिंसिपल आशा नायर ने कहा, बेहतर शिक्षा के साथ संस्कारों का मेल बहुत जरूरी है। बच्चों में समाज, परिवार और देश के प्रति सम्मान और सौहाद्र्र का भाव होगा तो वे व्यक्तिगत जीवन में ऊंचाइयों को छुएंगे और देश के लिए भी अच्छे नागरिक साबित होंगे। आज देश हर क्षेत्र में तेजी से विकास कर रहा है। हमें ऐसे करोड़ों युवाओं की जरूरत है जो इस विकास को तेजी देंगे। कार्यक्रम का संचालन हेडमिस्ट्रेस वैशाली खरनाल ने किया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned