अब जल्द पता चल सकेगा आप प्लाज्मा दान कर सकते हैं या नहीं !

शहर में अब प्लाज्मा दान दाताओं के लिए ग्रीन कॉरिडोर बन रहा है.....

By: Ashtha Awasthi

Updated: 03 May 2021, 12:14 PM IST

इंदौर। शहर में कोरोना की दूसरी लहर का (Coronavirus) पीक आ जाने का कई शोधार्थी दावा कर रहे हैं। इसके साथ स्वस्थ होने की दर बढ़ी है, संक्रमण दर भी घट रही है और एक्टिव मरीजों की संख्या में भी गिरावट है। इन अच्छे संकेतों के साथ प्लाज्मा डोनेशन को बढ़ावा देने के लिए भी प्रयास शुरू कर दिए हैं। इसी ताकत से इंदौर जुटा रहा तो चंद दिनों में ही कोरोना को शहर से धकेल देंगे।


MUST READ: बच्चे रहते हैं दूर, मां-बाप की सेवा के लिए सामने आ रहे 108 एंबुलेंस के कर्मचारी

घर-घर जाकर निःशुल्क होगा टेस्ट

प्रशासन, रेडक्रॉस और ब्लड कॉल सेंटर मिलकर सोमवार से नया अभियान छेड़ रहे हैं। घर-घर जाकर निःशुल्क एंटीबॉडी टेस्ट किया जाएगा। 1 घंटे में टेस्ट रिपोर्ट देकर बता दिया जाएगा कि प्लाज्मा दान कर सकते हैं या नहीं। इससे इलाज में आसानी होगी। साथ ही प्लाज्मा दान दाताओं के लिए ग्रीन कॉरिडोर बन रहा है। इसी का परिणाम रहा कि तीन दिन में 12 लोग प्लाज्मा दान कर चुके हैं और दान के इच्छुक लोगों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है।

corona_new.jpg

तीन गाड़ियां घूमेगी

ब्लड कॉल सेंटर के अशोक नायक ने बताया कि प्रशासन की मदद से तीन गाड़ियां चलाई जाएंगी। इसके लिए कॉल सेंटर के फोन नंबर 8827223333 पर संपर्क किया जा सकता है।

MUST READ: कलेक्टर ने दिए आदेश, 10 मई की सुबह 6 बजे तक टोटल लॉकडाउन

पूरी सुरक्षा होगी

एमवायएच के ब्लड बैंक और ट्रांसफ्यूजन रेडिशन विभाग को ग्रीन कॉरिडोर के तौर पर सुरक्षित बनाया गया है। यहां सुरक्षित वातावरण में प्लाज्मा डोनेट किया जा सकता है। ब्लड बैंक फ्लोर के ऊपर तथा नीचे किसी तरह का कोई वार्ड नहीं है। ब्लड बैंक के आसपास मरीज का आवागमन नहीं होता है। इस हिसाब से ब्लड बैंक पूरी तरह सुरक्षित है। यहां सिर्फ लोग स्वैच्छिक रक्तदान या प्लाज्मा डोनेट करने पहुंचते हैं।

 

Corona positive
IMAGE CREDIT: Corona figure

प्रवेश द्वार भी अलग

ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन के विभागाध्यक्ष व ब्लड बैंक के डायरेक्टर डॉ. अशोक यादव ने बताया, यहां आने वालों के लिए प्रवेश द्वार मुख्य गेट से अलग दूसरी तरफ से है जो ब्लड बैंक में सीधे आता है। इससे यह पूर्ण सुरक्षित है।

एमजीएम मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. संजय दीक्षित कहते का कहना है कि इंदौर के सभी पात्र लामा डोनर अवश्य दान करें ताकि जरूरतमंदों कोवि मरीजों को शीघ्र स्वस्थ किया जा सके।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned