2.5 करोड़ कर्मचारियों की Jobs पर लटकी तलवार, कब आएगा Hotel और Hospitality Sector में सुधार

  • Hotel, Hospitality Sector में सुधार की संभावना नहीं, जा सकती है 2.5 करोड़ नौकरियां
  • Sector में Layoff की प्रक्रिया हुई शुरू, Salary में 20 से 50 फीसदी की तक होगी कटौती

By: Saurabh Sharma

Updated: 04 Aug 2020, 10:15 AM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी ( Coronavirus Pandemic ) के दौर में बुरी तरह प्रभावित होटल व हॉस्पिटैलिटी सेक्टर ( Hotel And Hospitality Sector ) को काफी नुकसान उठाना पड़ चुका है। हाल ही में देश की राजधानी दिल्ली के डिप्टी गवर्नर ने होटल और रेस्ट्रां खोलने के दिल्ली सरकार के फैसले को पलटते हुए बंद करने का आदेश भी दिया है। कमोबेश यही हाल पूरे देश है। ऐसे में होटल और हॉस्पिटैलिटी सेक्टर ( Job in Hotel And Hospitality Sector ) में करीब 75 फीसदी कर्मचारियों की नौकरियों पर तलवार लटकी हुई दिखाई दे रही है। यह संख्या होटलों के स्थाई कर्मचारियों की है, जबकि अस्थाई व ठेके पर काम करने वालों की छुट्टी तो पहले ही हो चुकी है। जानकारी के अनुसार छंटनी का प्रोसेस चल रहा है। जिनकी नौकरियां बची हैं, उनके वेतन से 20 से 50 फीसदी तक की कटौती देखने को मिल रही है।

5 करोड़ लोगों की नौकरियों पर संकट
होटल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के वाइस प्रेसीडेंट केबी कचरू के अनुसार स्थिति वास्तव में बेहद गंभीर है और इस सेक्टर में काम करने वाले करीब पांच करोड़ लोगों के सामने रोजगार का बड़ा संकट खड़ा हो गया है। उन्होंने स्वीकार किया कि अगले महीने-दो महीने में हालात में सुधार नहीं आया तो 60 फीसदी तक लोगों की नौकरियां जा सकती हैं। जानकारी के अनुसार 30-40 फीसदी तक छंटनी हो चुकी है। कारोबारी बताते हैं कि छंटनी में कुछ ऐसे भी कर्मचारी हैं, जिनको लीव विदाउट पे पर चले जाने को कहा गया है। वहीं, कारोबार की रिस्ट्रक्चरिंग की गई है।

यह भी पढ़ेंः- देश के 40 करोड़ लोग हो चुके हैं इस Bank Account के मुरीद, जानिए क्या है खासियत

जा सकती है 2.5 लोगों की नौकरी
आईटीसी के पूर्व सीईओ और उद्योग संगठन सीआईआई के टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी नेशनल कमेटी के सलाहकार दीपक हक्सर के अनुसार इस सेक्टर में काम करने वाले 2.5 करोड़ लोगों की नौकरियां जा सकती हैं। उन्होंने दिल्ली में होटल नहीं खुलने पर हैरानी जताते हुए कहा कि जब कोई सेक्टर बदहाली के दौर से गुजर रहा हो तो उसे पटरी पर लाने की कोशिश की जानी चाहिए और इस समय होटल व हॉस्पिटैलिटी सेक्टर को बचाने के लिए सबसे पहले उसे खोलने की जरूरत है, क्योंकि होटल खुलेंगे तभी वहां लोग आएंगे और वहां काम करने वालों की नौकरियां बची रहेंगी।

दिल्ली के सीएम और उप राज्यपाल को लिखा लेटर
हक्सर ने कहा कि इस संबंध में उन्होंने दिल्ली के उपराज्यपाल और मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 31 जुलाई को लिखे पत्र में उन्होंने होटल को हॉस्पिटल से डिलिंक करने के लिए आभार जताते हुए कहा है कि देश की राजधानी होने के कारण पर्यटन के संवर्धन में इसकी विशेष भूमिका है। यहां बिजनेस के सिलसिले में आने वाले यात्रियों के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल और ग्लोबल लीडर्स आते हैं। उन्होंने पत्र में उद्योग की विभिन्न मांगों के साथ-साथ मुख्यंत्री से होटल को खोलने की भी मांग की है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned