scriptBharat Band call by 8 crore businessmen in country tomorrow | देश के 8 करोड़ कारोबारी करेंगे भारत बंद, 1500 जगहों पर दिया जाएगा धरना | Patrika News

देश के 8 करोड़ कारोबारी करेंगे भारत बंद, 1500 जगहों पर दिया जाएगा धरना

  • जीएसटी के सरलीकरण की मांग को लेकर कैट ने किया भारत बंद का आह्वान
  • ऑल इंडिया ट्रांसपोटर्स वेलफेयर एसोसिएशन बंद किया समर्थन, करेंगे चक्काजाम

नई दिल्ली

Updated: February 25, 2021 03:24:46 pm

नई दिल्ली। भारत सरकार की जीएसटी व्यवस्था को सरल करने की मांग को लेकर कारोबारी संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स यानी कैट की ओर से 26 फरवरी यानी कल भारत बंद करने का ऐलान किया है। इस बंद में देश के 8 करोड़ कारोबारी भाग लेंगे। वहीं इस बंद करने का समर्थन करने के लिए ऑल इंडिया ट्रांसपोटर्स वेलफेयर एसोसिएशन का समर्थन आ गया है। वो देश में चक्का जाम करने का ऐलान कर दिया है।

Bharat Band call by 8 crore businessmen in country tomorrow
Bharat Band call by 8 crore businessmen in country tomorrow

यह भी पढ़ेंः- देश में हर साल 40 फीसदी फल और सब्जियां हो जाती हैं बर्बाद, अब निकाला यह तरीका

देश के 1500 जगहों पर धरना प्रदर्शन
संगठन के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल के अनुसार केंद्र सरकार, राज्य सरकारों और जीएसटी परिषद से माल एवं सेवा कर के कठिन नियमों को सरल करने की मांग कर रहे हैं। जिसकी वजह से 26 फरवरी को भारत बंद करने का ऐलान किया गया है। जिसके देश के 1500 स्थानों पर धरना प्रदर्शन भी किया जाएगा। देश के करीब 8 करोड़ कारोबारी इस प्रदर्श में भाग ले रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः- बड़ी खुशखबरी: पीएम मोदी के कहने पर देश के 11 करोड़ किसानों के खातों पर पहुंचे 10500 रुपए

14 घंटे तक ट्रांसपोर्टेशन रहेगा बाधित
देश के सभी राज्यों में राज्य स्तरीय-परिवहन संघों ने भारत सरकार द्वारा पेश किए गए नए ई-वे बिल कानूनों के विरोध में कैट का समर्थन करने का ऐलान किया है। ट्रांसपोर्ट के ऑफिसों को कल पूरी तरह से बंद करने का ऐलान किया गया है। किसी भी प्रकार की माल की बुकिंग, डिलीवरी, लदाई/उतराई बंद रहेगी। सभी परिवहन कंपनियों को विरोध के लिए सुबह 6 से शाम के 8 बजे के बीच अपने वाहन पार्क करने के लिए कहा गया है। ई वे बिल का नियम एक जनवरी से लागू हुआ है। जिसकी वजह से परिवहन और कारोबारी काफी परेशान है। सरकार की मानें तो ई वे बिल की समय सीमा की वैधता घटाई जाएगी।

यह भी पढ़ेंः- आखिर पीएम मोदी ने क्यों की थी पेट्रोल और डीजल पर आत्म निर्भर बनने की बात, यहां समझें पूरा गणित

इन संगठनों ने भी दिया समर्थन
ट्रांसपोर्ट सेक्टर के साथ राष्ट्रीय व्यापारिक संगठनों ने भी व्यापार बंद का समर्थन किया है जिसमें ऑल इंडिया एफएमसीज़ी डिस्ट्रिब्यूटर्स फेडरेशन, फेडेरेशन ऑफ अलूमिनियम यूटेंसिलस मैन्यूफैक्चरर्स एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन, नार्थ इंडिया स्पाईसिस ट्रेडर्स एसोसिएशन, ऑल इंडिया वूमेंन एंटेरप्रिनियर्स एसोसिएशन, ऑल इंडिया कम्प्यूटर डीलर एसोसिएशन, ऑल इंडिया कॉस्मेटिक मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशन आदि शामिल हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.