जेट एयरवेज के रिवाइवल की राह में रोड़ा बन रहा एतिहाद एयरवेज, बैंकों के सामने रखी ये तीन मांगें

जेट एयरवेज के रिवाइवल की राह में रोड़ा बन रहा एतिहाद एयरवेज, बैंकों के सामने रखी ये तीन मांगें

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Jun, 07 2019 04:17:00 PM (IST) इंडस्‍ट्री

  • नरेश गोयल से होने वाली पूछताछ का हिस्सा नहीं बनना चाहता एतिहाद एयरवेज।
  • जेट एयरवेज के पुराने स्लॉट्स वापस पाने के लिए भी रखी मांग।
  • लेंडर्स ने एतिाहद की मांगों पर नहीं दिया कोई रिस्पॉन्स।

नई दिल्ली। बीते अप्रैल माह में अस्थायी रूप से बंद हो चुकी जेट एयरवेज ( Jet Airways ) को रिवाइव करने में एतिहाद एयरवेज ( Etihad Airways ) ने एक बार फिर अड़चनें खड़ी कर दी हैं। एतिहाद एयरवेज ने जेट एयरवेज के रिवाइवल प्लान में मदद करने के लिए एसबीआई ( SBI ) की नेतृत्व वाली उधारकर्ताओं की कंसॉर्टियम के सामने प्रमुख तौर पर तीन मांगे रखी हैं।

GSP दर्जा छिनने से सब्सिडी से लेकर व्यापार घाटे तक पर पड़ेगा असर, अमरीका के लिए भी मुश्किलें

1. एतिहाद एयरवेज ने अपनी तरफ रखी गई प्रमुख मांगों में सबसे पहले यह कहा है कि उसे जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल ( naresh goyal ) से हाने वाले जांच से अलग रखा जाए। जेट एयरवेज ने कहा कि नरेश गोयल से संबंधित मामलों में हमसे पूछताछ न करें।

2. एतिहाद एयरवेज ने दूसरी मांग यह की है कि उसे डीजीसीए से इस बात की पुष्टि चाहिए कि जब जेट एयरवेज का संचालन शुरू हो जाएगा तब जेट एयरवेज को सभी स्लॉट्स वापस दे दिए जाएंगे। कंपनी ने बंद हो चुकी जेट एयरवेज में पूंजी लगाने से पहले यह शर्त रखी है। एतिहाद एयरवेज योजना बना रही है कि वो जेट के ट्रैक पर आने के बाद 45-50 नए एयरक्राफ्ट जोड़ेगी।

3. साथ ही इस खाड़ी विमान कंपनी ने तीसरी शर्त यह भी रखी है कि ऑपरेशनल क्रेडिटर्स 60-70 फीसदी हेयरकट का बोझ उठाएं।

एतिहाद एयरवेज के इस डिमांड को लेकर फिलहाल लेंडर्स ने अभी कुछ रिस्पॉन्स नहीं दिया है। अनुमान लगाया जा रहा है कि लेंडर्स 10 जून 2019 तक बिडिंग प्रक्रिया को पूरी कर लेंगे।

ILFS घोटाला: बड़े अधिकारियों ने देश की जनता को कराया इतने हजार करोड़ का नुकसान

रिवाइवल के बाद जेट एयरवेज को वापस मिलेंगे स्लॉट्स

आपको बता दें कि dgca ने जेट एयरवेज के बंद होने के बाद खाली स्लॉट्स को इंडिगो, स्पाइसजेट और विस्तारा में बांट दिया है। साथ ही DGCA ने कहा कि इन स्लॉट्स को तीन महीनों के लिए अस्थायी रूप से बांटा गया है। जेट एयरवेज के रिवाइवल के बाद इन स्लॉट्स को उसे फिर से वापस दे दिया जाएगा। जेट एयरवेज के कुल 700 स्लॉट्स में से 450 स्लॉट्स को इन तीन कंपनियों के बीच बांटा गया है। इनमें सबसे अधिक स्लॉट्स स्पाइसजेट को दिया गया है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned