15 लाख करोड़ का नुकसान झेल चुकी Indian tourism industry को मिल सकती है राहत, RBI ने दिए संकेत

  • corona ने 15 लाख करोड़ का झटका दिया पर्यटन उद्योग को
  • सरकार कर रही है टूरिज्म सेक्टर को मदद देने पर विचार
  • RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने दिये संकेत

By: Pragati Bajpai

Published: 27 Jul 2020, 06:20 PM IST

नई दिल्ली : इंडियन टूरिज्म इंडस्ट्री ( Tourism Industry ) को कोरोनावायरस ( Coronavirus ) की वजह से होने वाला नुकसान अब बढ़कर ₹15 लाख करोड़ हो गया है । इस बात की जानकारी भारत के संपूर्ण टूरिज्म ट्रैवल ( Tourism And Travel ) और हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के लिए काम करने वाले फेडरेशन ऑफ एसोसिएशन इन इंडियन टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी ( FAITH ) ने दी है । लेकिन इसी बीच भारी दबाव से जूझ रही टूरिज्म इंडस्ट्री के लिए आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ( Reserve Bank governor Shaktikant Das ) ने राहत के संकेत दिए हैं । शक्तिकांत दास के मुताबिक टूरिज्म सेक्टर देश के लिए नया सनराइज सेक्टर हो सकता है वहां सबसे ज्यादा रोजगार पैदा होंगे मुश्किल में गिरीश इंडस्ट्री की मदद के लिए सरकार चर्चा कर रही है ।

PPF में निवेश करने के 5 फायदे, जानेंगे तो इसी में करेंगे निवेश

शक्तिकांत दास ने यह बात सीआईआई काउंसिल ( CII Council ) में बोलते हुए कही आरबीआई गवर्नर ( RBI Governor ) के मुताबिक कोरोनावायरस इंडस्ट्री दबाव में है सत्य के लिए फंड सेट अप करने का सुझाव रखा गया है और सरकार मदद के लिए चर्चा कर रही है

इसके साथ ही गवर्नर ने यह भी कहा कि कोरोनावायरस की अर्थव्यवस्था मुश्किल दौर से गुजर रही है और कोरोना के खिलाफ सभी को मजबूती से लड़ने की जरूरत है ।इकोनामी पर बात करते हैं उन्होंने कहा कि बैंक और एनबीएफसी को कोविड-19 टेस्ट का सुझाव दिया गया है मौजूदा हालत में बैंक एनबीएफसी को क्रेडिट बढ़ाने को कहा गया है ।इसके साथ ही सरकार ने उन्हें हालात बिगड़ने से पहले कदम उठाने की बात भी कही है

अगर टूरिज्म इंडस्ट्री की बात करें तो फेस ने महामारी के कारण टूरिज्म सेक्टर में 500000 करोड रुपए का नुकसान होने का अनुमान मार्च 2020 में लगाया था । परिस्थितियां खराब होने के साथ ही संस्था में पिछली तिमाही में यह अनुमान बढ़ाकर 10 लाख करोड़ कर दिया था ।अब एक बार फिर से इसमें संशोधन कर आर्थिक नुकसान को 15 लाख करोड़ कर दिया गया है

हालांकि टूरिज्म सेक्टर ( Tourism Sector ) के बारे में बात करते हुए आरबीआई गवर्नर ने इस बात का खुलासा नहीं किया कि सेक्टर को कितनी राहत दी जाएगी लेकिन यह तय है कि सरकार इस दिशा में कदम उठाने पर विचार कर रही है

Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned