मुकेश अंबानी की Reliance Industries ने बनाया मास्टरप्लान, अब आपके नजदीकी किराना स्टोर्स की बदलेंगे सूरत

मुकेश अंबानी की Reliance Industries ने बनाया मास्टरप्लान, अब आपके नजदीकी किराना स्टोर्स की बदलेंगे सूरत

Ashutosh Kumar Verma | Updated: 13 May 2019, 09:06:47 AM (IST) इंडस्‍ट्री

  • साल 2023 तक ऑनलानइ रिटेल की संख्या को 15 हजार से बढ़ाकर 50 लाख करने की तैयारी।
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज तैयार कर रही ऑनलाइन-टू-ऑफलाइन प्लेटफॉर्म।
  • बेहद सस्ते में रिलायंस जियो किराना स्टोर्स पर उपलब्ध कराएगी एमपीओएस डिवाइस।

नई दिल्ली। रिलायंस जियो (Reliance Jio ) की शानदार कामयाबी के बाद मुकेश अंबानी ( Mukesh Ambani ) की रिलायंस इंडस्ट्रीज ( Reliance Industries ) अब ऑनलाइन खुदरा बाजार में भी कदम रखने जा रही है। इसके लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड अपने मौजूदा ऑनलाइन रिटेल की संख्या 15,000 से बढ़कार साल 2023 तक 50 लाख तक करने की योजना बना रही है। गत रविवार को बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ( Bank of America Merrill Lynch ) ने इसके बारे में जानकारी दी। 700 अरब डॉलर की भारतीय रिटेल मार्केट ( Indian Retail Market ) का करीब 90 फीसदी हिस्सा असंगठित है, जिनमें नजदीकी किराना स्टोर्स से सामाना बेचा जाता है। अब मुकेश अंबानी इस तस्वीर को भी पूरी तरह से बदलने की तैयारी में है।

यह भी पढ़ें - कांग्रेस ने दो Tweet पर खर्च कर डाले 8.6 लाख रुपए, जानिए Twitter की जंग में कौन है किस पर भारी

जीएसटी लागू होने के बाद अब मिल सकेगा फायदा

स्टडी में कहा गया कि यह आधुनिक व्यापार एवं ई-कॉमर्स की बढ़ती प्रतिस्पर्धा के कारण है। जीएसटी क्रियान्वयन ने भी उत्प्रेरक का काम किया है जिससे आधुनिकीकरण का दबाव बढ़ा है। स्टडी में कहा गया, "यह सबकुछ मॉडर्न ट्रेड, ई-कॉमर्स और बढ़ते तकनीकी विकास के बीच हो रहा है। साथ में जीएसटी लागू होने से भी इस जान मिली है। जीएसटी के बाद किराना स्टोर्स भी जीएसटी बिल को लेकर तकनीक की मदद ले रहे हैं।" पूरे भारत में कुल 10 हजार से भी अधिक रिलायंस रिटले आउटलेट के साथ रिलायंस अब ऑनलाइन-टू-ऑफलाइन ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म को तेजी से बढ़ाने में जुटी हुई है।

यह भी पढ़ें - जानिए साल 2004 से लेकर 2018 तक चुनावी चंदे का हाल, कौन सी पार्टी हुई मालामाल और कौन हुआ कंगाल

बेहद सस्ते में जियो उपलब्ध कराएगी एमपीओएस डिवाइस

रिलायंस जियो अब जियो MPoS (मोबाइल प्वाइंट ऑफ सेल) डिवाइस को किराना स्टोर्स पर इंस्टॉल करने की योजना बना रही है ताकि, नजदीकी स्टोर्स को हाई-स्पीड 4जी नेट कनेक्शन मिल सके। इसके बाद स्नैपबिज, नुक्कड़शॉप जैसी कंपनियों के लिए चुनौती खड़ी हो सकती है। जियो की यह डिवाइस केवल 3,000 रुपए में उपलब्ध होगी, वहीं स्नैपबिज इस मशीन को 50,000 रुपए में ऑफर करती है। नुक्कड़शॉप इसके लिए एक बार में 30-50 हजार रुपए चार्ज करती है।

यह भी पढ़ें - सबसे खराब IPO की लिस्ट में शामिल हुई UBER, एक दिन में ही निवेशकों के डूबे 4580 करोड़ रुपए

डिजिटल हो सकेंगे किराना स्टोर्स

रिपोर्ट में कहा गया है कि जियो एमपीओएस इसके लिए कोई मर्चेंट डिस्काउंट रेट देने के बजाए लॉयल्ट प्रोग्राम का सहारा लेगी। रिपोर्ट में आगे कहा गया है, 'हमारा मानना है कि रिलायंस के आने से दुकानदारों द्वारा डिजिटलीकरण अपनाए जाने को गति मिलेगी क्योंकि प्वाइंट ऑफ सेल मशीनों की लागत काफी कम हो जाएगी। कुल मिलाकर हमें उम्मीद है कि रिलायंस अभी के 15 हजार डिजिटल स्टोर की संख्या 2023 तक बढ़ाकर 50 लाख के पार कर देगी।'

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned