जेवर एयरपोर्ट से निखरेगा प्रॉपर्टी बाजार, निवेश पर मिलेगा शानदार रिटर्न

  • जेवर में बनेगा दुनियां का पांचवां सबसे बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट
  • गौतमबुद्घनगर के आसपास के प्रॉपर्टी बाजार को होगा बड़ा फायदा
  • गुरुग्राम के मुकाबले नई ऊंचाई पर पहुंचेगीं जीबीएन की प्रॉपर्टी

By: Saurabh Sharma

Updated: 07 Mar 2020, 01:40 PM IST

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर के बड़े प्रॉपर्टी मार्केट में शामिल गुरुग्राम और नोएडा के बीच लंबे समय से प्रतिस्पर्धा रही है। लेकिन,ज्यादातर मौके पर गुड़गांव का पलड़ा भारी रहा। इसकी वजह यह रही कि बड़ी कंपिनयों ने हमेशा ऑफिस खोलने के लिए गुरुग्राम को तवज्जो दी क्योंकि वहां से इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (आईजीआई) काफी नजदीक है। लेकिन,अब जल्द ही तस्वीर बदलने वाली है। दुनियां का पांचवां सबसे बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर (यमुना एक्सप्रेस-वे) में बन रहा है। इससे आने वाले दिनों में नोएडा, ग्रेटर नोएडा, नोएडा एक्सप्रेस वे और यमुना एक्सप्रेसवे के आसपास के प्रॉपर्टी बाजार को बड़ा ही फायदा मिलना तय है। गुरुग्राम के मुकाबले प्रॉपर्टी की कम कीमत भी इसे पूरे बाजार को नई ऊंचाई पहुंचाने का काम करेगा।

एनसीआर का हॉट प्रॉपर्टी मार्केट बनेगा
अंतरिक्ष इंडिया ग्रुप के सीएमडी राकेश यादव ने बताया कि नोएडा, ग्रेटर नोएडा और युमना एक्सप्रेसवे का इंफ्रा स्ट्रक्चर गुरुग्राम के मुकाबले पहले से ही काफी बेहतर है। इसके बावजूद सरकार इसको और बेहतर बनाने के लिए जोर लगा रही है। हाल ही में नोएडा आए मुख्यमंत्री योगीआदित्यनाथ ने कहा कि जेवर एयरपोर्ट केनिर्माण के बाद दुनिया का सबसे खूबसूरतऔर सबसे विकसित क्षेत्र होगा। यहां परसबसे अधिक रोजगार भी होंगे। मैं उनकी बातों से सहमत हूं। नोएडा से दिल्ली एयरपोर्ट की दूरी अधिक होने की वजह सेबड़ी कंपनियां यहां का रुख अभी तक नहीं कर रहीं थी। लेकिन अब नयाएयरपोर्ट बनने से निश्चित तौर पर कंपनियांइस क्षेत्र का रुख करेंगी क्योंकि अभी यहांप्रॉपर्टी की कीमतें कम हैं। इससे घरों कीडिमांड में भी इजाफा होगा। यह पूरा एरिया एनसीआर ही नहीं बल्कि देश के अंदर सबसे हॉट प्रॉपर्टी मार्केट बन सकता है।

बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा
पिछले काफी समय से नोएडा, ग्रेटर नोएडा या नोएडा एक्सप्रेस-वे के प्रॉपर्टी बाजार में बड़ा बदलाव नहीं आया है। लेकिन अब इसमें आपको बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। नया एयरपोर्ट इस इलाके की सूरत पूरी तरह बदल देगा। आने वाले दिनों में मेट्रो से भी एयरपोर्ट को जोड़ा जाएगा। नए होटल भी खुलेंगे। कुछसाल पहले बेंगलुरु में भी इसी तरह कीतब्दीली देखने को मिली थी। शुरुआत मेंलोगों का कहना था कि नया एयरपोर्टशहर से 20 किलोमीटर दूर है। आज एयरपोर्ट की वजह से इस इलाके में काफीडिवेलपमेंट हुआ है। कुछ वैसी ही तस्वरी आपको इन क्षेत्रों में देखने को मिलेगा।

निवेशकों को दोहरा फायदा मिलेगा
जेवर में एयरपोर्ट का काम शुरू होने के बाद मेट्रो का भी काम जल्द शुरू होने वाला है। यह निवेशकों को दोहरा फायदा कराने का काम करेगा क्योंकि निवेशक ऐसे ही इलाके में निवेश करने की इच्छा रखते हैं, जहां से न सिर्फ उन्हें फायदामिले, बल्कि लोगों की आवाजाही भी होती रहे। जेवर एयरपोर्ट बनने ये यह पूरा एरिया बड़े कमर्शियल हब बनेगा। एयरपोर्ट बनने के मद्देनजर रियल एस्टेट डिवेलपर्स ने इलाके के आसपास भारी निवेश किया है। हालांकि प्रॉपर्टी मार्केट में सुस्ती होने से प्रॉपर्टी की कीमतें स्थिर हैं। ऐसे में निवेशकों के पास बेहतरीन मौका है। वह कम बजट में अच्छी प्रॉपर्टी में निवेश कर मोटी कमाई कर सकते हैं। नोएडा एक्सप्रेस-वे के आसपास सेक्टर 150 में अंतरिक्ष इंडिया का प्रोजेक्ट एक बेहतरीन निवेश विकल्प है।

सरकार की प्राथमिकता में शामिल
नोएडा से लेकर यमुना एक्सप्रेस-वे के प्रॉपर्टी बाजार को नई ऊंचाई मिलना अब सुनिश्चत है क्योंकि मौजूदा सरकार की प्राथमिकता सूची में यह पूरा क्षेत्र शामिल हो गया है। शहर की कानून व्यवस्था हो या इंफ्रा का काम सरकार का पूरा जोर इसे बेहतर बनाने पर है। इससे आम निवेशकों के साथ बड़े कंपनियों में सुरक्षा की भावना बढ़ी है। जब भरोसा बढ़ता है तो वह निवेश में तब्दील होता है। इसमें कोई शक नहीं है कि आने वाले दिनों में इसका लाभ प्रॉपर्टी बाजार को नहीं मिलेगा। इसलिए, मेरा मानना है कि निवेश के लिए यह सबसे माकूल समय है। इस अवसर का लाभी उठाकर आप घर या दुकान की डील कम बजट में पा सकते हैं।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned