स्टार अलायंस ने कहा- जेट एयरवेज के बंद होने के कम हो रही भारतीय बाजार में अवसर

स्टार अलायंस ने कहा- जेट एयरवेज के बंद होने के कम हो रही भारतीय बाजार में अवसर

Ashutosh Kumar Verma | Updated: 02 Jun 2019, 06:46:21 PM (IST) इंडस्‍ट्री

  • जेफ्री गोह ने कहा है कि जेट एयरवेज का परिचालन 'ठप' होने के बाद भारतीय विमानन बाजार में अवसर कम हो रहे हैं।
  • स्टार अलायंस में 28 एयरलाइंस सदस्य हैं।
  • स्पाइसजेट की योजना पायलट और चालक दल के सदस्यों सहित कुल 2,000 स्पाइसजेट कर्मियों को नौकरी देने की है।

नई दिल्ली। स्टार अलायंस ( Star Alliance ) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जेफ्री गोह ने कहा है कि जेट एयरवेज ( Jet Airways ) का परिचालन 'ठप' होने के बाद भारतीय विमानन बाजार में अवसर कम हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत एक बड़ा विमानन बाजार है और एअर इंडिया हमारे सदस्यों को एक महत्वपूर्ण घरेलू नेटवर्क उपलब्ध कराती है लेकिन जेट का परिचालन 'बंद' होने की वजह से अवसर कम हुए हैं।


जेट एयरवेज के बंद होने के बाद भारतीय बाजार में तेजी से बदल रहीं चीजें

स्टार अलायंस में 28 एयरलाइंस सदस्य हैं, जिनमें एअर इंडिया भी शामिल हैं। एअर इंडिया जुलाई, 2014 में समूह की सदस्य बनी। गोह ने कहा कि भारतीय उपमहाद्धीप में एअर इंडिया अलायंस के लिए काफी महत्वपूर्ण है। यह उसके सदस्यों को जोडऩे के लिए महत्वपूर्ण घरेलू नेटवर्क उपलब्ध कराती है। उन्होंने कहा, ''भारतीय बाजार काफी बड़ा बाजार है जो तेजी से बढ़ रहा है। यदि जेट एयरवेज के संदर्भ में देखा जाए तो भारतीय बाजार में चीजें तेजी से बदल रही हैं।" पूर्ण सेवा प्रदाता जेट एयरवेज ने अप्रैल में नकदी संकट की वजह से अपना परिचालन अस्थायी रूप से बंद कर दिया है।

मोदी 2.0 को चाहिए RBI का साथ, ब्याज दरें घटाने से ही नहीं बनेगी बात

spiceJet

2,000 कर्मियों को नौकरी देगी स्पाइसजेट

स्पाइसजेट ( Spice Jet ) की योजना पायलट और चालक दल के सदस्यों सहित कुल 2,000 स्पाइसजेट कर्मियों को नौकरी देने की है। इस समय जेट एयरवेज का परिचालन अस्थायी रूप से बंद है जबकि बजट विमानन कंपनी स्पाइसजेट अपने परिचालन का विस्तार कर रही है। एयरलाइन पहले ही कम से कम जेट एयरवेज द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले 22 विमानों को अपने बेड़े में शामिल कर चुकी है। नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज ने अप्रैल में अपना परिचालन अस्थायी रूप से बंद कर दिया था।

स्पाइसजेट के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने कहा, "हमने उल्लेखनीय रूप से जेट एयरवेज के लोगों को अपने साथ जोड़ा है। वे काफी योग्य और पेशेवर हैं। हम आगे भी जेट एयरवेज के लोगों को नौकरी देना जारी रखेंगे।" सिंह ने कहा, ''हमने जेट एयरवेज के 1,100 कर्मचारियों को अपने साथ जोड़ा है। उम्मीद है कि यह आंकड़ा 2,000 पर जाएगा। इनमें पायलट, चालक दल सदस्य और हवाई अड्डा सेवाओं, सुरक्षा से जुड़े लोग हैं।"

यह भी पढ़ें - एक होंगी भारती इंफ्राटेल और इंडस टावर्स, एनसीएलटी से मिली मंजूरी

100 से अधिक विमानों की मालिक है स्पाइसजेट

फिलहाल स्पाइसजेट के कर्मचारियों की संख्या 14,000 है और उसके बेड़े में 100 विमान हैं। एअर इंडिया, और इंडिगो के बाद यह चौथी एयरलाइन है जिसके पास 100 विमान हैं। उन्होंने कहा कि स्पाइसजेट के पास बोइंग 737, बॉम्बार्डियर क्यू 400 और बी 737 फ्राइटर विमान हैं। एयरलाइन 62 गंतव्यों के लिए 575 दैनिक उड़ानों का परिचालन करती है। इनमें नौ अंतरराष्ट्रीय गंतव्य हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या स्पाइसजेट बड़े आकार के विमानों के परिचालन पर ध्यान केंद्रित करेगी, सिंह ने कहा कि अभी हमारा ध्यान छोटे आकार के विमानों पर है। जेट एयरवेज बड़े आकार के विमानों से परिचालन करती रही है।

 

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned