भारत में 59 Chineses app ban होने से हजारों लोग बेरोजगार, पढ़ें पूरी खबर

  • भारत सरकार के फैसले से 12000 लोग बेरोजगार ( 12000 people unemployed )
  • बैन हुए ऐप्स ( chinese apps ban ) के साथ करते थे काम

By: Pragati Bajpai

Published: 30 Jun 2020, 11:42 AM IST

नई दिल्ली: सोमवार को भारत सरकार ने 59 चायनीज ऐप्स को भारत में बैन ( 59 chinese apps banned in india ) कर दिया है। सरकार के इस फैसले के बाद इन ऐप्स के साथ काम करने वाले हजारों लोग अपनी नौकरी गंवाने वाले हैं। अनुमान है कि इन ऐप्स के साथ कुछ 12 हजार लोग काम करते हैं

कितने लोग करते हैं काम- बैन किये गए 59 ऐप्स में से कुछ ऐप्स में 10-12 लोग काम करते हैं जबकि कुछ ऐप्स में 400-500 लोग काम करते हैं ऐसे में इन सभी लोगों की नौकरी पर तलवार ( more than 10000 people will be unemployed ) लटक रही है। इस तरह से देखा जाए तो सरकार के इस फैसले से लगभग 10-12 हजार लोगों के बेरोजगार होने की बात कही जा रही है।

यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि सरकार के एक्सपर्ट्स सरकार के इस फैसले को चायनीज प्रोडक्ट के बॉयकाट ( boycott chinese product ) से ज्यादा असरदार बता रहे हैं। आपको बता दें कि सरकार को सुरक्षा एजेंसी इन ऐप्स को बंद करने के लिए पहले ही सलाह दे चुकी थी और सरकार ने इन्हें देश की संप्रभुता और सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए इन ऐप्स को देश में बैन करने का ऐलान किया है।

बेहद पॉपुलर है ये ऐप्स -सरकार ने जिन ऐप्स को बैन किया है उसमें टिकटॉक (TikTok Apps), शेयरइट, यूसी ब्राउजर (UC Browser), हेलो, बिगो लाइव, सेल्फीसिटी, मेल मास्टर, पैरेलल स्पेस, Mi Video Call -Xiaomi, और WeSync जैसे ऐप्स शामिल हैं। और ये ऐप्स भारत में काफी पॉपुलर है ।

Digital Strike : सरकार ने बैन किये Tik Tok और UC Browser जैसे 59 Apps, चीन करता था मोटी कमाई

बड़ा झटका है चायनीज ऐप्स का बंद होना-

आपको बता दें कि चायनीज सामान के बॉयकाट से कहीं ज्यादा नुकसान चीनी अर्थव्यवस्था को इन ऐप्स के बैन होने से होगा। APP Economy की बात करें तो भारत के लगभग 800 मिलियन यूजर्स इन ऐप्स का इस्तेमाल करते थे

सभी ने किया सरकार के फैसले का स्वागत- सरकार के इस फैसले का पूरे देश ने एक साथ समर्थन किया है । कन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ( CAIT ) ने भी सरकार के इस निर्णय का स्वागत किया है। CAIT ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी इस साहसिक निर्णय के लिए बधाई के पात्र हैं। देश के 7 करोड़ व्यापारी सरकार का पुरजोर समर्थन करते हैं

Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned